Recent News
तेरा खून कब खौलेगा रे विराट और बीसीसीआई ?

भारतीय क्रिकेट बिरादरी के लोग, पूर्व खिलाड़ियों समेत राजनीती के दिग्गज राजनेता खुल के शमी के समर्थन में सामने आए हैं। इन सभी दिग्गजों ने उन नफरती चिंटुओं को याद दिलाया कि शमी भारत देश की आन बान शान हैं। और कई वर्षों से देश का प्रतिनिधित्व कर रहे है और आगे भी करते रहेंगे। लेकिन अफ़सोस भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और दुनिया की सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई ने चू तक नहीं की। इतना बड़ा बवाल होने के बावजूद विराट और बीसीसीआई अपना मुँह सील कर के बैठे हैं। कैसा ख़ून हैं इनका कौन से रंग का खून हैं इनका जो नफरत करने वालो के खिलाफ खौल ही नहीं रहा ?

टी20 विश्व कप में भारत जैसे ही पाकिस्तान से हार गया था, सुविधाजनक बलि का बकरा ढूँढा जाने लगा। कुछ भी न मिलने के बाद मोहम्मद शमी तुरंत नफरती लोगो के रडार पर आ गए।  मोहम्मद शमी आखिर क्यों ? वजह भी आपको बतानी पड़ेगी तो आप कतई ही कलाकार हैं। नफरत करने के लिए मोहम्मद शमी नाम ही काफी हैं। 

आइये देखते है किस दिग्गज ने शमी के लिए क्या कहा,

क्रिकेट के भगवान् कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने ट्वीट किया, जब हम #TeamIndia का समर्थन करते हैं, तो हम टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व करने वाले प्रत्येक व्यक्ति का समर्थन करते हैं। @MdSami11 एक प्रतिबद्ध, विश्व स्तरीय गेंदबाज है। उनके पास किसी भी अन्य खिलाड़ी की तरह छुट्टी का दिन था। मैं शमी और टीम इंडिया के पीछे खड़ा हूं। 

उनके कई पूर्व साथी शमी के समर्थन में तेंदुलकर के साथ शामिल हुए, जिन्होंने अपने 3.5 ओवरों में 43 रन बनाए।

वीवीएस लक्ष्मण ने ट्वीट किया, मोहम्मद शमी आठ साल से भारत के लिए शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं, शमी ने कई जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्हें एक प्रदर्शन से परिभाषित नहीं किया जा सकता है। मेरी शुभकामनाएं हमेशा शमी के साथ हैं। मैं खेल के प्रशंसकों और अनुयायियों से @ MdShami11 और भारतीय टीम का समर्थन करने का आग्रह करता हूं। 

वीरेंद्र सहवाग चाहते हैं कि, शमी भारत के अगले गेम में शानदार प्रदर्शन कर के नफरत फैलाने वालों का मुंह बंद करें। सहवाग ने लिखा, मोहम्मद शमी पर ऑनलाइन हमला चौंकाने वाला है और हम उनके साथ खड़े हैं। वह एक चैंपियन है और जो कोई भी भारत की टोपी पहनता है, उसके दिलों में किसी भी ऑनलाइन भीड़ से कहीं अधिक भारत है। आपके साथ शमी। अगले मैच में दिखाओ जलवा (दिखाएं कि आप अगले मैच में क्या कर सकते हैं) 

ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने एक उदासीन प्रदर्शन के बाद शमी को निशाना बनाना “हास्यास्पद” पाया। हरभजन ने कहा, शमी के खिलाफ इस तरह की प्रतिक्रिया देखना हास्यास्पद है। वह एक चैंपियन और हमारे अपने गर्वित भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्होंने हमारे लिए इतने सारे मैच जीते और हमें गौरवान्वित किया। 

पूर्व ऑलराउंडर इरफ़ान पठान ने अपने स्वयं के खेल करियर में उदाहरणों का उल्लेख किया और शमी के प्रदर्शन और उनके धर्म को जोड़ने के लिए अनुचित पाया। इरफ़ान पठान ने कहा, यहां तक ​​​​कि मैं भी उस मैदान पर #IndvsPak की मैच का हिस्सा था। जहां हम हार गए थे लेकिन कभी पाकिस्तान जाने के लिए नहीं कहा गया था। मैं कुछ साल पहले के भारत के ध्वज के बारे में बात कर रहा हूँ। इस बकवास को रोकने की जरूरत है। 

क्रिकेट कमेंटेटर हर्षा भोगले ने हिंदी में सुझाव दिया कि शमी को गाली देने वाले पहले तो खेल के प्रशंसक नहीं थे। हर्षा भोगले ने कहा, जो लोग मोहम्मद शमी के बारे में घटिया बातें कर रहे हैं, उनसे मेरी एक ही विनती है। आप क्रिकेट ना देखें। और आपकी कमी महसूस भी नहीं होगी। 

इस मामले ने राजनीतिक क्षेत्र में भी हलचल मचा दी जब कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शमी के लिए समर्थन व्यक्त किया। राहुल गाँधी ने कहा, मोहम्मद #शमी हम सब आपके साथ हैं। ये लोग नफरत से भरे हुए हैं क्योंकि कोई उन्हें प्यार नहीं देता। उन्हें माफ कर दो। 

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने दावा किया कि ब्लैक लाइव्स मैटर आंदोलन के लिए भारतीय टीम के समर्थन का कोई मतलब नहीं है अगर वे अपने किसी को गाली देने से नहीं रोक सकते। उमर अब्दुल्ला ने कहा  # मोहम्मद शमी उन 11 खिलाड़ियों में से एक थे जो कल रात हार गए थे। वह मैदान पर एकमात्र खिलाड़ी नहीं थे। अगर आप अपनी टीम के साथी के लिए खड़े नहीं हो सकते हैं, जिसे सोशल मीडिया पर बुरी तरह से गाली दी जा रही है और ट्रोल किया जा रहा है, तो टीम इंडिया आपके बीएलएम घुटने का कोई मतलब नहीं है। 

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने महसूस किया कि ऑनलाइन दुरुपयोग देश में बढ़ते कट्टरपंथ का प्रतिबिंब हैं। असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, मोहम्मद शमी को कल भारतीय टीम की हार के लिए निशाना बनाया जा रहा है। इससे साबित होता हैं कि, मुसलमानों के खिलाफ कट्टरता और नफरत बढ़ रही है। एक क्रिकेट टीम में 11 सदस्य होंगे। टीम में एक मुस्लिम है और उसे निशाना बनाया जा रहा है।

News Reporter
Akash has studied journalism and completed his master's in media business management from Makhanlal Chaturvedi National University of journalism and communication. Akash's objective is to volunteer himself for any kind of assignment /project where he can acquire skill and experience while working in a team environment thereby continuously growing and contributing to the main objective of him and the organization. When he's not working he's busy reading watching and understanding non-fictional life in this fictional world.

Leave a Reply

error: Content is protected !!