RJD के 22वें स्थापना दिवस पर तेजप्रताप का तेज, बोले- मैं पार्टी का बड़ा नेता
246

नितिन उपाध्याय/रवि..बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप का तेवर एक बार फिर सामने आया है उन्होंने पार्टी के 22वें स्थापना दिवस के अवसर पर कहा कि मैं पार्टी का सबसे बड़ा नेता हूँ।तेज के इस बयान ने लालू सहित पार्टी के कई बड़े नेताओं को भी छोटा साबित कर दिया है।

बता दें कि आज राष्टीय जनता दल यानि आरजेडी का आज 22वां स्थापना दिवस है।आज से 22 साल पहले जब लालू ने इस पार्टी को खड़ा किया था जब तेजप्रताप महज 7 साल के थे लेकिन आज वो अपने आप को पार्टी का सबसे बड़ा नेता बता रहे है।तेजप्रताप ने स्थापना दिवस पर बोलते हुए असमाजिक तत्वों को सीमा में रहने की चेतावनी दे ड़ाली।

आरजेडी के 22वें स्थापना दिवस पर तेजस्वी और तेजप्रताप ने कार्यक्रम का उद्घाटन किया। हालांकि इस कार्यक्रम में बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने शिरकत नहीं की है।इस मौके पर बोलते हुए तेजप्रताप ने कहा कि अगर तेजस्वी दिल्ली आएंगे तो मैं पार्टी का संगठन संभालूंगा।कार्यक्रम के शुरू होते ही तेजप्रताप के जिंदाबाद के नारे चारो ओर गूँजने लगे।

भाषण के दौरान तेजप्रताप ने एक नेता को डांटा और कहा कि क्या खुसुर-फुसुर कर रहे हो? बोलने क्यों नहीं देते हो।इस दौरान जब तेजप्रताप ने कहा कि गद्दी किसको मिलेगी, तब पीछे से कुछ आवाज आई. इस पर तेजप्रताप भड़क गए. उन्होंने कहा कि यही आप लोगों की डिमेरिट है। कुछ सिखाते हैं, तो सीखते क्यों नहीं? देखते नहीं यहां इतने सीनियर-सीनियर लोग बैठे हैं. सबसे सीनियर तो मैं हूं. इस मौके पर अब्दुल बारी सिद्दिकी और रघुवंश प्रसाद सिंह राम चंद्र पूर्वे जैसा नेता भी मौजूद थे।

आरजेडी के पटना में 22वें स्थापना दिवस के अवसर पर गहमागहमी का माहोल रहा।तेजप्रताप के संबोधन के अवसर पीछे से बार बार आवाज आती रही कई बार तेजप्रताप ने भी गुस्से में आकर कहा कि मुझे बोलने क्यों नहीं दे रहे हो।

News Reporter

Leave a Reply