दिल्ली चुनावः कस्तूरबा नगर से रविंद्र चौधरी ने संभाली बीजेपी की कमान

दिल्ली चुनाव को लेकर जारी सियासी घमासान के बीच भारतीय जनता पार्टी ने साउथ दिल्ली की अहम सीट कस्तूरबा नगर से रविंद्र चौधरी को टिकट दिया है। जो 2015 के चुनावों में बीजेपी के प्रत्याशी थे। हालांकि, पिछली बार वह आम आदमी पार्टी के मदनलाल से हार गए थे। लेकिन इस बार उन्हें विश्वास है कि वह चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचेगे। 

नामांकन दाखिल करने से पहले रविंद्र चौधरी ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि वह चुनाव जीतेंगे। उन्होंने कहा कि पिछले 5 सालों में विधायक मदनलाल ने कोई ऐसा काम नहीं किया, जिससे क्षेत्र का विकास हुआ हो, पिछले साल आम आदमी पार्टी ने सिर्फ झूठ की राजनीति की है। लेकिन अब वे जनता के सामने बेनकाब हो चुके हैं, अब जनता आप के झांसे में आने वाली नहीं है।

बीजेपी प्रत्याशी रविंद्र चौधरी ने कहा कि परिवहन के बात करें तो दिल्ली की सड़को पर 11 हजार बसें होनी थी लेकिन 5000 बसों में से भी एक हजार से अधिक कम हो गई और बसों की क्या हालत है यह जनता को पता है। पांच साल के भीतर 100 से अधिक बसें लेकर के नहीं आये और उन्होनें माना कि हमारें टेंडर बार बार फेल हुये है और वो मुख्यमंत्री परिवहन व्यवस्था को विश्व स्तरीय बनाने की गारन्टी दे रहे है। सबसे बड़ा मुद्दा शुद्ध पीने के पानी का जो वो पांच साल में भी दिल्ली की जनता को नहीं दे पाये और यह बात स्वंय उन्होनें मानी है और अब पांच साल आगे की गारन्टी दे रहे है।

2015 में कस्तूरबा नगर सीट का हाल

2015 के विधानसभा चुनावों के दौरान दिल्ली की 70 सीटों में 67 सीटें आम आदमी पार्टी के खाते में गई थी। जिनमें कस्तूरबा नगर सीट भी शामिल थी। यहां आम आदमी पार्टी के मदनलाल ने बीजेपी के रविंद्र चौधरी को 15,896 वोटों से हराया था। मदनलाल को कुल 50766 वोट मिले थे तो वहीं रविंद्र चौधरी को 34870 वोट मिले थे। इस बार भी इन्हीं दोनों के बीच मुकाबला होने वाला है।

Leave a Reply