प्रवीण तोगड़िया ने दिए राजनीति में आने के संकेत
88
रूपेश श्रीवास्तव। अयोध्या में  प्रवीण तोगड़िया पूरे एक्शन में है।  तो क्या तोगड़िया लोकसभा चुनाव भी लड़ेंगे? राम मंदिर बनाने के लिए  राजनीतिक भी होंगे तोगड़िया, उनके बयानों से तो ऐसा ही लग रहा है। अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष डॉक्टर प्रवीण तोगड़िया ने अयोध्या में राजनीति में आने का संकेत दिया है और इसकी घोषणा वह आज संकल्प सभा में भी कर सकते हैं। प्रवीण तोगड़िया ने संकेतों में कहा कि कुछ प्रमुख राम भक्तों के साथ विचार-विमर्श करेंगे जिसकी वह कल घोषणा कर सकते हैं। उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि वह एक हिंदूवादी सरकार देंगे एक ऐसा प्रधानमंत्री देंगे जो कुर्सी पर बैठते ही पहले अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कराए, जो पाकिस्तान को घुटने टेकने पर मजबूर करें, जो बेरोजगारों को रोजगार देने में समर्थ हो। उन्होंने कहा कि वर्तमान की भाजपा सरकार ने भगवान राम को भी चुनावी जुमला बना दिया। अब मंदिर नहीं तो वोट नहीं। तोगड़िया ने सीधा संकेत दिया कि वे राजनीति में उतर कर लोकसभा का चुनाव लड़ सकते हैं यानी सीधे तौर पर प्रवीण तोगड़िया भाजपा के पैरलल एक पार्टी खड़ी कर सकते हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि कल अयोध्या में संकल्प सभा के दौरान इसकी घोषणा भी कर सकते हैं वहीं तोगड़िया ने केंद्र सरकार पे बड़ा आरोप भी लगाते हुए कहा कि सरकार मुस्लिमों के आगे घुटने टेक चुकी है। 
 
अयोध्या में अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण भाई तोगड़िया ने रहस्य उद्घाटन करते हुए कहा कि केंद्र सरकार मुस्लिमों के समक्ष आत्मसमर्पण कर चुकी है और लखनऊ में बाबर के नाम से एक बड़ी मस्जिद का निर्माण कराने जा रही है उन्होंने कहा कि बाबर के नाम से देश में कहीं भी मस्जिद बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा जहाँ तक राम मंदिर निर्माण की बात है तो मंदिर निर्माण का वादा करके सत्ता में आई केंद्र की भाजपा सरकार ने अब राम मंदिर निर्माण के वादे को भी जुमला घोषित कर दिया है। उन्होंने कहा राम मंदिर नहीं तो अब भाजपा को वोट भी नहीं। तोगड़िया ने साफ़ संकेत दिए कि वे एक राजनितिक पार्टी  की घोषणा करेंगे जो लोकसभा चुनाव में उतर कर सरकार में आ सके,एक ऐसा हिंदुत्व वाला प्रधानमंत्री देंगे जो कुर्सी पर बैठते ही राम मंदिर का निर्माण शुरू करवा सके।

Leave a Reply