आज नेल्सन मंडेला का 100वां जन्मदिवस है इस मौके पर उनसे जुड़ी 10 बातें
1014

ज़ेबा ख़ान/नेल्सन मंडेला एक ऐसा नाम जिसको सुनकर ही उनके स्ट्रग्ल की कहानी सामने आ जाती है। आपको बता दे नेल्सन मंडेला साउथ अफ्रीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति थे।  राष्ट्रपति बनने से पूर्व वे दक्षिण अफ्रीका में सदियों से चल रहे रंगभेद का कड़ा विरोध किया। और सााथ ही वो अफ्रीकी नेशनल कांग्रेस और इसके सशस्त्र गुट उमखोंतो वे सिजवे के अध्यक्ष रहे। रंगभेद विरोधी संघर्ष के कारण उन्होंने 27 वर्ष रॉवेन द्वीप के कारागार में बिताये जहाँ उन्हें कोयला खनिक का काम करना पड़ा था। 1990 में श्वेत सरकार से हुए एक समझौते के बाद उन्होंने नये दक्षिण अफ्रीका का निर्माण किया। वे दक्षिण अफ्रीका एवं समूचे विश्व में रंगभेद का विरोध करने के प्रतीक बन गये। संयुक्त राष्ट्रसंघ ने उनके जन्म दिन को नेल्सन मंडेला अन्तर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया।

आज हम आपको इनके 100 जन्म दिवस के अवसर पर इनकी ज़िन्दगी से जुड़ी 10 बातें बताएगें

 

  • नेल्सन मंडेला 1 994-1999 से दक्षिण अफ्रीका का पहले अश्र्वेत राष्ट्रपति थे। और नस्लवाद के अंत के बाद निर्वाचित पहले राष्ट्रपति बने।
  • मंडेला का असली पहला नाम रोलीहलाहला है, जिसका अर्थ है “एक पेड़ की शाखा खींचना” या “परेशानी करने वाला”। उन्हें शिक्षक द्वारा नेल्सन नाम दिया गया था क्योंकि, 20 वीं शताब्दी की शुरुआत में, दक्षिण अफ़्रीकी बच्चों को अक्सर देश में औपनिवेशिक उपस्थिति के कारण अंग्रेजी नाम दिए गए थे।
  • 20 से अधिक वर्षों तक, मंडेला ने अफ्रीकी राष्ट्रीय कांग्रेस, विपक्षी पार्टी के लिए काम किया जो नस्लवाद के तहत काले नागरिक और मानवाधिकारों की वकालत करता था।
  • मंडेला ने 1 99 3 में नोबेल शांति पुरस्कार जीता, “नस्लीय शासन की शांतिपूर्ण समाप्ति, और एक नए लोकतांत्रिक दक्षिण अफ्रीका के लिए नींव रखने के लिए फ्रेडरिक विलेम डी क्लर्क के साथ पुरस्कार साझा किया।”
  • साल 2005, मंडेला ने मंडेला रोड्स छात्रवृत्ति की स्थापना की जो अफ्रीकी छात्रों के लिए स्नातकोत्तर वित्त पोषण प्रदान करता है।
  • 2007 में, मंडेला ने एल्डर को स्थापित करने में मदद की, जो वैश्विक नेताओं का एक समूह है जो दुनिया भर में शांति और मानवाधिकारों को बढ़ावा देता है। समूह के सदस्यों में पूर्व राष्ट्रपति जिमी कार्टर, यूएन बान की मून के पूर्व महासचिव और यूएन कोफी अन्नान के पूर्व महासचिव शामिल हैं।
  • साल 2004 में, जब मंडेला  85 साल के थे तब होने अपने काम से रिटारमेंट ले लिया और इसके साथ ही उन्होने कहा कि वो अब अपना बाकी का समय अपनी पत्नि के साथ बिताना चहाते हैं।
  • मंडेला ने “मदिबा शर्ट” को पारंपरिक रूप से रंगीन प्रिंट के साथ पारंपरिक रेशम शर्ट को लोकप्रिय बनाने में मदद की।
  • 5 दिसंबर, 2013 को  लंग्स इंफेक्शन की वजह से दक्षिण अफ्रीका के हौटन में नेल्सन मंडेला की मौत हो गई।
  • कई दक्षिण अफ़्रीकी मंडेला को “मुखुलु” के रूप में संदर्भित करते हैं, जिसका अर्थ ज़ुलू में दादाजी है।

Leave a Reply