विपक्ष के अवरोध के बाद भी राज्यपाल ने बनायी धाक

मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ। यूपी विधानमंडल के बजट सत्र का पहला दिन हंगामे की भेंट चढ़ गया।राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के अभिभाषण के बाद सदन की कार्यवाही शुक्रवार दोपहर 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। जनगणमन समाप्त होते ही राज्यपाल अभी अभिभाषण पढ़ना भी नहीं प्रारंभ कर पायीं थी कि सपा-बसपा व कांग्रेस ने सदन वापस जाओ-वापस जाओ का नारा लगाते हुए वेल में पहुंच गए। विपक्ष नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी, एनपीआर और प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर सरकार पर हमलावर था। लेकिन शोर-शराबे और हंगामें के बीच राज्यपाल आनंदीबेन पटेल अवरोध से बिना प्रभावित हुए पूरा अभिभाषण पढ़ कर ही रुकीं। उन्होंने विपक्षी सदस्यों से कहा कि विरोध कर रहे हो बैनर तो सीधा कर लो।जनगणमन हो गया अब हाथ नीचे करो। बजट सत्र के पहले दिन विधानभवन परिसर में चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के पास कांग्रेस व समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और सदन के अंदर भी राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान हंगामा करते रहे। जिसके बाद सदन की कार्यवाही को शुक्रवार दोपहर तक के लिए स्थगित कर दिया गया। विधानमंडल का बजट सत्र सात मार्च तक चलेगा। इस दौरान 18 फरवरी को दोपहर 12.20 पर 2020-21 के लिए बजट पेश किया जाएगा। गुरुवार को सत्र की शुरुआत राज्यपाल के अभिभाषण से हुई। अभिभाषण के दौरान ही सपा, बसपा और कांग्रेस नेता प्रदर्शन कर नारेबाजी करने लगे। कांग्रेस ने महंगाई के मुद्दे पर भी केंद्र व राज्य सरकार को घेरा।इसके पहले बुधवार को बजट सत्र के पहले सर्वदलीय बैठक हुई जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष से सदन चलने में सहयोग करने की अपील की थी जिसका कोई असर नहीं दिखा

Leave a Reply