बंगाल की अवाम भाजपा को सत्ता सौंपेगी: वैशाली डालमिया

बीसीसीआई और आईसीसी के पूर्व अध्यक्ष जगमोहन डालमिया की बेटी बैशाली डालमिया को भाजपा ने बंगाल विधानसभा चुनाव में हावड़ा के 169 बाली विधानसभा से अपना प्रत्याशी बनाया है। वैशाली डालमिया इसी सीट से टीएमसी से विधायक है। उन्होंने पार्टी के भीतर पार्टी के गलत नीतियों के खिलाफ आवाज बुलंद की थी। जिसके बाद खलबली मच गयी थी। उसके बाद जनवरी 2021 में डालमिया भाजपा से जुड़ गयीं।

वैशाली डालमिया ने कहा कि बंगाल की जनता अब सुशासन, विकास और सद्भाव चाहती है। आज की राजनीति परिवर्तन के दौर से गुजर रही है। राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य में देखें तो बंगाल विकास में काफी पीछे रह गया है। अब यहाँ की जनता परिवर्तन चाहती है। मारपीट, डर, अन्याय, कट मनी, जैसी प्रथा ने पूरे पश्चिम बंगाल की छवि खराब की है। जनता बदलाव को लेकर आतुर है।

उन्होंने कहा कि बंगाल अब राष्ट्र के साथ विकास में कदमताल करना चाहता है। बंगाल में विकास की राजनीति के लिए यहाँ की जनता सत्ता की चाबी भाजपा को सौंपेगी। उन्होंने कहा कि मोदी जी के कार्यकाल में राष्ट्र में व्यापक परिवर्तन हुए लेकिन बंगाल उससे अछूता रह गया। यहाँ पर राजनीति की परिभाषा को बदल दिया गया है। हिंसा की राजनीति से जनता के बीच भय का माहौल है। इस भय के जाल से जनता को निकालना आज समय की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि बाली विधानसभा समेत पूरे बंगाल में आज भाजपा के सभाओं में उमड़ रही भीड़ इस बात की गवाही है कि जनता परिवर्तन करने को तैयार है। डालमिया ने कहा कि आज सकारात्मक राजनीति की जरूरत है जिससे समाज के भीतर बेहतर बदलाव लाये जा सकें। इसके लिए दूरदर्शी सोच के साथ साफ़ और सही नियत की जरूरत है। आज के समय में सबके विकास की परिकल्पना का प्लान सिर्फ भाजपा के पास है।

उन्होंने कहा कि कुछ लोग झूठ की बुनियाद पर राजनीति करना चाहते हैं लेकिन झूठ की दीवार रेत से बनी होती है, वह जल्दी ढह जाती है। लोग मुझसे सवाल पूछते हैं कि मैंने पाँच साल क्या किया? मैं यह बताना चाहती हूँ कि मैंने जो काम किया है वह सिर्फ बाली की जनता नहीं बल्कि बंगाल की जनता जानती है। लॉक डाउन का वक्त रहा हो या फिर सामान्य समय जनता के लिए हमेशा दिन रात खड़ी रही हूँ। राजनीति कभी भी मेरे लिए सत्ता का माध्यम नहीं रहा है। यह मेरे लिए सेवा का माध्यम है।

पहले चरण की वोटिंग के बाद यह साफ़ हो गया है कि भाजपा बहुमत में आ रही है। बूथ पर भाजपा को लेकर जो उत्साह दिखाई पड़ रहा था उसने साफ कर दिया है बंगाल ने परिवर्तन के लिए अपना बटन दबा दिया है।

Leave a Reply