अयोध्‍या : मस्जिद के साथ इंडो इस्लामिक रिसर्च सेंटर की होगी स्थापना

बिस्मिल्लाह खान

अयोध्या। इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ट्रस्ट ने धन्नीपुर में झंडारोहरण कर पौधरोपण किया। ट्रस्ट के सचिव अतहर हुसैन ने मीडिया से मुखातिब होकर बताया कि देश के इतिहास में सबसे बड़ी गणतंत्र दिवस की 26 जनवरी तारीख है। इस दिन देश को संविधान दिया गया था।उन्होंने बताया कि यहां अवध क्षेत्र की जो साझी विरासतण रही है।

अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ जो साझी विरासत के सृजन के लिए हिंदू- मुस्लिम सहित सभी समुदाय के लोगों ने देश को आजादी दिलाने में जो योगदान दिया है। अवध की इस विरासत को सृजित रखने के लिये यहां मस्जिद के साथ इंडो इस्लामिक रिसर्च सेंटर की स्थापना की जायेगी। उन्होंने बताया कि यहां पर मस्जिद के साथ दो सौ सैय्या का हास्पिटल निर्मित कराया जायेगा। साथ ही कम्युनिटी किचन बनेगा।

जिसमें प्रतिदिन एक समय पर एक हजार लोगों को नियमित पौष्टिक भोजन कराने की व्यवस्था की जायेगी। मीडिया प्रभारी डा. सैफुद्दीन ने बताया कि यहां झंडा रोहण के साथ पौधरोपण किया गया है। जो एकता में अनेकता का प्रतीक है। 26 जनवरी के दिन आयोजित कार्यक्रम से अवध क्षेत्र में गंगा -जमुनी तहजीब स्थापित करने की कवायद की गई है।

इस अवसर पर स्थानीय लोंगो में मेराज खान, सोहराब खान,ठेकेदार कल्लू खान, लाल मोहम्मद,पूर्व प्रधान रौनाही खुर्शीद खान,हाजी इम्तियाज़ खान, बबलू खान,नफीस खान,अतीक खान आदि सहित स्थानीय लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply