डीएम और एसपी ने सिखाए ग्रामीणों को बाढ़ के दौरान बचाव के गुर
166

बलरामपुर /कन्हैया लाल यादव। भारत नेपाल सीमावर्ती तराई क्षेत्रों में पहाड़ी नालों और नदियों से बाढ़ विभीषिका से बचाव के लिए जिला अधिकारी और पुलिस अधीक्षक आप दा प्रबंधन टीम के साथ माक ड्रिल ग्रामीणों को बाढ़ के दौरान अपनाए जाने वाली सुरक्षा और सावधानियों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई बाढ़ राहत एवं बचाव कार्य में लगे कर्मियों को रेस्क्यू के सभी तरीके तथा बाढ़ आपदा के दौरान धैर्यपूर्वक सूझबूझ से कम समय में अधिक लोगों को सकुशल सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने और उनके उपचार की विधा जिला अधिकारी ने बताया तथा ग्रामीणों में यह विश्वास पैदा किया गया कि बाढ़ के किसी भी आपदा में प्रशासन पूरी तरीके से आम जनमानस के सहायता और सुरक्षा के लिए पूर्ण रुप से तैयार है।

बाढ़ राहत आपदा प्रबंध  की मॉक ड्रिल करुणेश कुमार जिला अधिकारी और राजेश कुमार पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में आपदा राहत की प्लानिंग , लॉजिस्टिक एवं  ऑपरेशन टीमो के साथ संयुक्त अभ्यास कलेक्टर डिस्ट्रिक्ट आप दा प्रबंधन कार्यालय से शुरू की गई बाढ़ की सूचना पर आपदा राहत टीम राप्ती नदी के किनारे कोडारी घाट पर ऑपरेशन  रेस्क्यु का अभ्यास किया।

बाढ़

टीम कमांडर जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में तत्काल टीमो ने रेस्कयू का काम स्टैण्डर्ड प्रोसीजर के अनुसार प्रारम्भ किया । मोटर बोट   पर गोताखोर, रेस्कयू टीम ,लाइफ जैकेट व स्ट्रेचर की मदद से बाढ़ से प्रभावित लोगों को नदी के पार रिलीफ कैम्प की ओर बीमार ,घायल को स्टेचर की सहायता से कैम्प पर लाया गया। जहां पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी के देखरेख में डॉक्टरों की टीम में उपचार किया कैम्प पर  प्रभावित लोगों को खाने के पैकेट , पीने का पानी व दवाये भी वितरित की गई। जिला अधिकारी मॉक ड्रिल में अपर जिलाधिकारी, अपर पुलिस अधीक्षक , मुख्य चिकित्सा अधिकारी, उप जिलाधिकारी क्षेत्राधिकारी थाना अध्यक्ष, क्यूआर टी फायर सर्विस ट्रैफिक पुलिस तथा एस एस बी अर्धसैनिक बल के जवानों ने पूर्वाभ्यास किया।

बाढ़

 

Leave a Reply