हाईस्कूल एवं इण्टर की परिषदीय परीक्षा को लेकर जिलाधिकारी ने दिये निर्देश

संतोष नेगी/ उत्तराखण्ड परिषदीय परीक्षाएं आगामी 02 मार्च से शुरू होंगी। परिषदीय परीक्षाओं को नकल विहीन एवं शांतिपूर्ण ढंग से सपंन्न कराने को लेकर जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने गुरूवार को राइका गोपेश्वर में सभी जोनल मजिस्ट्रेट, सैक्टर मजिस्ट्रेट, केन्द्र व्यवस्थापक एवं प्रधानाचार्यो की बैठक लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस वर्ष जनपद से 14621 परीक्षार्थी हाईस्कूल एवं इण्टर मीडिएट की परिषदीय परीक्षा में शामिल होंगे।
जिलाधिकारी ने बोर्ड परीक्षा के लिए नियुक्त अधिकारियों को बिना किसी भय एवं प्रलोभन के पूरी कत्र्तव्यनिष्ठा के साथ और बोर्ड के दिशा-निर्देशानुसार परीक्षाएं संपादित कराने को कहा। उन्होंने कहा कि संवेदनशील परीक्षा केन्द्रों सहित अन्य परीक्षा केन्द्रों पर भी आवश्यक सुरक्षा बल तैनात किया जाएगा। परीक्षा केन्द्रों पर किसी भी समस्या के समाधान तथा आवश्यक सहयोग उपलब्ध कराने हेतु जिले में परीक्षा कन्ट्रोल रूम बनाया गया है, जो परीक्षा अवधि के दौरान 24 घण्टे खुला रहेगा। उन्होंने केन्द्र व्यवस्थापकों को प्रश्नपत्रों की सुरक्षा के लिए कार्मिकों की तैनाती सुनिश्चित करने, परीक्षा केन्द्रों पर बिजली, पानी एवं परीक्षार्थियों के बैठने आदि सभी मूलभूत सुविधाएं तत्काल सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
जिला शिक्षा अधिकारी आशुतोष भण्डारी ने बताया कि परिषदीय परीक्षाओं के लिए 111 परीक्षा केन्द्र बनाये गए है। इस वर्ष जोशीमठ ब्लाक में पैनखण्डा जनता इंटर काॅलेज, सलूड डूंग्रा नया परीक्षा केन्द्र बनाया गया है। दूरस्थ क्षेत्रों के 26 परीक्षा केन्द्रों को संवेदनशील श्रेणी में रखा गया है। इस वर्ष परिषदीय परीक्षा में संस्थागत व व्यक्तिगत परीक्षार्थियों मिलाकर 14621 छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगे। हाईस्कूल परीक्षा में 4218 संस्थागत व 189 व्यक्गित छात्र तथा 3762 संस्थागत व 61 व्यक्तिगत छात्राओं सहित कुल 8230 परीक्षार्थी तथा इण्टरमीडिएट परीक्षा में 2816 संस्थागत व 120 व्यक्तिगत छात्र तथा 3361 संस्थागत व 94 व्यक्तिगत छात्राओं सहित कुल 6391 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होंगे।
जिला शिक्षा अधिकारी ने कहा कि 02 से 25 मार्च तक इण्टरमीडिएट तथा 03 से 25 मार्च तक हाईस्कूल परीक्षाऐं संपन्न कराई जाएंगी। विकासखण्ड कर्णप्रयाग, पोखरी व गैरसैंण विद्यालयों की उत्तर पुस्तिका के लिए राइका कर्णप्रयाग मुख्य संकलन केन्द्र बनाया गया है। जबकि दशोली, घाट व जोशीमठ के लिए राइका गोपेश्वर तथा विकासखण्ड थराली, नारायणबगड व देवाल के लिए राइका थराली को उप संकलन केन्द्र बनाया गया है। परीक्षा केन्द्रों में प्रश्न पत्र डबल लाॅक में सुरक्षित रखने की सम्पूर्ण जिम्मेदारी संबधित केन्द्र व्यवस्थापकों एवं कस्टोडियनों को दी गई है।
इस अवसर पर डीईओ माध्यमिक आशुतोष भण्डारी, बीईओ दर्शन लाल टम्टा सहित सभी जोनल व सैक्टर, खण्ड शिक्षा अधिकारी एवं केन्द्र व्यवस्थापक उपस्थित थे।

Leave a Reply