Recent News
राजधानी दिल्ली के हवा की गुणवत्ता में सुधार,  इस तारीख से राज्य में फिर से खुलेंगे स्कूल और कॉलेज, जानें पूरी डिटेल

*केजरीवाल सरकार ने प्रदूषण कम होने के बाद प्रतिबंध हटाए, शैक्षणिक संस्थान सोमवार से खुलेंगे*

*- दिल्ली के अंदर स्कूल-कॉलेज 29 नवंबर सोमवार से खोल दिए जाएंगे- गोपाल राय*

*- सीएनजी और इलेक्ट्रिक ट्रक को 27 नवंबर से प्रवेश दिया जाएगा, अन्य ट्रक के प्रवेश पर 3 दिसंबर तक बैन रहेगा- गोपाल राय*

*-सरकारी दफ्तरों को 29 नवंबर से खोल दिया जाएगा, सार्वजनिक परिवहन से आने की एडवाइजरी जारी- गोपाल राय*

दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने प्रदूषण कम होने के बाद प्रतिबंध हटा लिए हैं। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली के अंदर स्कूल-कॉलेज 29 नवंबर सोमवार से खोल दिए जाएंगे। सीएनजी और इलेक्ट्रिक ट्रक को 27 नवंबर से प्रवेश दिया जाएगा। अन्य ट्रक के प्रवेश पर 3 दिसंबर तक बैन रहेगा। सरकारी दफ्तरों को 29 नवंबर से खोल दिया जाएगा। सार्वजनिक परिवहन से आने की एडवाइजरी जारी की गई है।

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने आज महत्वपूर्ण प्रेस वार्ता को संबोधित किया। गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली के अंदर पिछले 3 दिनों से लगातार प्रदूषण के स्तर में सुधार हो रहा है। दिवाली से पहले जो प्रदूषण की स्थिति थी, उस स्थिति में दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स पहुंच चुका है। दिवाली के बाद से लगातार प्रदूषण का स्तर बढ़ने लगा था। उसको देखते हुए दिल्ली के अंदर रूटीन कार्रवाई के अलावा कई सारे प्रतिबंध लगाए गए थे।

उन्होंने कहा कि दिल्ली के उच्च अधिकारियों के साथ आज समीक्षा बैठक में प्रमुख निर्णय लिए गए हैं। दिल्ली के अंदर बाहर से ट्रक  का प्रवेश अभी तक अत्यावश्यक सेवाओं को छोड़कर बंद था। बैठक में निर्णय लिया है कि 27 नवंबर से ट्रक जो सीएनजी और इलेक्ट्रिक से चलता हो, को प्रवेश दिया जाएगा, बाकी ट्रक के प्रवेश पर 3 दिसंबर तक बैन रहेगा। इसके अलावा आवश्यक सेवाओं की गाड़ियों को प्रवेश मिलेगा।

श्री गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली के अंदर स्कूल, कॉलेज, इंस्टिट्यूट और लाइब्रेरी 29 नवंबर सोमवार से खोल दिए जाएंगे। इसके अलावा सरकारी विभागों में वर्क फ्रॉम था और सरकारी दफ्तर बंद थे। अब उनको 29 नवंबर से खोल दिया जाएगा। इसके लिए सभी सरकारी कर्मचारियों को एडवाइजरी है कि वह ज्यादा से ज्यादा पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग करें। सरकार ने अभी सीएनजी की निजी बसें हायर की हैं। इन बसों को जो मुख्य कॉलोनी हैं जहां से दिल्ली सरकार के कर्मचारी आते हैं वहां पर लगाया जाएंगी,। इन्हें नीमड़ी कॉलोनी, गुलाबी बाग, तिमारपुर जैसी कॉलोनियों में लगाया जाएगा। जहां पर सरकारी कर्मचारी रहते हैं, वहां से विशेष बसें शुरू की जाएंगी, ताकि वह आ सके।

दूसरा सरकारी कर्मचारी मेट्रो का उपयोग करें। दिल्ली सचिवालय से आईटीओ और इंद्रप्रस्थ मेट्रो स्टेशन पर शटल बस सुविधा शुरू की जाएगी, ताकि शटल बस सेवा से सचिवालय आ सकें। जिससे की ऑफिस खुलें तो पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग ज्यादा करें। निजी गाड़ियों का कम से कम इस्तेमाल करें।

उन्होंने कहा कि अभी निर्माण कार्य और डिमोलिशन पर सरकार ने प्रतिबंध हटाए थे। सभी लोगों को निर्देश दिए थे कि किसी भी तरह से 14 गाइडलाइंस का उल्लंघन ना करें। पूरी दिल्ली के अंदर कंस्ट्रक्शन- डिमोलिशन में यदि किसी भी तरह का उल्लंघन पाया जाता है तो तत्काल प्रभाव से काम बंद किया जाएगा और जुर्माना लगाया जाएगा। इसलिए किसी भी तरह की लापरवाही ना बरतें। इन चीजों को खोल रहे हैं लेकिन प्रदूषण के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी। इसलिए सभी लोगों को सहयोग करना जरूरी है। हम मिलकर ही इस प्रदूषण को और कम कर सकते हैं। दिल्ली की हवा बेहतर हो सकती है। अभी तक 1221 स्थानों का निरीक्षण किया गया। जिसमें से 105 जगह पर निर्माण कार्य बंद करवा दिया गया।

सरकार की ओर से प्रतिदिन क्लोज मॉनिटरिंग की जा रही है। वर्तमान स्थितियों में सुधार होगा। लेकिन सरकार जरुरत पड़ने पर किसी भी कड़े कदम को उठाने से पीछे नहीं हटेगी।

News Reporter
पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना करियर बनाने वाली निकिता सिंह मूल रूप से उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ से ताल्लुक रखती हैं पिछले कुछ सालों से परिवार के साथ रांची में रह रहीं हैं और अब देश की राजधानी दिल्ली में अपनी सेवा दे रहीं हैं। नेशनल ब्रॉडकास्टिंग अकादमी से पत्रकारिता में स्नातक करने के बाद निकिता ने काफी समय तक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के न्यूज़ पोर्टल्स में काम किया। उन्होंने अपने कैरियर में रिपोर्टिंग से लेकर एंकरिंग के साथ-साथ वॉइस ओवर में भी तजुर्बा हासिल किया। वर्त्तमान में नमामि भारत वेब चैनल में कार्यरत हैं। बदलती देश कि राजनीती, प्रशासन और अर्थव्यवस्था में निकिता की विशेष रुचि रही है इसीलिए पत्रकारिता की शुरुआत से ही आम जन मानस को प्रभावित करने वाली खबरों पर पैनी नज़र रखती आ रही हैं। बेबाकी से लिखने के साथ-साथ खाने पीने का अच्छा शौक है। लोकतंत्र के चौथे स्तंभ में योगदान जारी है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!