पापा का स्पर्श,काश ! उस दिन ज्यादा बात कर लेता

पापा का स्पर्श,काश ! उस दिन ज्यादा बात कर लेता

On

घोंतू ! हां यही नाम था उनका। बचपन में हमेशा गले से घर्र-घर्र की आवाज जो करते थे। सेहत ऐसी की गोद लेने में दम फूल जाए। अपने नाना के घर गए तो नाना ने घर से बाहर खेलने पर रोक लगा…