करनाल सीट की अटकलों को मेनका ने खारिज किया,पार्टी का निर्णय सिर माथे
43
पीलीभीत उप्र 27 फरवरी। केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी अपने संसदीय क्षेत्र में लगातार दौरा कर रही है। उनके चुनाव लड़ने के लिए लोग तरह तरह जी अटकलें लगा रहे है, पर मेनका ने सीट को लेकर कभी कोई बात अभी तक नही कही। इस बीच एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने साफ करते हुए करनाल सीट से चुनाव लड़ने की बात को सिरे से खारिज कर दिया। कहा अभी कुछ तय नहीं हुआ है। बड़प्पन दिखाते हुए यह बात खुले शब्दों में कह दी कि लेकिन जो पार्टी कहेगी वोही सर आंखों पर होगी।
पिछला चुनाव रिकार्ड मतों से जीतने वाली केंद्रीय मंत्री महिला एंव बाल विकास मेनका संजय गांधी के चुनाव लड़ने को लेकर तरह तरह की चर्चाएं चल रही है। कभी यह कि मेनका और वरुण कांग्रेस में जा रहे है या वे करनाल या नैनीताल से चुनाव लड़ेंगी। अब इस चर्चा ने जोर पकड़ा है कि फिरोज़ वरुण गांधी पीलीभीत से लड़ रहे है। यह सब पिछले कई दिन से मीडिया और सोशल मीडिया पर चल रहा है।
पिछले चुनाव में भाजपा ने उन्हे स्टार प्रचारक बनाया था। सरकार बनने के बाद उनका कद दिन पर दिन कम होता गया। उसके बाद उनके पार्टी विरोधी बयान आये थे। तब से चर्चाएं थीं कि राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और वरूण गांधी तीनों का आपस में मिलना जुलना भी बहुत है। चर्चा में था कि प्रियंका के आने के बाद वरूण गांधी को उत्तर प्रदेश की कमान सौंपने की तैयारी है। यह बात भी किसी से छुपी नहीं कि सोनिया और मेनका के बीच नहीं बनती!
मेनका के हाल के बयान से साफ है कि पीलीभीत छोड़ने की बात निराधार है। लेकिन पिछला चुनाव बेटे वरूण गांधी के लिए उन्होंने पीलीभीत की सीट छोड़ आंवला लोकसभा से  लड़ा था। चर्चाएं अब यह भी हैं कि है कि मेनका राजनीति से सन्यास
ले सकती है। हालांकि इस में अभी कोई दम नही है क्योंकि इसके कोई ठोस परम्कअन भी नहीं हैं। यह जरूर लग रहा है कि वरूण की ताजपोशी पीलीभीत लोकसभा सीट से कराई जा सकती है। इस प्रकार के संकेतों को वीएम सिंह गट के लोग ज्यादा वल दे रहे है। उनके ग्रुप में इस तरह की चर्चाओं को ज्यादा वल दिया जा रहा है।

Leave a Reply