मायावती मुलायम अखिलेश ने भी खाली किया सरकारी बंगला,यहाँ होगा नया ठिकाना
174

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पूर्व मुख्यमंत्रियों को सरकारी बंगला 15 दिनों में खाली करने के आदेश के बाद पूर्व मुख्यमंत्री और गृहमंत्री राजनाथ सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के बाद अब समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव, पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह और बसपा सुप्रीमो मायावती को अपना बंगला छोडना पडा है ये लोग अब वीवीआईपी गेस्ट हाऊस में अपना ठिकाना बना रहे हैं। वहीं एनडी तिवारी ने मॉल एवेन्यू स्थित अपने बंगले को खाली नहीं किया है. उनके बंगले के बाहर अब ट्रस्ट का बोर्ड लगा दिया गया है.

मुलायम सिंह ने शुक्रवार शाम को 5 विक्रमादित्य मार्ग पर अपने सरकारी बंगले को खाली कर वीवीआईपी गेस्ट हाउस के कमरा नंबर 102 में, अखिलेश यादव सरकारी बंगले 4 विक्रमादित्य मार्ग को खाली कर वीवीआईपी गेस्ट हाउस के कमरा नंबर 209 में शिफ्ट हो गए हैं। फिलहाल 4 जून तक इनका ठिकाना गेस्ट हाउस रहेगा।. बाद में ये दोनो लोग अंसल गोल्फ सिटी में किराए के दो बंगले में शिफ्ट होंगे।

13ए मॉल एवेन्यू स्थित सरकारी बंगले को बचने की मायावती की सारी कवायद फेल होने के बाद वो रविवार तक बसपा सुप्रीमो मायावती अपने निजी आवास 9ए मॉल एवेन्यू में शिफ्ट हो जाएंगी।

73 लाख से ज्यादा का बिजली बिल भरने के बाद मायावती ने स्पीड पोस्ट के माध्यम से राज्य संपत्ति विभाग को बंगले की चाबी भेज दी है. लेकिन राज्य संपत्ति विभाग के अनुसार मायावती ने लाला बहादुर शास्त्री मार्ग पर स्थित बंगला नंबर 6 की चाबियां भेजी हैं और यह बंगला उनके नाम आवंटित ही नहीं है.

राज्य संपत्ति अधिकार योगेश शुक्ला ने कहा कि बंगला नंबर 6 मायावती के नाम आवंटित ही नहीं है. विभाग उन्हें दुबारा नोटिस भेजकर बंगला खाली करने के लिए कहेगा. मामले में विभाग कानूनी राय भी लेगा।

बता दें पिछले दिनों बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा नेता ने मुख्यमंत्री से एनेक्सी में मुलाक़ात कर एक ज्ञापन दिया था. उस ज्ञापन में मिश्रा ने दावा किया था कि 13ए मॉल एवेन्यू कांशीराम विश्राम स्थल के लिए आवंटित है. जिसके दो कमरों में मायावती रहती हैं. उनके नाम लाल बहादुर शास्त्री मार्ग पर बंगला नंबर 6 आवंटित है. जिसे मायावती खाली करेंगी. इसके बाद उन्होंने मीडिया के सामने आवंटन का पत्र भी दिया था. उन्होंने कहा कि विभाग ने बंगला नंबर 6 को खाली करने का नोटिस नहीं दिया. जिसके बाद विभाग ने जांच करवाई तो बंगला नंबर 6 का आवंटन फर्जी निकला. इस बीच मायावती ने स्पीड पोस्ट से बंगला नंबर 6 की चाबियां भी भेज दी. जिसे विभाग ने लेने से इनकार कर दिया.

Leave a Reply