नौली सैण बना अतिक्रमण का अखाड़ा, महिलाओं ने किया क्रमिक अनशन शुरू
553

सन्तोषसिंह नेगी/चमोली..देवभूमि उत्तराखण्ड के जनपद चमोली के ब्लॉक पोखरी में नौली सैण  पर अतिक्रमण का विवाद सुलझने का नाम नहीं ले रहा है।शनिवार को महिलाओं ने नौली सैण से अवैध कब्जा हटवाने के लिए क्रमिक अनशन शुरू कर दिया है। उत्तराखण्ड के खुबसूरत पर्यटन स्थल नौली सैण पर अवैध कब्जा के संबंध में चार ग्राम पंचायत के जनप्रतिनिधियों ने जनता दरबार में जिलाधिकारी आशीष जोशी को अतिक्रमण की समस्या से अवगत कराया जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी को कारवाई का निर्देश दिया है।

गौरतलब है कि नौली सैण जो गोचर है वहीं नैल, गुडम, सिदेली, कुलेन्डू, के ग्रामीणों का कहना है कि नौली के कुछ ग्रामीणों ने अवैध कब्जा किया है और कब्जा हटाने की गुहार प्रशासन से लगाई है।वहीं शनिवार को ग्रामीणों ने नौली सैण में रिगाल खाली नाम तोक में महिलाओं ने क्रमिक धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है। क्रमिक धरना प्रदर्शन में महिलाओं का कहना है जब तक जब तक प्रशासन के द्वारा अवैध कब्जा नहीं हटाया जाता तब तक क्रमिक धरना प्रदर्शन जारी रहेगा।

ग्राम पंचायत नैल व गुडम के प्रधान का कहना है कि प्रशासन द्वारा अवैध कब्जे पर रोक नहीं लगाई गई तो 6/07/2018 से ग्रामीण आमरण अनशन को मजबूर हो जायेंगे।

ग्रामीणों की मांग क्या है

1-नौली सैण से अवैध कब्जा हटवाया जाएं

2-नौली  सैण स्थल का सीमांकन व मुनेर बन्दी की जाएं

3- पी एस जी एस वाई सड़क को गोदली से नैल जोड़े

उल्लेखनीय है कि नौली सैण की खुबसूरती का जिक्र सबसे पहले नमामि भारत के द्वारा लिखा गया था कि नौली सैण को पर्यटन से जोड़ा कर देखा जाएं क्योंकि यह एक खूबसूरत जगह है लेकिन अब नौली सैण विवाद का स्थल बनता जा रहा है।

 

News Reporter

Leave a Reply