; केजरीवाल सरकार के स्कूलों के स्टूडेंट्स ने शुरू किए अपने स्टार्टअप जिसमें शामिल है: आटोमेटिक एलईडी बल्ब, गैस रिसाव बचाव अलार्म और यूनिक टाई और डाई अपैरल्स जैसे आइडियाज - Namami Bharat
1win1.az luckyjet.ar mines-games.com mostbet-casino-uz.com bible-spbda.info роскультцентр.рф
केजरीवाल सरकार के स्कूलों के स्टूडेंट्स ने शुरू किए अपने स्टार्टअप जिसमें शामिल है: आटोमेटिक एलईडी बल्ब, गैस रिसाव बचाव अलार्म और यूनिक टाई और डाई  अपैरल्स जैसे आइडियाज

*गैस रिसाव को रोकने के लिए केजरीवाल सरकार के स्कूलों के युवा एंत्रप्रेन्योर्स ने केवल ₹ 700 में तैयार किया अलार्म*

*दिल्ली सरकार के बिज़नेस ब्लास्टर्स प्रोग्राम के छात्रों को गैस रिसाव प्रिवेंटिव अलार्म सिस्टम में निवेशकों ने इन्वेस्ट किए 80,000 रूपये*

*5 युवा बिजनेस स्टार्स की महत्वाकांक्षी टीम ‘ ग्राहकों को मुहैया करवा रही यूनिक और क्रिएटिव डिज़ाइन के साथ उच्च गुणवत्ता वाले कपड़े*

*दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे भविष्य के सीईओ ने तैयार किया आटोमेटिक LED लाइट बल्ब, बिजली न होने पर रौशन करेगा घर*

*केजरीवाल सरकार की पहल ‘बिजनेस ब्लास्टर्स’ के तहत इन स्टार्टअप्स को मिलेगा भारत के शीर्ष उद्यमियों से फंडिंग, मेंटरशिप और सपोर्ट*

*आईएल कनेक्शनस के प्रेसिडेंट व फाउंडर रवि गुप्ता, मॉम्सजॉय की को-फाउंडर दिव्या गुप्ता को सरकारी स्कूल के बिज़नेस स्टार्स ने किया हैरान, दोनों ने स्टूडेंट्स के स्टार्टअप्स में किया निवेश*

केजरीवाल सरकार द्वारा शुरू किया गया कार्यक्रम बिज़नेस ब्लास्टर्स दिल्ली के सरकारी स्कूलों में भविष्य की कंपनियों के सीईओ तैयार हो रहे है| कार्यक्रम की पूरे भारत में चर्चा हो रही है| साथ ही बहुत से निवेशक दिल्ली के सरकारी स्कूलों के बिज़नेस स्टार्स के स्टार्टअप में निवेश कर रहे है जिससे कार्यक्रम को शानदार सफलता भी मिल रही है| इसी कड़ी में रविवार को टीवी पर बिजनेस ब्लास्टर्स का पांचवा एपिसोड प्रसारित किया गया| जहां दिल्ली के सरकारी स्कूलों के बिज़नेस स्टार्स ने प्रसिद्ध निवेशकों के सामने अपने बिज़नेस आईडिया प्रस्तुत किए| एपिसोड में जीआईएल कनेक्शनस के प्रेसिडेंट व फाउंडर रवि गुप्ता, मॉम्सजॉय की को-फाउंडर दिव्या गुप्ता जैसे प्रसिद्ध उद्यमियों ने जज की भूमिका निभाते हुए इन युवा एंत्रप्रेन्योर्स के स्टार्टअप को समझा और उसमे निवेश किया| उपमुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया भी बतौर जज की भूमिका में इस कार्यक्रम में शामिल रहे|

*केजरीवाल सरकार के स्कूलों के बच्चों ने तैयार किया गैस रिसाव को रोकने के लिए एक किफायती अलार्म*

शो के पहले स्टार्ट-अप आईडिया को पेश किया टीम ‘सेफ किचन ने’|  इस टीम में 12वीं क्लास के 9 स्टूडेंट्स शामिल है जिन्होंने अलार्म की मदद से गैस रिसाव को रोकने के आईडिया को अपने स्टार्ट-अप में बदला है। टीम लीडर अमन कहते हैं, “जब हमें बिजनेस ब्लास्टर्स के बारे में पता चला तो इसको लेकर हमारे पास बहुत सारे लेकिन प्राइमरी रिसर्च के दौरान हमने देखा कि गैस रिसाव के कारण बहुत-सी दुर्घटनाएँ होती है तो हमने इसे रोकने के लिए एक अलार्म बनाने की ठानी| हमने पाया कि बाजार में मौजूद अधिकांश प्रिवेंटिव अलार्म की कीमत लगभग 1500-8000 रुपये होती है। लेकिन हमने ऐसा अलार्म तैयार किया है जो सभी के बजट में आ सकता है| ताकि बिज़नेस के साथ-साथ सोसाइटी की भी मदद हो सके| हमने जो प्रिवेंटिव अलार्म बनाया है उसकी कीमत केवल 700 रुपये है।” अमन ने आगे बताया कि बिज़नेस ब्लास्टरर्स ने हमें जॉब सीकर के बजाय जॉब प्रोवाइडर बनाया है| हम भविष्य में अपने इस स्टार्ट-अप से बहुत से लोगों को नौकरियां दे पाएंगे| टीम ने बताया की उन्हें वर्तमान में 40 अलार्म के आर्डर मिले हुए है साथ ही वो इसके अपग्रेडेड मॉडल 2.0 पर भी काम कर रहे है|  निवेशक इस आईडिया से प्रभावित हुए और इनके स्टार्ट-अप में 80,000 रूपये निवेश किए| 

*5 युवा बिजनेस स्टार्स की महत्वाकांक्षी टीम ‘रंगबहार अपैरल्स’ के नाम से ग्राहकों को मुहैया करवा रही यूनिक और क्रिएटिव डिज़ाइन के साथ उच्च गुणवत्ता वाले कपड़े*

शो की दूसरी टीम ‘रंगबहार अपैरल्स’ को 5 लड़कियों के एक ग्रुप मैनेज करता है| जो अपने स्टार्ट-अप को फैशन शो का हिस्सा बनाकर और अपने डिज़ाइन किए कपड़ों को अगले स्तर तक ले जाने का विज़न रखती है। ये स्टार्ट-अप पर टाई और डाई तकनीक का उपयोग करके अपने ग्राहकों को यूनिक और क्रिएटिव डिज़ाइन के साथ उच्च गुणवत्ता वाले कपड़े मुहैया करवाता है। शो में टीम ने बताया कि उन्होंने सबसे पहले स्कूल में दिवाली मेले में लोगों को अपना काम दिखाया था जो लोगों को बहुत पसंद आया| तब से, उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और इस स्टार्ट-अप को बढ़ाने के लिए मेहनत करना कर दिया| उन्होंने मार्किट सर्वे किया  और अपने आईडिया को आस-पास की दुकानों और लोगों तक पहुंचाना सीखा। टीम लीडर मेघा ने बताया कि वे अपने स्टार्ट-अप का विस्तार करने के लिए अन्य बिजनेस ब्लास्टर्स टीमों के साथ पार्टनरशिप करने की योजना बना रहे है| ‘रंगबहार अपैरल्स’ टीम ने निवेशकों से 60,000 रुपये का निवेश प्राप्त किया। 

*केजरीवाल सरकार के स्कूलों के स्टूडेंट्स ने तैयार किया आटोमेटिक एलईडी लाइट बल्ब, बिजली न होने पर भी करेगी घर रौशन*

शो में तीसरी टीम ‘लाइट क्राफ्ट’ को अपने 7 दोस्तों के साथ रहमान लीड कर रहे थे| टीम ने आटोमेटिक  एलईडी बल्ब का एक बहुत ही यूनिक मॉडल तैयार किया है,  ये बल्ब बिजली होने के दौरान बिजली से चलता है और चार्ज भी होता है साथ ही बिजली न होने पर ये अपनी बैटरी से चलता है| रहमान ने बताया कि ये आईडिया उन्हें उत्तर प्रदेश के अपने गाँव को लाइट न होने की स्थिति में रौशनी देने को लेकर आया| रहमान ने साझा किया कि जब भी वह अपने गांव जाते हैं, तो आमतौर पर शाम को बिजली नहीं होती है और खाना पकाने और पढ़ाई जैसी बुनियादी गतिविधियां बाधित होती हैं। इसलिए उन्होंने अपने दोस्तों के साथ बिजनेस ब्लास्टर्स की मदद से इस स्टार्ट-अप को शुरू किया। उन्होंने बताया कि “इस आईडिया  ने वास्तव में मुझे अपनी क्षमताओं से परे सोचने में मदद की है और मैं इसे पढ़ाई के साथ-साथ अपने स्टार्ट-अप को भी जारी रखना चाहता हूँ|” टीम को बाजार से अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से ऑर्डर मिल रहे हैं। टीम लाइट क्राफ्ट ने निवेशकों से 70,000 रूपये का निवेश प्राप्त किया|

उल्लेखनीय है कि बिजनेस ब्लास्टर्स भारत में अपनी तरह का पहला टेलीविजन कार्यक्रम है जो दिल्ली के सरकारी स्कूलों के 11वीं और 12वीं के छात्रों को इन्वेस्टर्स के सामने अपने प्रोजेक्ट्स को प्रस्तुत करने और उन्हें अगले स्तर पर ले जाने के लिए निवेश प्राप्त करने का अवसर देता है। शो में 3 लाख स्टूडेंट्स के 51,000+ बिज़नेस आइडियाज में से चुने गए बेहतरीन बिज़नेस आइडियाज को दिखाया जाएगा|  हर रविवार शाम 7 बजे दिल्ली के सरकारी स्कूलों के इन बिज़नेस स्टार्स को इन्वेस्टर्स के मुश्किल सवालों का सामना करते और उन्हें अपने बिज़नेस को बढ़ाने के लिए इनवेस्टमेंट प्राप्त करते देखे|

बिजनेस ब्लास्टर्स 11वीं-12वीं कक्षा के लिए एंत्रप्रेन्योरशिप माइंडसेट करिकुलम (EMC) का एक प्रैक्टिकल कॉम्पोनेन्ट है और इससे दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स में टीम वर्क, लीडरशिप, ब्रेन-स्टोर्मिंग, क्रिटिकल-थिंकिंग स्किल्स विकसित करने  के साथ-साथ सामाजिक चुनौतियों व व्यावसायिक अवसरों की पहचान करने, व्यावसायिक योजनाएँ तैयार करने और अपने आस पास उन विचारों को लागू करने का अनुभव प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इस प्रोग्राम के तहत सभी भाग लेने वाले स्टूडेंट्स को 2,000-2,000 रूपये की सीडमनी दी जाती है| स्टूडेंट्स, इंडिविजुअल या टीम्स में इस सीड मनी का उपयोग खुद का एंटरप्राइज शुरू कर प्रॉफिट कमाने या सोशल इम्पैक्ट पैदा करने के लिए करते है|

News Reporter
पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना करियर बनाने वाली निकिता सिंह मूल रूप से उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ से ताल्लुक रखती हैं पिछले कुछ सालों से परिवार के साथ रांची में रह रहीं हैं और अब देश की राजधानी दिल्ली में अपनी सेवा दे रहीं हैं। नेशनल ब्रॉडकास्टिंग अकादमी से पत्रकारिता में स्नातक करने के बाद निकिता ने काफी समय तक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के न्यूज़ पोर्टल्स में काम किया। उन्होंने अपने कैरियर में रिपोर्टिंग से लेकर एंकरिंग के साथ-साथ वॉइस ओवर में भी तजुर्बा हासिल किया। वर्त्तमान में नमामि भारत वेब चैनल में कार्यरत हैं। बदलती देश कि राजनीती, प्रशासन और अर्थव्यवस्था में निकिता की विशेष रुचि रही है इसीलिए पत्रकारिता की शुरुआत से ही आम जन मानस को प्रभावित करने वाली खबरों पर पैनी नज़र रखती आ रही हैं। बेबाकी से लिखने के साथ-साथ खाने पीने का अच्छा शौक है। लोकतंत्र के चौथे स्तंभ में योगदान जारी है।
error: Content is protected !!