10 सूडानियों सहित 15 जमाती लिए गए रिमांड पर, गए जेल

मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ। सुल्तानपुर में टूरिस्ट वीजा का उल्लंघन कर देश में मजहबी प्रचार व महामारी फैलाने के आरोप में सूडान से आए ९ जमातियों सहित १५ लोग अदालत के आदेश पर जेल भेज दिए गए हैं। यूपी की सुल्तानपुर पुलिस ने गत दिवस  रिमांड पर लेने के बाद मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया था। जिसपर यह कार्रवाई की गई। कोरेंटाइन होने की वजह से फिलहाल इन सभी को विशेष अस्थायी जेल में रखा गया है। दिल्ली की निजामुद्दीन मरकज की जमात में हिस्सा लेने के बाद दस सूडानी अपने ५ स्थानीय सहयोगियों के साथ १९ मार्च को सुल्तानपुर आ गए थे। वे यहां शहर की तमाम मस्जिदों में घूम घूम कर रहते रहे। छह दिन बाद जाकर २४ मार्च को पुलिस को शहर के मौलानाओं ने इसकी सूचना दी। बावजूद इसके ३१ मार्च को इन्हें खैराबाद के जामे इस्लामिया मदरसे में ८ दिन बाद कवारेंटाइन किया जा सका। शासन ने जब देश भर में बगैर इजाजत घूम घूम कर कोरोना फैला रहे जाहिल जमातियों पर शिकंजा कसना शुरू किया तो स्थानीय प्रशासन भी हरकत में आया। आखिरकार वीजा कानून व महामारी एक्ट के उल्लंघन में दस सूडानियों सहित १५ जमातियों पर कोतवाली नगर पुलिस ने केस दर्ज किया। इस बीच क्वारेंटाइन अवधि में ही पिछले हफ्ते एक सूडानी व उसके एक स्थानीय खिदमतगार (मदरसे के मोअल्लिम) के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद प्रशासन के हाथ पांव फूल गए। अभीतक कागजी कार्रवाई में ढिलाई बरतने वाले अफसरों ने अब कार्रवाई तेज कर दी है। ९ सूडानी जमातियों व उनके ६ सहयोगियों को नगर पुलिस ने एसीजेएम के समक्ष रिमांड के लिए पेश किया। जिसे अदालत ने मंजूर करते हुए १४ दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। हिरासत में लिए गए जमातियों में संक्रमित सूडानी नहीं शामिल है। फिलहाल सभी हिरासत में लिए गए १५ लोगों को प्रशासन ने क्वारेंटाइन अवधि होने की वजह से फरीदीपुर स्थित अस्थायी कारागार में ही रखा गया है।

Leave a Reply