सिद्धार्थनगर : स्थानांतरण ना होने पर परेशान शिक्षिकाएं

धर्मवीर गुप्ता

सिद्धार्थनगर जिले के परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत शिक्षिकाएं आज अंतर्जनपदीय स्थानांतरण सूची जारी होने के बाद स्थानांतरण न होने से शाम को जिलाधिकारी के पास पहुची और जिलाधिकारी से मिलने की मांग पर अड़ गई। इस अवसर पर जिले के विभिन्न ब्लाकों से सैकड़ो की संख्या में पहुची शिक्षिकाओ ने बताया कि वह अन्य जिलों की निवासी है और 5 साल से अधिक वर्षो से सिद्धार्थनगर जिले में शिक्षक के पद पर कार्यरत है।

जब हमें नौकरी मिली तो हमसे कोई बांड नही भरवाया गया, न ही बताया गया कि इस जिले से कोई स्थानांतरण नही किया जाएगा। लेकिन हर बार स्थानांतरण प्रक्रिया में हमे शामिल तो किया जाता है लेकिन स्थानांतरण नही किया जाता। जिससे हमारा पूरा परिवार बिखर गया है। घरों में बुजुर्ग लोग है कोई देखने वाला नही है।

कोई असाध्य बीमारी से ग्रस्त है उसका भी स्थानांतरण नही किया गया। आखिर सरकार यह बता दे कि वह कितने वर्ष आकांक्षी जनपद में नौकरी करने के बाद ट्रांसफर करेगी। हम ट्रांसफर न होने से बहुत परेशान है । यंहा छोटे छोटे बच्चों के साथ परिवार से अलग रहने में बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।वही इस मामले को लेकर जिलाधिकारी कार्यालय में पहुची शिक्षिकाओ को एसडीएम विकाश कश्यप ने काफी समझा बुझाकर शांत किया। इसको लेकर बीएसए राजेन्द्र सिंह ने मांगपत्र लेकर इनकी मांगो को मुख्यमंत्री तक भेजने की बात कही।

Leave a Reply