; केजरीवाल सरकार के दिल्ली बाजार’ पोर्टल से दो लाख महिला उद्यमियों को जोड़ने का लक्ष्य - Namami Bharat
1win1.az luckyjet.ar mines-games.com mostbet-casino-uz.com bible-spbda.info роскультцентр.рф
केजरीवाल सरकार के दिल्ली बाजार’ पोर्टल से दो लाख महिला उद्यमियों को जोड़ने का लक्ष्य

*- डीडीसी ने दिल्ली के विभिन्न क्षेत्रों की महिला उद्यमियों के साथ बैठक की, ताकि उन्हें ‘दिल्ली बाजार’ वेब पोर्टल से जोड़ा जा सके*

*- मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ‘दिल्ली बाजार’ विजन का महिला उद्यमी अभिन्न अंग हैं, इसको साकार करने के लिए‌ सरकार दिल्ली में 2 लाख महिला उद्यमियों को सहायता प्रदान करेगी और उन्हें पोर्टल से जोड़ेगी, ताकि वे बड़े बाजारों तक पहुंच सकें और अपने व्यवसाय को बढ़ा सकें- जस्मिन शाह*

*- आभूषण, परिधान उद्योग, फैशन डिजाइनरों, बुटीक, सैलून मालिक, मेकअप आदि महिला व्यापारिक संगठनों से जुड़ीं उद्यमियों और प्रतिनिधियों ने बैठक में भाग लिया और आगामी पोर्टल में महिलाओं द्वारा संचालित व्यवसायों की भूमिका पर चर्चा की*

*- दस हजार महिला उद्यमियों को संगठित और प्रशिक्षित करेंगे, यह सुनिश्चित करेंगे कि वे ‘दिल्ली बाजार’ वेब पोर्टल से जुड़ें- मालविका साहनी*

दिल्ली सरकार के थिंक टैंक डायलॉग एंड डेवलपमेंट कमीशन ऑफ दिल्ली (डीडीसी) ने ‘दिल्ली बाजार’ वेब पोर्टल से महिला उद्यमियों को जोड़ने के लिए बैठक की। इस दौरान दिल्ली की महिला उद्यमियों ने केजरीवाल सरकार के फैसले का स्वागत किया और आगामी पोर्टल के लिए कई व्यावहारिक जानकारी दी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पिछले दिनों घोषणा की कि दिल्ली का अपना ई-मार्केट प्लेस ‘दिल्ली बाज़ार’ पोर्टल होगा। जहां हर छोटे और बड़े दुकानदार का एक वर्चुअल स्टोर होगा। जिसके जरिए अपने सामान को दुनिया भर में ऑनलाइन बेच सकेंगे। इसके जरिए यह सुनिश्चित करने का प्रयास किया जाएगा कि वेब पोर्टल में खरीदारों के साथ-साथ विक्रेताओं को भी सकारात्मक परिणाम मिले।

इसमें आभूषण, परिधान उद्योग, फैशन डिजाइनरों, बुटीक और सैलून, मेकअप आदि महिला व्यापारिक संगठनों से जुड़ीं महिला उद्यमियों-प्रतिनिधियों ने बैठक में भाग लिया। आगामी पोर्टल में महिलाओं द्वारा संचालित व्यवसायों की भूमिका पर चर्चा की। उन्होंने जल्द आने वाले ‘दिल्ली बाजार’ पोर्टल में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए कई व्यावहारिक सुझाव दिए। इ‌स दौरान महिलाओं के बाजार संघों ने अपने सदस्यों को ऑनलाइन व्यवसाय चलाने के लिए कैटलॉगिंग, लेनदेन, शिपिंग, धन वापसी आदि के लिए प्रशिक्षित करने की भूमिका पर चर्चा की।

इस बैठक की अध्यक्षता करते हुए डीडीसी के उपाध्यक्ष जस्मिन शाह ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ‘दिल्ली बाजार’ विजन का महिला उद्यमी अभिन्न अंग हैं। इसका उद्देश्य दिल्ली के सभी प्रकार के व्यापारियों और दुकानदारों के लिए एक समान अवसर प्रदान करना है। इसको साकार करने के लिए‌ दिल्ली सरकार दिल्ली में 2 लाख महिला उद्यमियों को सहायता प्रदान करेगी और उन्हें पोर्टल से जोड़ेगी। ताकि वे बड़े बाजारों तक पहुंच सकें और अपने व्यवसाय को बढ़ा सकें।

सैलून ओनर वेलफेयर एसोसिएशन की उपाध्यक्ष मीनाक्षी दत्त ने कहा कि इस अद्भुत ‘दिल्ली बाजार’ वेब पोर्टल का स्वागत करते हैं। हमें उम्मीद है कि दिल्ली की सभी महिला उद्यमी इस पहल का लाभ लेंगी। पोर्टल से जुड़ने से दिल्ली के सौंदर्य उद्योग को बढ़ने में मदद मिलेगी। हमें उम्मीद है कि सभी सैलून मालिक और मेकअप कर्मी सरकार के साथ जुड़कर काम करेंगे।

न्यूट्रिशनिस्ट एंड डाइटिशियन एसोसिएशन की अध्यक्ष शिखा शर्मा ने इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार छोटे महिला व्यापारियों के व्यवसायों के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार हमारे मुद्दों की पहचान करने और ‘दिल्ली बाजार’ परियोजना में हमें भागीदार बनाने की दिशा में काम करने वाली पहली सरकार है। हमारे क्षेत्र की महिला उद्यमी दिल्ली सरकार के प्रयासों का स्वागत करती हैं और उन्हें सहयोग का आश्वासन देते हैं।

चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (सीटीआई) की महिला परिषद की अध्यक्ष मालविका साहनी ने कहा कि दिल्ली सरकार के साथ काम करने से महिला उद्यमियों को तकनीकी और वित्तीय चुनौतियों से उबरने में मदद मिलेगी। यह अभी तक ऑनलाइन ग्राहकों तक पहुंचने में सबसे बड़ी बाधा है। उन्होंने कहा कि हम परिषद से जुड़ी दस हजार महिला उद्यमियों को संगठित और प्रशिक्षित करेंगे और सुनिश्चित करेंगे कि वे ‘दिल्ली बाजार’ वेब पोर्टल से जुड़ें।

चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (सीटीआई) की महिला परिषद की संस्थापक बृजेश गोयल ने कहा कि महिला उद्यमियों को जुटाने और उन्हें इस परियोजना का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बनाने के लिए दिल्ली सरकार के प्रयास अभूतपूर्व हैं। इससे दिल्ली सरकार को उनके साथ समन्वय स्थापित करने में मदद मिलेगी।

News Reporter
पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना करियर बनाने वाली निकिता सिंह मूल रूप से उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ से ताल्लुक रखती हैं पिछले कुछ सालों से परिवार के साथ रांची में रह रहीं हैं और अब देश की राजधानी दिल्ली में अपनी सेवा दे रहीं हैं। नेशनल ब्रॉडकास्टिंग अकादमी से पत्रकारिता में स्नातक करने के बाद निकिता ने काफी समय तक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के न्यूज़ पोर्टल्स में काम किया। उन्होंने अपने कैरियर में रिपोर्टिंग से लेकर एंकरिंग के साथ-साथ वॉइस ओवर में भी तजुर्बा हासिल किया। वर्त्तमान में नमामि भारत वेब चैनल में कार्यरत हैं। बदलती देश कि राजनीती, प्रशासन और अर्थव्यवस्था में निकिता की विशेष रुचि रही है इसीलिए पत्रकारिता की शुरुआत से ही आम जन मानस को प्रभावित करने वाली खबरों पर पैनी नज़र रखती आ रही हैं। बेबाकी से लिखने के साथ-साथ खाने पीने का अच्छा शौक है। लोकतंत्र के चौथे स्तंभ में योगदान जारी है।
error: Content is protected !!