गेहूं खराब हुआ तो वेतन से होगी  भरपाई
167

उन्नाव/एफसीआई के अधिकारियों ने उन्नाव और बांगरमऊ मंडी परिषद में टीन शेड के नीचे लगे गेहूं को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के लिए आवश्यक वस्तु निगम को एलाट कर दिया। दोनों ही मंडी परिषदों के टीन शेडों से उठान शुरू भी कर दिया गया।सरकारी खरीद के गेहूं भंडारण को लेकर एफसीआई अधिकारी कई दिनों से परेशान हैं। भंडारण क्षमता से अधिक गेहूं की खरीद होने से उसे सुरक्षित रखने के लिए राज्य भंडारण निगम के अधिकारियों ने बांगरमऊ और उन्नाव मंडी परिषद में तीन-तीन हजार मीट्रिक टन गेहूं भंडारित कराने का निर्णय लिया।

बरसात का सीजन होने से गेहूं को सुरक्षित रखने के लिए तिरपाल से ढकने का निर्देश जारी किया गया था। लेकिन भंडारण नियमों को ताख पर रखकर गेहूं टीन शेड के नीचे रखवा दिया गया। उस पॉलीथिन डलवाने का जो दावा किया गया वह कागजी ही निकला।  सोमवार को सायं बरसात भी हुई थी इससे डीएम रवि कुमार एनजी ने इसे गंभीरता से लिया और एफसीआई और राज्य भंडार निगम के अधिकारियों की क्लास ली। डीएम ने हिदायत दी अगर गेहूं खराब हुआ तो वेतन से भरपाई कराई जाएगी।

News Reporter

Leave a Reply