पौड़ी लोकसभा को लेकर दावेदारी के कयास तेज शौर्य डोभाल पर दाँव लगा सकती है भाजपा !
157
सन्तोषसिंह नेगी /​ इंडिया फाउंडेशन नाम के थिंक टैंक के निदेशक और भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के बेटे शौर्य डोभाल का पौड़ी लोकसभा के अंतर्गत चुनाव लड़ने आने चर्चा जोरो पर है इंडिया फाउंडेशन नाम के थिंक टैंक के निदेशक और भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के बेटे शौर्य डोभाल का पौड़ी लोकसभा के अंतर्गत आने वाले ग्रामीण क्षेत्रों में भी चर्चा जोरो पर है ग्रामीण  क्षेत्रों में जनसमस्या की जानकारी लेकर वह संगठन को मजबूत कर रहे हैं। पौड़ी लोकसभा सीट पर सासंद भुवनचन्द्र खण्डूडी  चुनाव न लड़ने की खबर से इस सीट पर दावेदारों की लिस्ट बढ़ती जा है।
शौर्य डोभाल और इस केदारनाथ के पुननिर्माण में लगे नेहरू माउंटेनियरिंग इंस्टिट्यूट के प्रिंसिपल रहे कर्नल अजय कोठियाल के बीच पौड़ी लोकसभा से चुनाव लड़ने का मानो चुनाव पूर्व ही मुकाबला हो रहा है। कर्नल अजय कोठियाल जहां यूथ फाउन्डेशन के जरिए फौज में भर्ती के लिए युवाओं को तैयार करने के बहाने अपनी राजनैतिक जमीन तैयार कर रहे हैं, वहीं शौर्य बेमिसाल गढ़वाल अभियान चला उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र में राजनीतिक जमीन तलाश रहे हैं। शौर्य डोभाल ने गढ़वाल क्षेत्र में अपने नाम के बैनर पोस्टर लगवाए हैं। लोगों को मिस कॉल के जरिए इस अभियान से जोड़ा जा रहा है और शौर्य डोभाल के बारे में जानकारी भी दी जा रही है।  शौर्य डोभाल  ने जहाँ बीजेपी के यूथ को अपने साथ जोड़ा है वही कर्नल कोठियाल ने पूर्व सैनिकों को अपने साथ जोड़ा है।
माना जा रहा है कि शौर्य डोभाल और अजय कोठियाल दोनों पौड़ी गढ़वाल सीट से लोकसभा चुनाव लड़ना चाहते हैं और उसी की तैयारी के लिए यहां लोगों से जनसंपर्क कर रहे हैं। शौर्य ने बेमिसाल गढ़वाल अभियान के तहत उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में बच्चों के लिए करियर परामर्श सम्मेलन भी किए हैं और गांव-गांव पहुंचकर दवा देने के लिए मोबाइल क्लीनिक भी चालू किए हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल का पैतृक गांव उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल क्षेत्र में ही है।
वही  तीरथ सिंह रावत ने भी गढ़वाल लोकसभा सीट से अपनी दावेदारी के संकेत दे दिये हैं। जिसके बाद राजनीतिक गलियारों में सुगबुगाहट तेज हो गई है। मौजूदा समय में पूर्व मुख्यमंत्री बीसी खंडूरी यहां से सांसद हैं। तीरथ सिंह रावत पौड़ी क्षेत्र में रचे-बसे हैं। उन्होंने अपनी राजनीतिक पारी भी यहां खेली है।

Leave a Reply