पूर्वोत्तर में अमित शाह की चाणक्य नीति, 7 राज्यों के नेताओं के साथ चुनावी चर्चा
256

नितिन उपाध्याय/रवि..अगले साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा के चाणक्य कहे जाने अमित शाह शनिवार को मणिपुर पहुँचकर यहां के इंफाल होटल क्लासिक ग्रांड में पार्टी के नेताओं के साथ बैठकर चर्चा कर रहे हैं।2019 के लोकसभा के चुनावी महाभारत में विपक्ष महागठबंधन बनाकर मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी पार्टी को हराने की जुगत में जुट चुका है।वहीं आगामी चुनाव को धार देने के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह बैठक में पूर्वोत्तर के सभी सात राज्यों के बीजेपी नेताओं के साथ अगले आम चुनावों को लेकर चर्चा चल रही है।

बीजेपी पार्टी ने पश्चिम बंगाल के बाद अब पूर्वोत्तर पर फोकस करना शुरू कर दिया है।भाजपा पार्टी देश के इस हिस्से में 20 से ज्यादा सीटों पर जीत फतह करना चाहती है।पूर्वोत्तर की इस बैठक में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू, मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बिरेन सिंह, त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब, अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री  प्रेम खांडू, बीजेपी नेता हेमंत विश्वशर्मा मौजूद हैं।

मणिपुर पहुँचे बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह का जोरदार स्वागत किया गया। जहां पूर्वोत्तर के सभी मुख्यमंत्रियों और पार्टी के सभी नेताओं से मुलाकात का कार्यक्रम तय किया गया है।साल  2019 के आम चुनावों के मद्देनजर पूर्वोत्तर की संसदीय समिति की बैठक में आगामी लोकसभा चुनाव की चर्चा होनी तय है।बता दें कि इससे पहले अमित शाह बंगाल का दौरा करके आए।

चर्चा है कि भाजपा पार्टी मिजोरम राज्य पर निगाहें लगाकर गढ़ाकर बैठी है क्योंकि यह एक मात्र इसाई बाहुल राज्य है।भाजपा पार्टी यहां से लोकसभा की सीटें निकालना चाहती है क्योंकि भाजपा पार्टी आगामी आम चुनाव में अगर देश के किसी हिस्से में कोई चुनाव में नुकसान होता है तो मिजोरम की सीटों से पूरा कर सके।विपक्ष और सत्तारूढ़ दोनों ने आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारी के लिए जुट चुकी है।वहीं विपक्ष भी आगामी चुनाव को देखते हुए सीटों के बटवारे को लेकर जोड़ तोड़ की रणनीति बना रहा है।

News Reporter

Leave a Reply