‘रेडियो कश्‍मीर- इन टाइम्‍स ऑफ पीस एंड वॉर’ पुस्‍तक का डॉ. जितेन्‍द्र सिंह ने किया विमोचन
74

पूर्वोत्‍तर क्षेत्र विकास राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्‍य मंत्री, डॉ. जितेन्‍द्र सिंह ने नई दिल्‍ली में डॉ. राजेश भट्ट द्वारा लिखित ‘रेडियो कश्‍मीर- इन टाइम्‍स ऑफ पीस एंड वॉर’ नामक पुस्‍तक का विमोचन किया।डॉ. जितेन्‍द्र सिंह ने पुस्‍तक के लेखक को बधाई दी और गहरे तथा विस्‍तृत शोध के बाद जम्‍मू एवं कश्‍मीर पर पुस्‍तक लिखने के उनके प्रयासों की सराहना की। उन्‍होंने कहा कि लेखक को प्रिंट और इलेक्‍ट्रोनिक सहित निजी और सरकारी मीडिया में काम करने का अपार अनुभव है।

‘रेडियो कश्‍मीर- इन टाइम्‍स ऑफ पीस एंड वॉर’ नामक पुस्‍तक गहरे और विस्‍तृत शोध पर आधारित है तथा लेखक ने देश के कल्‍याण एवं सुरक्षा संबंधी विभिन्‍न मुद्दों के मद्देनजर सरकार और जनता के रणनीतिक हितों को सुरक्षित बनाने में मीडिया द्वारा निभाई गई अहम भूमिका को रेखांकित किया है। वर्ष 1947 के बाद से सामाजिक और सांस्‍कृतिक ताने-बाने को कायम रखने में रेडियो कश्‍मीर महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता रहा है,जिसे लेखक ने अपनी पुस्‍तक में पेश किया है। पुस्‍तक में देशवासियों की सेवा करने, खासतौर से इस क्षेत्र के लोगों की सेवा करने तथा राज्‍य के लोकतांत्रिक संस्‍थानों को मजबूत बनाने में रेडियो कश्‍मीर की भूमिका का भी उल्‍लेख है।

उन्‍होंने कहा कि रेडियो एक छोटे स्‍तर पर शुरू हुआ और दूर-दराज के इलाकों में लोगों के जीवन को प्रभावित करने के स्‍तर तक पहुंच गया। मंत्री महोदय ने कहा कि अभी हाल में जम्‍मू-कश्‍मीर के रामबन जिले के पटनीटॉप में 10 किलोवॉट ट्रांसमीटर वाली आकाशवाणी सेवा का उद्घाटन किया गया। इससे विभिन्‍न जिलों में 60 किलोमीटर के आसपास वाले इलाकों में रहने वाले लोगों को यह सेवा उपलब्‍ध कराई जा रही है। उन्‍होंने बताया कि उधमपुर में भी जल्‍द रेडियो स्‍टेशन चालू किया जाएगा।

जम्‍मू-कश्‍मीर के युवाओं के बारे में डॉ. जितेन्‍द्र सिंह ने कहा कि राज्‍य के कई छात्रों को ‘कश्‍मीर सुपर-30’ परियोजना का लाभ मिला है तथा उन्‍होंने हाल के वर्षों में जेईई (मेन और एडवांस) में सफलता प्राप्‍त की है। उन्‍होंने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर के युवा हर साल लोक सेवा परीक्षाओं में उच्‍च स्‍थान प्राप्‍त कर रहे हैं। इससे साबित होता है कि राज्‍य के युवा मेहनती हैं और उज्‍ज्‍वल भविष्‍य की इच्‍छा रखते हैं। उन्‍होंने कहा कि इंटरनेट के जरिये युवा दुनिया के साथ बेहतर तरीके से जुड़ गए हैं।

पुस्‍तक के लेखक डॉ. राजेश भट्ट इस समय आकाशवाणी, नई दिल्‍ली के नीति प्रभाग निदेशालय में कार्यरत हैं। डॉ. भट्ट ने 250 से अधिक अकादमिक शोधपत्र और लेख लिखे हैं। पुस्‍तक के विमोचन के अवसर पर आकाशवाणी के महानिदेशक श्री एफ.शहरयार और अन्‍य विशिष्‍टजन उपस्थित थे।

Leave a Reply