मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने की बाबा मद्महेश्वर के डोली की अगवानी

संतोष नेगी/ द्वितीय केदार मद्महेश्वर जी की डोली गिरिया से आज दिन में शीतकालीन गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंची। जहां डोली का भब्य रूप से स्वागत हुआ। हजारों श्रद्धालुओं ने श्री मद्महेश्वर जी की डोली के दर्शन किये।

इस अवसर पर शीतकालीन गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर को फूलों से सजाया गया था।
डोली के शीतकालीन गद्दीस्थल पहुंचने पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, औद्योगिक सलाहकार डा.के.एस.पंवार, मंदिर समिति के उपाध्यक्ष अशोक खत्री, रावल भीमाशंकर लिंग, मुख्य कार्याधिकारी बी.डी सिंह, कार्याधिकारी एन.पी.जमलोकी ने डोली की अगवानी एवं स्वागत किया।
इससे पहले मुख्य मंत्री ने श्री ओंकारेश्वर मंदिर में पूजा-अर्चना कर लोक कल्याण की कामना की। तत्पश्चात मुख्यमंत्री रावल निवास गये जहां रावल एवं मंदिर समिति उपाध्यक्ष तथा मुख्य कार्याधिकारी ने ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में जीर्ण-शीर्ण कोठा भवन निर्माण के संबंध में वार्ता की तथा प्रोजेक्ट प्रारुप को मुख्यमंत्री के सम्मुख रखा।
श्री मद्महेश्वर जी की डोली के गिरिया से मंगल चौंरी पहुंची जहां केदारनाथ के रावल, सहित पुजारी केदार लिंग, शिव शंकर लिंग, टी.गंगाधर लिंग, डा.राकेश भट्ट, भाजपा युवा मोर्चा के अनुग्रह मिश्र, वेदपाठी आशाराम नौटियाल,आचार्य मैठाणी, मीडिया प्रभारी डा.हरीश गौड़ आदि डोली के स्वागत हेतु मंगोल चौरी पहुंचे। वहां डोली की पूजा-अर्चना एवं अर्ध्य दिया गया उसके बाद ब्राह्मणखोली सहित संपूर्ण मार्ग पर डोली के दर्शन को श्रद्धालु पहुंचे एवं डोली का फूल मालाओं से स्वागत किया।
मंदिर समिति पूर्व सदस्य शिव सिंह रावत,पुजारी बागेश लिंग, मंदिर सुपरवाइजर यदुवीर पुष्पवान, वेदपाठी यशोधर मैठाणी, देवानंद गैरोला आदि डोली के साथ पहुंचे।
श्री बद्रीनाथ-केदारनाथ केदारनाथ मंदिर समिति उपाध्यक्ष अशोक खत्री ने श्री मद्महेश्वर जी की डोली के उखीमठ पहुंचने के दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत बाबा मद्महेश्वर जी के दर्शन हेतु उखीमठ पहुंचने पर आभार जताया। स्वागत कर बाबा मद्महेश्वर जी का प्रसाद भेंट किया।
इसके पश्चात मुख्यमंत्री इंटर कालेज मैदान में आयोजित मद्महेश्वर मेला समिति के कार्यक्रम भी शामिल हुए। जहां उन्होंने धार्मिक मेलों को उत्तराखंड की पहचान बताया। तथा करोड़ों की योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया। युवाओं को स्वरोजगार से जुड़ने का आवाह्न किया।
इस अवसर पर मुख्य मंत्री के औद्योगिक सलाहकार सहित, मंदिर समिति उपाध्यक्ष, विधायक मनोज रावत, पूर्व विधायक आशा नौटियाल, जिला पंचायत अध्यक्ष अमर देई शाह, जिलाधिकारी मंगलेश घिल्डियाल, मेला समिति अध्यक्ष विजय राणा, दिनेश तिवारी आदि मौजूद रहे।
श्री मद्महेश्वर जी की डोली के शीतकालीन गद्दी स्थल पहुंचने के अवसर पर रावल भीमाशंकर लिंग, मंदिर समिति उपाध्यक्ष अशोक खत्री,मुख्य कार्याधिकारी बी.डी सिंह, कार्याधिकारी एन.पी.जमलोकी, सहायक अभियंता गिरीश देवली, फार्मेसी प्रभारी डा.हर्ष वर्धन बेंजवाल, लेखाकार आरसी तिवारी, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी राजकुमार नौटियाल, वेदपाठी स्वयंबर सेमवाल, प्रबंधक अरविंद शुक्ला, पारेश्वर त्रिवेदी, देवी प्रसाद तिवारी, अनिल भट्ट, अमित राणा, पुष्कर रावत, प्रेम सिंह रावत, प्रमोद कैसिव,विदेश शैव, ललित त्रिवेदी,सुदीप रावत, विशेश्वर शैव आदि मौजूद रहे

Leave a Reply