जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने सुनी जनसमस्याऐं,गैस कनेक्शन भी किये वितरित
186
सन्तोषसिंह नेगी / चमोली के जोशीमठ ब्लाक के सीमांत क्षेत्र बड़ागांव में शनिवार को जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया की अध्यक्षता में आयोजित बहुउद्देशीय शिविर में 64 फरियादियों ने अपनी समस्याएं दर्ज की। जिसमें से अधिकांश शिकायतों का जिलाधिकारी ने मौके पर ही निस्तारण किया। शिविर में विभिन्न विभागों के स्टाॅलों पर 255 से अधिक लोगों को लाभान्वित किया गया। इस दौरान जिलाधिकारी ने उज्जवला योजना के तहत  5 लाभार्थियों को गैस कनेक्शन भी वितरित किये। शिविर में अधिकांश समस्याऐं सड़क, एनटीपीसी व ऋषिगंगा पाॅवर प्रोजेक्ट के संबध में दर्ज की हुई।

जिलाधिकारी ने कहा कि शिविरों के माध्यम से आम जनता की शिकायतों का मौके पर ही निस्तारण करने का प्रयास किया जा रहा है साथ ही मुख्यालय स्तर पर भी शिकायतों की नियमित माॅनिटरिंग की जा रही है। उन्होंने जनता की शिकायतों को गम्भीरता से लेते हुए उच्च प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण कर शिकायतकर्ता को भी निस्तारण की कार्यवाही से अवगत कराने के निर्देश अधिकारियों को दिये। शिविर में उरेडा तथा खेल अधिकारी के उपस्थित न रहने पर नाराजगी जाहिर करते हुए जिलाधिकारी ने संबधित अधिकारियों को स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिये है।

शिविर में रविग्राम, परसारी, मेरग, जोशीमठ, तपोवन, ढाक, करछो, करछी-तुगासी, भंग्यूल, रिंगी, भविष्य बद्री, सुराई थोटा, रैणी, लाता आदि गांवों के ग्रामीणों ने सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल, सिंचाई, मनरेगा मजदूरी, पेंशन, जंगली जानवरों से फसलों की सुरक्षा, एनटीपीसी व ऋषिगंगा पाॅवर प्रोजेक्ट से जुड़ी समस्याऐं प्रमुखता से जिलाधिकारी के समक्ष रखी।

मेरग के प्रधान ने जोशीमठ-मलारी मो0मार्ग तथा रैणी के ग्रामीणों ने जोशीमठ-नीति मो0मार्ग चैडीकरण होने पर बीआरओ द्वारा प्रभावित परिवारों को मुआवजा न दिये जाने की शिकायत दर्ज की। जिस पर बीआरओ के अधिकारी ने बताया कि 14 गांवों के प्रभावित परिवारों का सत्यापन कार्य प्रगति पर है। रिंगी के प्रधान ने रिंगी-भविष्य बद्री मो0मार्ग का निर्माण का पूरा न होने की शिकायत दर्ज की। चोरमी-पयांगांव मो0 मार्ग का कार्य शुरू न होने की शिकायत पर अधिशासी अभियंता लोनिवि ने बताया कि सड़क का आंगणन के लिए मुख्य अभियंता को भेजा जा चुका है। शिविर में लाॅजी-पोकनी मो0मार्ग, सूखी भल्ला गांव मो0मार्ग, मारवाडी-थैंग मो0मार्ग के निर्माण कार्य लम्बित होने तथा जोशीमठ-औली मो0मार्ग को डबल लेन बनाये जाने की मांग भी रखी गयी। शिविर में लोनिवि, पीएमजीएसवाई तथा बीआरओ की सड़कों को लेकर अधिकांश शिकायतों को देखते हुए जिलाधिकारी ने जमकर फटकार लगाते हुए कार्यदायी संस्थाओं को अपनी स्वीकृत सड़क की पूरी जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिये है।

एनटीपीसी-तपोवन-विष्णुगाढ परियोजना से प्रभावित गावों की चारापत्ती, रोजगार, गांव में नये निर्माण कार्य, चिकित्सा सुविधा आदि से जुड़ी अधिकांश शिकायतों को देखते हुए जिलाधिकारी ने एसडीएम जोशीमठ को एनटीपीसी एवं ग्रामीणों के साथ शीघ्र बैठक कर पूर्व में किये गये करार एवं आश्वासनों के अनुसार शिकायतों का त्वरित निस्तारण कराने के निर्देश दिये। ऋषिगंगा पाॅवर प्रोजेक्ट रेणी के द्वारा गांव के क्षतिग्रस्त रास्तों, मजदूरी, दुकानदारों का भुगतान न किये जाने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने एसडीएम को कंम्पनी तथा ग्रामीणों के साथ बैठक कर समस्याओं का निस्तारण करने के निर्देश दिये।

बडागांव के प्रधान हेमा देवी ने गांव में पेयजल, सिंचाई, एएनएम सेंन्टर खोलने तथा जंगली जानवरों से फसलों की सुरक्षा हेतु अपनी समस्याऐं दर्ज करायी। कहा कि बडागांव सब्जी उत्पादन के लिए जाना जाता है, लेकिन यहाॅ पर पेयजल लाईन क्षतिग्रस्त होने तथा सिचांई नहर न होने के कारण काश्तकारों को खासी परेशानियों का सामाना करना पड रहा है। जिस पर जिलाधिकारी ने जल संस्थान को क्षतिग्रस्त पेयजल लाईन की शीघ्र मरम्मत कराने तथा सिंचाई विभाग को नहर निर्माण हेतु आंगणन उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। जंगली जानवरों से फसलों को बचाने हेतु कृषि अधिकारी को चैनल फेन्सिंग का प्रस्ताव तैयार करने को कहा। बडागांव निवासी नथू लाल की लम्बे समय से मनरेगा मजदूरी का भुगतान न किये जाने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने बीडीओ को  बिलंब का कारण पता करते हुए शीघ्र भुगतान सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। इस दौरान क्षेत्रवासियों ने महाविद्यालय जोशीमठ में प्रवक्ताओं की नियुक्ति, रा0प्रा0वि0 बडागांव में विद्युतीकरण, नन्दादेवी राष्ट्रीय पार्क में कार्मिकों का आठ माह से वेतन भुगतान न होने, पयां गांव का विस्थापन, दूर संचार सुविधाएं, बेस अस्पताल आदि से जुड़ी विभिन्न मांगे/शिकायतें दर्ज की।

शिविर में आयुर्वेदिक एवं यूनानी द्वारा 48, एलोपैथिक द्वारा 74 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर निःशुल्क दवाई वितरित की गयी। पशुपालन द्वारा 33 पशुपालकों को पशु बीमारी की रोकथाम हेतु निःशुल्क दवा वितरित की गयी। कृषि विभाग द्वारा 11 लोगों को कृषि यन्त्र व रसायन जबकि उद्यान विभाग द्वारा 22 लोगों औद्यानिक औजार, सब्जी बीज, कीटनाशक दवाईयां वितरित की गयी। समाज कल्याण द्वारा वृद्वावस्था के 02 आवेदन लिये गये। वही सैनिक कल्याण विभाग द्वारा 05 पूर्व सैनिकों के पहचान पत्र व 10 पूर्व सैनिकों के पेंशन से जुड़ी समस्याओं को निराकरण किया गया। राजस्व विभाग द्वारा सीएससी के माध्यम से जाति, स्थायी, चरित्र, आयु आदि के 40 प्रमाण पत्र निर्गत किये गये। जबकि ग्राम्य विकास द्वारा 08 परिवार रजिस्टर की नकल तथा राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत 16 लोगों ने अपना आवेदन किया। वही शिविर में 16 लोगों के आधार कार्ड भी बनाये गये। शिविर में जिलाधिकारी ने उज्जवला योजना के तहत सावत्री देवी, रजनी देवी, दीपा देवी, माली देवी व बाली लाल को गैस कनेक्शन भी वितरित किये। इस दौरान जिला स्तरीय अधिकारियों ने विभिन्न विभागीय योजनाओं की जानकारी दी।

इस अवसर पर जोशीमठ ब्लाक प्रमुख प्रकाश रावत, क्षेत्र पंचायत सदस्य नरेन्द्र लाल, ग्राम प्रधान हेमा देवी, रमेश लाल, शिवचरण थपलियाल, विक्रम सिंह फर्सवाण, सुरेन्द्र सिंह फर्सवाण, सामाजिक कार्यकर्ता पुष्कर सिंह, दिनेश रावत, रघुवीर सिंह भण्डारी आदि जन प्रतिनिधियों सहित अपर जिलाधिकारी एमएस बर्निया, एसडीएम योगेन्द्र सिंह, तहसीलदार चन्द्र शेखर वशिष्ट, बीडीओ रमेश चन्द्र, जिला स्तरीय अधिकारी व भारी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave a Reply