प्रवासी श्रमिकों के लिए कुक्कुट पर प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ

महायोगी गोरखनाथ कृषि विज्ञान केंद्र चौक माफी पीपीगंज गोरखपुर द्वारा प्रवासी मजदूरों को “गरीब कल्याण रोजगार अभियान” के अंतर्गत जीविकोपार्जन हेतु मुर्गी पालन विषय पर दक्षता विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक व अध्यक्ष डॉ आर पी सिंह द्वारा किया गया।

कार्यक्रम में प्रवासी श्रमिकों को संबोधित करते हुए उद्यान वैज्ञानिक डॉ अजीत श्रीवास्तव द्वारा किसानों को मुर्गी पालन के साथ-साथ सब्जियों फलों के साथ मुर्गी पालन के बारे में बताया गया। कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए मुख्य वक्ता के रुप मे पशुपालन वैज्ञानिक डॉ विवेक प्रताप सिंह ने किसानों को आय बढ़ाने के लिए मुर्गी पालन को व्यवसाई का स्तर पर करने के लिए बताया गया

प्रशिक्षण में किसानों को ब्रायलर उत्पादन अंडा उत्पादन बैकयार्ड पोल्ट्री कर कृषक अपनी आए और अपने जीवन स्तर में सुधार कर सकते हैं कृषकों को ब्रायलर उत्पादन अंडा उत्पादन एवं बैकयार्ड पोल्ट्री जैसे छोटे छोटे व्यवसाय को स्थापित करने के बाद इसको बड़े स्तर पर कर सकते हैं मुर्गी के चूजे का प्रबंधन ब्रूडिंग आहार रोग प्रबंधन और बैकयार्ड पोल्ट्री में कड़कनाथ वनराजा अश्लील ग्रामप्रिया आदि नियमों के बारे में जानकारी दिया गया।

डॉक्टर सिंह द्वारा बताया गया कि कम जगह में किस प्रकार छोटे छोटे स्तर पर मांस अंडा का उत्पादन करके कृषक अच्छा आमदनी प्राप्त कर सकता है कार्यक्रम में मृदा वैज्ञानिक डॉक्टर संदीप प्रकाश उपाध्याय ने कृषको को वर्मी कम्पोस्ट मृदा जांच उपयोगिता के बारे में जानकारी दी। प्रसार वैज्ञानिक डॉ राहुल सिंह द्वारा किसानों को मधुमक्खी पालन के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई और उनके द्वारा बताया गया की संगठित होकर एक समूह में काम करें जिससे उनको अच्छा लाभ प्राप्त हो सके।

प्रशिक्षण में डॉ अवनीश सिंह ने प्रवासी मजदूरों को फसल चक्र का महत्व, फसल उत्पादन, समेकित फसल प्रबंधन आदि विषय पर विस्तृत जानकारी प्रवासियों को दी । कार्यक्रम में श्री जितेंद्र सिंह श्री गौरव सिंह श्री आशीष कुमार सिंह के साथ-साथ चरगवां, पिपराइच, पाली, भटहट, जंगल कौड़िया और कैंपियरगंज के 30 प्रवासी मजदूरों ने प्रतिभाग किया ।

Leave a Reply