कश्मीर के मौजूदा हालात की वजह जवाहर लाल नेहरू,शत्रुधन सिन्हा हैं भटकती आत्मा-बृज भूषण शरण सिंह
376

जम्मू-कश्मीर सरकार से भाजपा द्वारा समर्थन वापस लेने के बाद से ही पक्ष-विपक्ष द्वारा प्रतिक्रियाओं का दौर चालू हो गया है और इसी क्रम में यूपी के कैसरगंज से बीजेपी सांसद ने बृज भूषण शरण सिंह का बड़ा बयान सामने आया है। सांसद बृज भूषण ने कश्मीर के मौजूदा हालात का ठीकरा देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू पर फोड़ते हुए कहा कि कॉंग्रेस को बोलना नही चाहिए और अगर बोलना है तो इतिहास पढ़ना चाहिए। कश्मीर को बर्बाद करने वाले का नाम है पंडित जवाहर लाल नेहरू। उन्होंने काश्मीर को बर्बाद किया है। पीडीपी और बीजेपी ने बर्बाद नही किया संभालने की कोशिश किया। कश्मीर को आज इस मुकाम पर किसी ने पंहुचाया है तो कॉंग्रेस और नेहरू जी ने पंहुचाया ही। दरसल सांसद से पूछा गया था कि कॉंग्रेस ने कहा है कि पीडीपी और बीजेपी ने काश्मीर को बर्बाद किया जिसके जवाब में सांसद ने पलटवार करते हुए यह आरोप लगाया।

बीजेपी के कद्दावर नेता शत्रुघ्न सिन्हा द्वारा महबूबा मुफ्ती की तारीफ व काश्मीर मुद्दे पर अपनी पार्टी की खि़लाफत वाले बयान पर बाहुबली भाजपा सांसद बृजभूषण ने शत्रुधन सिन्हा पर कटाक्ष करते हुए कहा सिन्हा भटकी हुई आत्मा हैं। शत्रुघ्न सिन्हा अटल जी की सरकार में मंत्री बने – इस सरकार में वो मंत्री नही बने और तब से उनके ऐसे बयान आते रहते हैं। एक तरीके से अक्सर पार्टी के विरोध में ही उनके बयान आते रहते है। कभी वो लालू के यहाँ के चले जाते हैं – कभी वो पीडीपी के यहाँ चले जाते हैं तो एक तरीके से हम कह सकते है कि वो भटकती हुई आत्मा हैं और भटक रहे हैं।

जम्मू – कश्मीर के ही मुद्दे पर भाजपा सांसद ने कहा कि अनुचित दबाब के कारण समर्थन वापस लिया गया, पत्थरबाजों को दबाब बनाकर छोड़ा गया, ऑपरेशन को इस तरह रोका जाना, ये अनुचित दबाब था जिससे सेना का मनोबल गिर रहा था, अंतिम सीमा तक भाजपा ने धैर्य बनाये रखा और जो फैसल लिया गया है बहुत ही उचित है – हम इसका समर्थन करते है। उमर अब्दुल्ला द्वारा दिए गए बयान पर की काश्मीर में जल्द चुनाव हो क्योंकि उन्हें भाजपा पर भरोसा नही का जवाब देते हुए बीजेपी सांसद कहा कि अभी वहां के हालात चुनाव लायक नहीं, खुलेआम पत्थर फेंके जाते है, खुलेआम सैनिकों को मारा जाता है, ऐसे हालात में चुनाव उचित नहीं। लेकिन हमें लगता है कि चुनाव होंगे और चुनाव ही एक अंतिम विकल्प है।

Leave a Reply