1win1.az luckyjet.ar mines-games.com mostbet-casino-uz.com bible-spbda.info роскультцентр.рф
1win.com.ve 1wins.pl 1winz.com.ci aviators.cl lucky-jets.co tgasu.ru
57 युवक युवतियां बनी कृषि उद्यमी, डिप्टी डायरेक्टर ने वितरण किया प्रमाण पत्र

सीतापुर।एग्री जंक्शन वन स्टाप शाप कृषि उद्यमी स्वावलंबन योजनांतर्गत कृषि एवं कृषि व्यवसाय प्रबंधन स्नातक के 57 लाभार्थियों को कृषि विभाग सीतापुर के द्वारा कृषि विज्ञान केन्द्र कटिया सीतापुर में 13 दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया।‌ प्रशिक्षण के समापन पर उपकृषि निदेशक डा श्रवण कुमार सिंह ने नवप्रशिक्षित कृषि उद्यमियों को संबोधित करते हुए कहा कृषि नवाचारों के माध्यम से कृषकों की आजीविका बढ़ाने व सशक्त बनाने के लिए कृषि उद्यमी मिल का पत्थर साबित होंगे। जिला कृषि अधिकारी मंजीत सिंह ने कहा कृषि उद्यमी किसानों को खाद बीज के साथ साथ उनको तकनीकी सहायता भी उपलब्ध कराएंगे।भूमि संरक्षण अधिकारी संजीव कुमार ने कहा कि मौजूदा समय में किसान बेरोक टोक मनमाने ढंग से उर्वरकों डाल रहे हैं।जिसके चलते उर्वरा शक्ति दिन प्रतिदिन घटती चली जा रही है।इसमें इन कृषि उद्यमियों के माध्यम से कटौती होगी और किसान खेती में आवश्यता अनुसार उर्वरकों का प्रयोग कर सकेंगे।


डाक्टर शिशिर कांत ने बताया कि युवा किसानों की प्रतिभा का लाभ कृष‍ि क्षेत्र को दिलाने के लिए राज्य सरकार ने वर्ष 2015-16 में इस योजना को प्रारंभ किया था। इस योजना का उद्देश्य कृषि क्षेत्र में प्रशिक्षित युवाओं के तकनीकी हुनर का उपयोग कर कृषि क्षेत्र में रोजगार के अवसरों को बढ़ाना है. इसके तहत किसानों को उनके फसल उत्पादों के लिए कृषि केन्द्र (एग्री जंक्शन) खुलवाकर इनमें कृष‍ि से जुड़ी सभी जानकारियां एवं अन्य सभी सुविधाएं मुहैया कराना है।

केंद्र के अध्यक्ष डॉ दया शंकर श्रीवास्तव ने बताया कि कृषि से जुड़े विषयों उद्यान, पशुपालन, वानिकी, डेयरी, पशु चिकित्सा, मुर्गी पालन में आईसीएआर या यूजीसी से मान्यता प्राप्त संंस्थान से डिग्रीधारी एग्री जंक्शन योजना के लिए पात्र हो सकते हैं।प्रशिक्षण कार्यक्रम समन्वयक शैलेन्द्र सिंह ने बताया कि एग्री जंक्शन केन्द्रों पर कृष‍ि प्रसार सेवाएं,  सॉइल हेल्थ कार्ड पर संस्तुत उर्वरक एवं खाद की संतुलित मात्रा के बारे में किसानों को मार्गदर्शन देने, लघु कृषि यंत्रों को किराये पर उपलब्ध कराये जाने की व्यवस्था के साथ साथ विभिन्न कृषि योजनाओं के सम्बन्ध में परामर्शी सेवायें दी जाती हैं। एग्री जंक्शन केन्द्रों द्वारा कृषि उपकरणों की मरम्मत और रखरखाव, पशु आहार, कृषि उत्पादों एवं प्रसंस्कृत कृषि उत्पादों की बिक्री और मौसम सहित अन्य सूचनाएं किसानों को उपलब्ध कराई जा रही हैं।

News Reporter
error: Content is protected !!