चमोली में अतिक्रमण हटाने के लिए महिलाओं ने शुरू किया आमरण अनशन
596

सन्तोषसिंह नेगी/ उत्तराखण्ड के जनपद चमोली के ब्लॉक पोखरी में रिंगल खाली सैण  पर अतिक्रमण का विवाद सुलझाने में हो रहे देरी के कारण महिलाओं ने अतिक्रमण हटाने के लिए आमरण अनशन शुरू कर दिया है। बृहस्पतिवार को ग्रामीणों ने बयाली भूत नाथ संघर्ष समिति के तले उपजिलाधिकारी को ज्ञापन दिया लेकिन ग्रामीणों को उपजिलाधिकारी पोखरी से उचित   आश्वासन न मिलने के कारण महिलाओं ने अनशन शुरू कर दिया है। शुक्रवार को सुबह पुष्पा देवी, सावित्री देवी, बसंती देवी ने रिंगल खाली सैण पर हो रहे अतिक्रमण के खिलाफ अनशन शुरू कर दिया है।

महिलाओं के  द्वारा शासन-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की और गांव बचाओ गोचर पनघट बचाओ के नारे लगाए गए। चार गांवो की महिलाओं ने कहा जब तक गोचर पनघट पर अतिक्रमण नहीं हटाया जाता तब तक आमरण अनशन समाप्त नहीं होगा जबकि नायब तहसीलदार ,कानूगो  राजस्व विभाग ने रिगल खाली सैण का निरीक्षण किया। नायब तहसीलदार ने कहा सैण पर अवैध अतिक्रमण हुआ है उन्होंने उन स्थानों को चिन्हित किया जहां अतिक्रमण हुआ है उसके बाद भी प्रशासन की सुस्ती के कारण अतिक्रमण नहीं हटाया गया जिसके के लिए आज से आमरण  अनशन करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

गौरतलब है कि रिगल खाल सैण जो गोचर पनघट है वहीं नैल , गुडम, सिदेली, कुलेन्डू, के ग्रामीणों का कहना है नौली के कुछ ग्रामीणों द्वारा लगभग 150 नाली बंजर भूमि पर अतिक्रमण  किया है कब्जा हटाने के लिए प्रशासन से गुहार लगाई है लेकिन तहसील प्रशासन की लापरवाही से आज तक अतिक्रमण नहीं हटाया गया महिलाओं ने कहा हमारी मांग गोचर पनघट से अतिक्रमण हटाये जाने की है जब तक मांग पूरी नहीं होती तब तक आमरण अनशन जारी रहेगा।  

पुष्पा देवी, सावित्री देवी बसंती देवी ने आमरण अनशन पर बैठेने के बाद  कहा शासन प्रशासन की लापरवाही के कारण अतिक्रमण हुआ है कई बार ग्रामीणों ने अवैध कब्जे  की जानकारी प्रशासन को दी। प्रशासन की लापरवाही के कारण आज आमरण अनशन करने के लिए बाध्य होना पड रहा है। सरकारी भूमि पर अतिक्रमण करने वालों खिलाफ जनता कई बार  तहसील प्रशासन और राजस्व विभाग से अनुरोध कर चुकी है यह सैण चार ग्राम पंचायतों का गोचर पनघट है जो सरकारी भूमि है जिस पर एक आदमी ने तीन से अधिक जगहों पर अतिक्रमण किया है अतिक्रमण हटाने के लिए  जिला प्रशासन स्थानीय प्रशासन से गुहार लगाई लेकिन अतिक्रमण अभी भी नहीं हटाया गया जब तक मांग पूरी नहीं होती तब तक हमारा अनशन जारी रहेगा।

इस अवसर पर ग्राम प्रधान दीपा देवी, ग्राम प्रधान गुड्डी देवी  भूतनाथ संघर्ष के अध्यक्ष जीतसिंह, प्रतापसिंह, कुंवरसिंह, तेजपालसिह, बीरादेबी, जयदीपसिंह, संदीपसिंह , मुकेशसिंह, शंकरसिंह, दिनेशसिंह, सतेसिंह,  तिलोकसिंह , बचपनसिंह , कमला देवी, अमरसिंह ,प्रतापसिंह, बीरेंद्र सिंह , पुष्पा देवी, किसानसिंह , विटेंद्रसिंह , देवेन्द्रसिंह ,,राकेशसिंह, प्रतापसिंह ,गजेन्द्रसिंह , सतेंद्रसिह,  सतेसिंह , सतीशसिंह आदि लोग मौजूद थे।

 

News Reporter

Leave a Reply