इन राज्यों में पूरे दमखम के साथ लोकसभा चुनाव में उतरेगी आम आदमी पार्टी

नई दिल्ली, 29 दिसंबर। शनिवार को मुख्यमंत्री आवास पर आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक हुई। बैठक में लगभग 20 राज्यों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। बैठक में विभिन्न राज्यों के प्रदेश संयोजक, संगठन पदाधिकारी और आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद, दिल्ली  सरकार के मंत्री, विधायक  और निगम पार्षद भी शामिल हुए। मुख्यमंत्री आवास पर हुई एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए दिल्ली के प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने कहा जैसा कि कल मुख्यमंत्री आवास पर राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई थी और उसमें आज होने वाली राष्ट्रीय परिषद की बैठक के लिए कुछ महत्वपूर्ण बातों पर चर्चा होना तय हुआ था, जिन पर आज राष्ट्रीय परिषद की बैठक में चर्चा हुई।

बैठक में आने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर तय हुआ कि आम आदमी पार्टी नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जो तानाशाही है, उसे इस देश से खत्म करने के राष्ट्रीय धर्म को निभाने के लिए अपने हिस्से के दायित्व का निर्वहन करेगी। इसके लिए कल राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में जो तीन महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा हुई थी आज राष्ट्रीय परिषद ने भी उस पर मोहर लगा दी है। आने वाले लोकसभा चुनाव में दिल्ली पंजाब हरियाणा गोवा और चंडीगढ़ में आम आदमी पार्टी अपने प्रत्याशी पूरे दमखम के साथ चुनावी दंगल में उतारेगी। इसके अलावा अलग-अलग राज्यों की राज्य समितियों को जिम्मेदारी दी गई है कि वे अपने राज्य की संगठन की स्थिति की पूरी जानकारी की एक रिपोर्ट तैयार करके पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी को देंगे और पॉलीटिकल अफेयर्स कमेटी उस पर निर्णय करेगी कि वहां पर चुनाव लड़ा जाए या नहीं।

गोपाल राय ने कहा कि राज्य परिषद की बैठक में कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं पर आज चर्चा हुई और इन्हीं महत्वपूर्ण बिंदुओं को लेकर आम आदमी पार्टी आने वाले लोकसभा चुनाव में उतरेगी। जो निम्न प्रकार से है….

1- नरेंद्र मोदी जी ने सत्ता में आने से पहले वादा किया था कि किसानों का सारा ऋण माफ किया जाएगा, उन्हें उनकी फसल का सही दाम दिया जाएगा। परंतु सत्ता में आने के बाद मोदी जी अपना यह वादा भूल गए। परिषद ने तय किया है कि भाजपा सरकार से किसानों का हक देने की मांग करेगी।

2- सत्ता में आने से पहले नरेंद्र मोदी जी ने नारा दिया था बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ लेकिन महिला सुरक्षा में भाजपा पूरी करा से नाकाम साबित हुई। महिलाओं को सुरक्षा देना तो दूर की बात उल्टा भाजपा के नेता विधायक ही महिलाओं के बलात्कार के केस में पकड़े गए, और पूरी भाजपा को बचाती हुई नजर आई।आप राष्ट्रीय परिषद भाजपा से महिला सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम की मांग करेगी।

3- सत्ता में आने से पहले नरेंद्र मोदी जी ने नारा दिया था ना खाऊंगा ना खाने दूंगा। परंतु राफेल घोटाले ने यहां भी भाजपा की पोल खोल कर रख दी। राष्ट्रीय परिषद ने भारतीय जनता पार्टी के सम्मुख राफेल से संबंधित तीन मांग रखी।
(a)-राफेल की कीमत में बढ़ोतरी क्यों की गई?
(b)- 78 साल पुरानी कंपनी को छोड़कर 12 दिन पुरानी रिलायंस की कंपनी को ठेका को दिया गया?
(c)भाजपा सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में झूटा एफिडेविट क्यों दाखिल किया?

दिल्ली में शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के संबंध में जो दिल्ली सरकार में अद्भुत काम किए हैं उसको लेकर एक वीडियो तैयार किया गया है। राष्ट्रीय परिषद की बैठक में यह तय हुआ है कि सभी राज्यों में यह वीडियो लोगों को दिखाया जाएगा। क्योंकि आम आदमी पार्टी का मानना है कि किसी भी देश का विकास तभी हो सकता है जब वहां की शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार संबंधी व्यवस्थाएं मजबूत हो।

प्रेस वार्ता में मौजूद आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव और चांदनी चौक से लोकसभा प्रभारी पंकज गुप्ता जी ने बताया कि राष्ट्रीय परिषद में तय हुआ है की राष्ट्रीय परिषद जिसकी कार्यकाल अवधि 23 अप्रैल को समाप्त होने वाली है, क्योंकि देश में लोकसभा चुनाव हैं और उसके बाद दिल्ली के विधानसभा चुनाव हैं, तो इन सब को देखते हुए राष्ट्रीय परिषद की कार्यकाल अवधि को 1 साल के लिए बढ़ा दिया गया है। राष्ट्रीय परिषद में जो भी फेरबदल किए जाने हैं, उस संबंध में कोई भी फैसला लोकसभा चुनाव और दिल्ली के चुनाव के बाद लिया जाएगा।

आम आदमी पार्टी ने तय किया है कि पूरे देश में भाजपा का पोल खोल अभियान चलाएगी और घर-घर तक, भाजपा ने सड़क से लेकर संसद और सुप्रीम कोर्ट तक में जो झूठ बोले हैं, उस झूठ का पर्दाफाश करेगी।

Leave a Reply