अमेठी : जमीनी विवाद को लेकर गंभीर वारदात को दिया अंजाम

कृष्ण कुमार

अमेठी जिले में आए दिन हत्या जैसी गंभीर वारदात को अंजाम देने में अपराधियों के द्वारा किसी भी प्रकार की कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जा रही है पिछले 3 दिनों में तीसरी हत्या से जिले में हड़कंप मच गया है आज की यह हत्या का प्रमुख कारण जमीनी विवाद बताया जा रहा है। इस जमीनी विवाद को लेकर लगातार पुलिस और राजस्व विभाग तथा जिले के आला अधिकारियों से लेकर मुख्यमंत्री तक शिकायत की गई लेकिन किसी ने भी संज्ञान नहीं लिया और विपक्षी के द्वारा लगातार गोली मार देने की धमकी दी जा रही थी । जिसके परिणाम स्वरूप आज बृजेश कुमार सिंह उम्र 40 वर्ष की गोली मारकर हत्या कर दी गई ।

यह पूरा मामला अमेठी जिले के संग्रामपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत पूरे भिलाई गांव निवासी पूर्व प्रधान स्वर्गीय अवध नरेश सिंह के पुत्र बृजेश सिंह जिनकी उम्र लगभग 40 वर्ष थी वह कल शाम को अपने खेतों की देखभाल करने के लिए घर से निकले थे उस समय उनका मोबाइल घर पर ही छूट गया था जिसके चलते उनका घरवालों से संपर्क नहीं हो पाया आज सुबह जब बगल गांव के पूरे फतउ नहर के पास ग्रामीणों ने उनकी लाश देखी ग्रामीणों ने आनन-फानन में इसकी सूचना बृजेश सिंह के घर वालों को दी घर वालों ने मौके पर पहुंचकर डायल 112 को फोन कर घटना की सूचना दिया और देखा तो दंग रह गए क्योंकि मृतक बृजेश सिंह के शरीर में तीन गोलियों के निशान थे जिससे साफ तौर पर स्पष्ट होता है कि अज्ञात हमलावरों के द्वारा मृतक को तीन गोलियां मारी गई थी उन गोलियों के अवशेष भी मौके से पुलिस को मिले एक गोली उनके सर पर और दूसरी उनके सीने पर लगी थी लाश को देखने से प्रतीत होता है कि जब गोली मारकर भी हमलावरों के द्वारा उनका पेट नहीं भरा तब उन्होंने चाकू से भी विजय सिंह के बीच में वार किया था जिसके निशान स्पष्ट रूप से देखे गए इस हत्या को लेकर इलाके में हड़कंप मच गया मौके पर भारी मात्रा में लोग मौजूद हो गए और कहीं ना कहीं पुलिस के खिलाफ उनमें रोष दिखाई पड़ रहा था पुलिस को विधिक कार्यवाही नहीं करने दे रहे थे क्योंकि उनका साफ तौर पर कहना था कि गांव के ही इंद्र प्रकाश सिंह उर्फ लल्लू सिंह तथा अन्य 3 लोगों ने मिलकर इनकी हत्या की है जब तक इनकी हत्या करने वाले हत्यारों को पुलिस गिरफ्तार कर जेल नहीं भेज देगी तब तक वह लाश नहीं उठाने देंगे।

मृतक के बड़े भाई कमलेश सिंह ने बताया कि गांव के ही लोगों से मेरा विभाग था वह लोग लगातार समझौता करने की धमकी दे रहे थे और कह रहे थे कि समझौता नहीं करोगे तो गोली मार देंगे। सुबह ग्राम प्रधान ने मुझको बताया कि आपके भाई बृजेश को गोली मार दी गई है तब मुझे पता चला लोगों के द्वारा लगातार धमकी दी जा रही थी जिसकी शिकायत मेरे द्वारा डीएम एसपी और मुख्यमंत्री तक की गई लेकिन कहीं से कोई कार्यवाही नहीं हुई पिछले 5 मई को मेरे द्वारा थाने में शिकायत की गई थी लेकिन पुलिस वालों ने इसको गंभीरता से नहीं लिया जिसके चलते आज इस तरह की घटना को अंजाम दिया गया है। यह लोग खूंखार किस्म के आदमी है इसीलिए पूर्व में इनकी राइफल और रिवाल्वर दोनों के लाइसेंस निरस्त किए जा चुके हैं इन लोगों की गतिविधि अच्छी नहीं रहती है इन लोगों के दो नंबर के कारोबार है यह लोग पुलिस की मिलीभगत से काम करते हैं इनकी गैस एजेंसी है तथा शराब का व्यवसाय करते हैं पुलिस के साथ उठना बैठना लगा रहता है मेरे ही खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर दिया गया दरोगा महेंद्र सचान द्वारा मुझ से पैसा मांगा गया लेकिन मैंने पैसा नहीं दिया था इस तरह से पुलिसकर्मियों के खिलाफ परिजनों का काफी उत्साह देखने को मिला जिसके चलते मामले की गंभीरता को देखते हुए मौके पर जगदीशपुर गौरीगंज अमेठी मुंशीगंज सहित कई थानों की फोर्स तैनात कर दी गई तथा मौके पर आला अधिकारियों ने पहुंचकर निरीक्षण करते हुए परिजनों से बात की और कार्यवाही का भरोसा दिलाया तथा परिजनों की तहरीर पर इंद्र प्रकाश सिंह उर्फ लल्लू सिंह चंद्रप्रकाश सिंह कौशलेंद्र सिंह और ज्ञान सिंह सहित चार लोगों कोई पर नामजद मुकदमा पंजीकृत कर दिया गया तथा लाश को कब्जे में लेकर पंचायत नामा करते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।

पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने तहरीर के आधार पर हत्या का कारण जमीनी विवाद बताया है उनका कहना है कि साक्ष्य संकलन किए जा रहे हैं और टीमें बनाकर नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए टीमों को रवाना कर दिया गया है शीघ्र ही उन लोगों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा और साक्ष्यों के आधार पर मामले की तह तक पहुंच कर इस घटना का अनावरण किया जाएगा जो भी दोषी होगा वह किसी भी कीमत पर बचने नहीं पाएगा।

Leave a Reply