कैम्ब्रिज इण्टरनेशनल का टॉप इन द कन्ट्री अवार्ड सी.एम.एस. छात्रा को

लखनऊ, 1 दिसम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) के कैम्ब्रिज सेक्शन की मेधावी छात्रा अनाहिता सिंह को कैम्ब्रिज एसेसमेन्ट इण्टरनेशनल एजूकेशन बोर्ड द्वारा आउटस्टैन्डिंग कैम्ब्रिज लर्नर अवार्डस के अन्तर्गत ‘टाॅप इन द कन्ट्री’ अवार्ड से सम्मानित किया गया है। अनहिता को यह पुरस्कार वर्ष 2019-20 में सम्पन्न हुई कैम्ब्रिज इण्टरनेशनल परीक्षा में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन हेतु प्रदान किया गया है। अनहिता को यह पुरस्कार द्वितीय भाषा के रूप में हिन्दी के लिए प्रदान किया गया।

सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने सी.एम.एस. की अत्यन्त प्रतिभाशाली छात्रा की सफलता पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए उसके उज्जवल भविष्य की कामना की। डा. गाँधी ने सी.एम.एस. शिक्षकों का भी आभार व्यक्त किया कि सी.एम.एस. के विद्वान शिक्षकों की बदौलत विद्यालय के छात्र राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर नित नये कीर्तिमान स्थापित कर रहे हैं। शैक्षिक क्षेत्र में सी.एम.एस. छात्रों की उल्लेखनीय सफलता से यह स्पष्ट हो चुका है कि लखनऊ में भरपूर प्रतिभा है और लखनऊ अब राष्ट्रीय पटल पर शैक्षिक केन्द्र के रूप में स्थापित हो चुका है।
सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी हरि ओम शर्मा ने बताया कि कैम्ब्रिज इण्टरनेशनल एजूकेशन बोर्ड के तत्वावधान में आउटस्टैन्डिंग कैम्ब्रिज लर्नर अवार्डस प्रोग्राम के अन्तर्गत विश्व के लगभग 40 देशों में कैम्ब्रिज की परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं तथापि यह अवार्ड छात्रों की प्रतिभा व ज्ञान को विश्व स्तर पर प्रतिस्थापित करता है, साथ ही कैम्ब्रिज इण्टरनेशनल की सर्वश्रेष्ठ शिक्षा पद्धति को भी प्रदर्शित करता है। यह अवार्ड इण्टरनेशनल जनरल सार्टिफिकेट आॅफ सेकेण्डरी एजूकेशन (आई.जी.सी.एस.ई.) एवं कैम्ब्रिज इण्टरनेशनल परीक्षा में विभिन्न विषयों में ‘ए’ लेवल अर्जित करने वाले छात्रों को प्रदान किया जाता है।


श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. अपने छात्रों की बहुमुखी प्रतिभा को निखारने के लिए सतत् प्रयासरत है और यही कारण है कि सी.एम.एस. छात्र विभिन्न प्रतियोगिताओं में अपनी बहुमुखी प्रतिभा की छाप छोड़कर विद्यालय का गौरव बढ़ा रहे हैं। सी.एम.एस. का लक्ष्य बच्चों को वल्र्ड लीडर के रूप में तैयार करने वाली शिक्षा उपलब्ध कराना है, ताकि वे कल के विश्वव्यापी समाज का नेतृत्व अपने विकसित मानवीय दृष्टिकोण से कर सके।

Leave a Reply