कर्नाटक के सीएम कुमारस्वामी का पहला बजट पेश, किसानों को दिया कर्जमाफी का तोहफा
418

तृप्ति रावत/ कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी ने आज गुरुवार को अपना पहला बजट पेश किया है। इस बजट में कुमरस्वामी ने किसानों के लिए एक बड़ा तोहफा दिया है जिसमें उन्होंने कर्ज माफी का एलान किया है। सीएम ने कर्जमाफी के लिए 34,000 करोड़ रुपये आवंटित करने का ऐलान किया है। वहीं पेट्रोल, डीजल और बिजली की कीमत बढ़ने से किसानों के साथ ही आम जनता के लिए चिंता की लकीरें खींच दी हैं। हालांकि विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस और जेडीएस ने अपने-अपने घोषणापत्र में इसका ऐलान किया था।

सूत्रों के मुताबिक कुमारस्वामी ने 2,13,734 करोड़ रुपए के बजट का ऐलान करते हुए कहा कि वह सिद्धारमैया सरकार की सभी योजनाओं को जारी रखेंगे। सर्विस और ऐग्रिकल्चर सेक्टर पर फोकस रखा गया है। उन्होंने जानकारी दी कि साल 2016-17 में वृद्धि दर 7.5% थी। जो कि अब 2017-18 में बढ़कर 8.5% पहुंच गई। सरकार की प्राथमिकता किसानों के कर्ज माफ करने के लिए संसाधन जुटाने पर है। उन्होंने भरोसा दिलाने की कोशिश की है कि वे चुनावी घोषणापत्र में किए गए सभी वादों को पूरा करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है।

इसके साथ ही प्राइमरी स्कूल में कन्नड़ माध्यम के साथ ही कर्नाटक में अंग्रेजी की कक्षाएं शुरू की जाएंगी। ताकि अधिक से अधिक बच्चों को सरकारी स्कूल की तरफ आकर्षित किया जा सके। 1000 स्कूलों में यह प्रयोग किया जाएगा। बेंगलुरु झील के जीर्णोद्धार के लिए 50 करोड़ रुपये के आवंटन की घोषणा की गई है। कर्नाटक सरकार आदि शंकराचार्य जयंती का आयोजन करेगी। भारतीय शराब पर 4 प्रतिशत का उत्पाद शुल्क बढ़ाया। इससे सरकार को 1000 करोड़ रुपये के राजस्व मिलने की उम्मीद है। बेंगलुरु में पेरिफेरल रिंगरोड का निर्माण होगा,  इसकी लागत 11,950 करोड़ रुपये आएगी। सरकार ने विशेष उद्देश्य वाले वाहनों को मंजूरी दे दी है।

हालांकि इससे पहले बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर विश्वास जताया था कि सरकार अपने चुनावी वादे के मुताबिक किसानों का कर्ज माफ करेगी और यहीं से पूरे देश के किसानों के लिए उम्मीद पैदा होगी।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘कर्नाटक में बजट की पूर्व संध्या पर मुझे पूरा भरोसा है कि कांग्रेस-जेडीएस सरकार किसानों की कर्जमाफी करने और खेती को अधिक मुनाफे का काम बनाने के हमारे वादे को पूरा करेगी। उन्होंने कहा, ‘यह बजट पूरे देश के किसानों की खातिर कर्नाटक को आशा की किरण बनाने के लिए हमारी सरकार के पास एक अवसर की तरह है।’

 

Leave a Reply