कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर सरकार का ‘सबसे बड़ा फैसला’

देश में लगातार फिर से तेजी से बढ़ रहे कोरोना मामलों ने केंद्र सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। इसी बीच केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। दरअसल, केंद्र सरकार के नए आदेश के मुताबिक अब छुट्टियों के दिन भी कोरोना वैक्सीनेशन किया जाएगा। केंद्र सरकार ने कहा है कि अप्रैल के सभी दिनों में प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों में कोरोना वैक्सीनेशन किया जाएगा। नए आदेश के मुताबिक इसमें सरकारी छुट्टियों के दिन भी वैक्सीनेशन की बात कही गई है।

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच कोरोना वैक्सीनेशन ड्राइव का तीसरा चरण आज यानी गुरुवार से शुरू हुआ है। तीसरे चरण में 45 साल से ऊपर के सभी लोगों को कोरोना की वैक्सीन दी जाएगी। वैक्सीन की डोज सभी सरकारी अस्पतालों और हेल्थ सेंटरों में फ्री में दी जा रही है जबकि प्राइवेट हेल्थ सेंटरों में लोगों को इसके लिए 250 रुपए लिए जा रहे हैं। कोरोना वैक्सीनेशन ड्राइव का पहला चरण 16 जनवरी से शुरू हुआ था जिसमें हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना वैक्सीन की डोज दी गई थी।

1 मार्च से शुरू हुआ था दूसरा चरण
इसके अलावा दूसरा चरण 1 मार्च से शुरू हुआ। इस चरण में 60 साल से ऊपर के लोगों को और अन्य बीमारियों से पीड़ित 45 साल से ऊपर के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई। आज से शुरू हुए तीसरे चरण में 45 साल से ऊपर के सभी लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जा रही है।

वैक्सीन की नहीं होगी कोई कमी
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने राज्यों के साथ बैठक कर कहा था कि किसी राज्य में वैक्सीन की कोई कमी नहीं होगी और उन्हें लगातार सप्लाई मिलती रहेगी। वहीं केंद्र ने सभी राज्यों से अपील की है कि वह वैक्सीन की बर्बादी को कम करते हुए इसे 1 फीसदी के नीचे लाने की कोशिश करें। जानकारी के मुताबिक फिलहाल देश में 6 फीसदी कोरोना वैक्सीन बर्बाद हो चुकी है।

कोरोना से हालात बद से बदतर
देश के कई हिस्सों में कोरोना की दूसरी लहर से चिंतित केंद्र सरकार ने मंगलवार को चेतावनी दी कि स्थिति अब “बद से बदतर” हो रही है। इसके साथ ही केंद्र ने सभी राज्यों से अगले दो सप्ताह के भीतर 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के 100 प्रतिशत टीकाकरण कवरेज करने की अपील भी की है।

Leave a Reply