प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का हुआ शुभांरभ 
154
सन्तोषसिंह नेगी/चमोली में  प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (पीएम किसान योजना) का रविवार को विधिवत् शुभांरभ किया गया, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गोरखपुर से मन की बात कार्यक्रम के माध्यम से जनपद एवं ब्लाक स्तर पर आयोजित कृषक गोष्ठी को संबोधित करते हुए इस महत्वाकांक्षी योजना का शुभांरभ किया। जिला मुख्यालय में नगर पालिका गोपेश्वर के सभागार में आयोजित कृषक गोष्ठी में दूर-दूराज से आये किसानों ने मन की बात कार्यक्रम के तहत रेडियो पर मा0 प्रधानमंत्री के अभिभाषण को सुना। इस दौरान जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया, अपर जिलाधिकारी एमएस बर्निया सहित सभी रेखीय विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।
इस स्कीम के तहत 02 हैक्टियर से कम जमीन वाले किसान परिवारों की मदद के लिए प्रत्येक किसान परिवार को साल में तीन किस्तों में 6 हजार रुपये सीधे उनके बैंक खातों में ट्राॅसफर किये जायेंगे। जिसकी पहली किस्त आज जारी की गई। चमोली जिले में जनगणना के आंकडों के अनुसार लगभग 47 हजार किसान परिवार है, जिनमें से 37,218 कृषक परिवारों का जिला प्रशासन के माध्यम से सत्यापन कार्य पूरा करने के बाद  15750 कृषकों का पीएम किसान योजना पोटर्ल पर पंजीकरण किया जा चुका है। किसान सम्मान योजना के पहले चरण के तहत जिले के 6406 कृषकों के खाते में योजना की पहली किस्त के तहत 2 हजार की धनराशि ट्राॅसफर की गई है।
मा0 प्रधानमंत्री ने कृषकों को संबोधित करते सबसे पहले देश के लिए अपना अमूल्य बलिदान देने वाले अमर शहीदों को नमन किया। उन्होंने कहा कि अमर शहीदों के अदम्य साहस और उनकी वीरगाथा को संजोकर रखने के लिए नेशनल वार मैमोरियल (राष्ट्रीय शहीद स्मारक) का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है तथा 25 फरवरी को इसका उद्घाटन किया जायेगा। उन्होंने देश के नागरिकों से नेशनल वार मैमोरियल एवं नेशनल पुलिस मैमोरियल जैसे पवित्र स्थलों का भ्रमण कर उनसे प्रेरणा लेने की बात कही।
मा0 प्रधानमंत्री ने पहाड़ काटकर नहर बनाने वाले दशरथ मांझी, प्रसिद्व चित्रकार अब्दुल गफ्फार खत्री, स्वयं सहायता समूह के लिए कार्य करने वाली महिला राजकुमारी देवी, कृषक मदुरै के उत्कृष्ठ कार्यो का जिक्र करते हुए कहा कि इसबार से पद्म पुरस्कार की श्रेणी में 12 अन्य क्षेत्रों को भी शामिल किया गया है, जिनको पहले पद्म पुरस्कार की श्रेणी में नही रखा गया था। आयुष्मान भारत योजना की जानकारी देते हुए कहा कि पिछले 5 महीनों में देश के 12 लाख से अधिक गरीब परिवारों को इस योजना का लाभ मिला है। उन्होंने अपने आस पडोस के सभी गरीब व जरूरमन्द परिवार को इस योजना से जोडकर लाभ पहुॅचाने की बात कही। मा0 प्रधानमंत्री ने सभी बोर्ड परीक्षार्थियों एवं उनके अभिभावकों को आगामी बोर्ड परीक्षाओं तथा शिवरात्री पर्व के लिए भी अपनी शुभकामनाएं भी दी।
कृषक गोष्ठी को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने कहा कि फरवरी में पीएम किसान सम्मान योजना शुरू होने के साथ ही जिले में कृषकों के सत्यापन कार्य शुरू किया गया है। अभी तक 37218 किसान परिवारों का सत्यापन किया जा चुका है तथा 6406 किसानों को पहले चरण के तहत आज लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह सतत् योजना है तथा कैम्प के माध्यम से गांव-गांव में कृषकों के सत्यापन एवं पंजीकरण का कार्य जारी है। कहा कि इस योजना का लाभ लेने के लिए कोई भी किसान तहसील व ब्लाक मुख्यालय पर भी अपना आवेदन कर सकता है। इस दौरान उन्होंने कृषक गोष्ठी में आये किसानों के अनुभव एवं उनके विचार भी सुने तथा पुरसाडी की किसान महिला राजेश्वरी देवी के कृषि क्षेत्र में किये गये कार्यो से प्रभावित होकर उन्हें पुष्पगुच्छ भेंट कर सम्मानित भी किया। इस अवसर जिलाधिकारी ने कृषकों को संबोधित करते हुए कहा कि छूटे हुए सभी मतदाताओं को निर्वाचक नामावली में अपना नाम जोड़ने तथा आगामी लोक सभा चुनाव में अवश्य मतदान करने के लिए भी प्रेरित किया।
कृषक गोष्ठी को संबोधित करते हुए अपर जिलाधिकारी एमएस बर्निया, मुख्य उद्यान अधिकारी नरेन्द्र यादव तथा मुख्य कृषि अधिकारी राम कुमार दोहरे ने भी कृषकों को प्रोत्साहित करते हुए इस महत्वाकांक्षी योजना का लाभ उठाने की बात कही। किसान गोष्ठी में महाप्रबन्धक जिला उद्योग केन्द्र डा0 एमएस सजवाण, आजीविकास मिशन के प्रभागीय परियोजना प्रबन्धक प्रतीम भट्ट सहित 40 से अधिक कृषक मौजूद थे।

Leave a Reply