चार राउंड वार्ता विफल,हाई अलर्ट पर सेना वायु सेना पहुँचे फ्रंटलाइन एयर बेस

वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने 02 सितंबर, 2020 को पूर्वी वायु कमान (ईएसी) में फ्रंटलाइन एयर बेस का दौरा किया।

वायु सेना प्रमुख के पूर्वी वायु कमान के सैन्य ठिकानों पर पहुंचने पर संबंधित वायु अधिकारी कमांडिंग ने उनका स्वागत किया और उन्हें उनकी कमांड के तहत तैयारी की स्थिति और लड़ाकू इकाइयों की परिचालन तैयारियों से अवगत कराया। वायु सेना प्रमुख ने अपनी यात्रा के दौरान इन सैन्य इकाइयों में सेवारत वायु योद्धाओं से भी मुलाकात की और उनसे बातचीत की। उन्होंने सैन्य अड्डे के कर्मियों द्वारा सभी भूमिकाओं में प्रवीणता बनाए रखने की दिशा में किए गए केंद्रित प्रयासों की सराहना की और उनसे आग्रह किया कि वे पूरी लगन के साथ अपना कर्तव्य निभाते रहें।

इस दौरान चार राउंड की बात होने के बाद भी भारत-चीन के बीच सीमा पर तनाव कम होता नजर नहीं आ रहा है। ऐसे में भारतीय सेना को हाई अलर्ट पर रखा गया है। थाकुंग चोटी पर चीनी घुसपैठ नाकाम किये जाने के बाद भारत और चीन के सैन्य अधिकारी बातचीत के जरिए मसले का हल निकालने की कोशिश कर रहे हैं। शुक्रवार को चुशूल में सुबह 10 बजे से पांचवें राउंड की बैठक चल रही है, क्योंकि इससे पहले चार राउंड की बैठक बेनतीजा रही है। सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने आज ही इस क्षेत्र का दौरा किया और सीमा के हालात को बहुत ही नाजुक और गंभीर बताया है। उन्होंने चीन को सख्त सन्देश दिया कि हमारे जवानों का जोश बरकरार है और हर स्थिति का सामना करने को तैयार हैं।  


​यह मोर्चा चीन ने ही 29/30 अगस्त की रात थाकुंग चोटी पर कब्जा करने के प्रयास से खोला है। चीनियों को खदेड़ने के बाद आक्रामक हुई भारतीय सेना ने पैंगोंग के दक्षिणी छोर की उन पहाड़ियों पर कब्जा करने का अभियान छेड़ दिया, जिन पर 1962 के युद्ध के बाद दोनों देश अब तक सैन्य तैनाती नहीं करते रहे हैं। इसी के बाद से चीन बौखलाया हुआ है और चार राउंड की बात होने के बाद भी भारत-चीन के बीच सीमा पर तनाव कम होता नजर नहीं आ रहा है। चारों बैठकें बेनतीजा रहने के बावजूद शुक्रवार को भी चुशूल में सुबह 10 बजे से पांचवें राउंड की बैठक चल रही है। 

Leave a Reply