5 हज़ार किलोमीटर की यात्रा द्वारा, नदी बचाओ जागरूकता अभियान
250
नई दिल्ली, 24 जनवरी।  तमिलनाडु की जॉली रनर्स नामक टीम के सदस्यों ने नदी बचाओ जागरूकता  के लिए  लगभग 5428.55 km की। यात्रा द्वारा  इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में अपना नाम दर्ज़ किया।  नदी बचाओ जागरूकता अभियान का मकसद लोगो को जागरूक करना था। नदी बचाओ जागरूकता मुहिम के तहत जॉली रनर्स टीम के सदस्यों “धयानीथी परधमान, राजावेलु गोपाल, रवि पचैयप्पन, मुरली रवि और राधाकृष्णन मुरुगेसन” ने 51 दिन चले  जागरूकता अभियान को जारी रखा और अपना नाम  इंडिया बुक और रेकॉर्डस में दर्ज किया
नदी बचाओ जागरूकता अभियान का मकसद लोगो तक  यह सन्देश पहुंचना था, जिसे की वे नदी में कूड़ा-कड़कट नदी में न डाले और नदी को साफ रखे, जिसे बीमारिया तो बढ़ ही रही हैं और कहीं न कहीं यह लोगों की मृत्यु का कारण भी बन रही है यह सन्देश देकर लोगों को जागरूक किया। जॉली रनर्स के हर एक सदस्य ने लगभग 1085.71 Km की दूरी तय की जो की इतना आसान नहीं था, नदी बचाओ जागरूकता अभियान के दौरान टीम के सदस्य जख्मी भी हुए। अपनी जॉब्स के साथ जॉली रनर्स ने इस अभियान को भी जारी रखा।
  • इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में  दर्ज़ हुआ नाम
  • 51 दिन तक चला नदी बचाओ जागरूकता अभियान
  • 5428.55 km की दुरी तय कर कायम किया रिकॉर्ड
  • नदी बचाओ जागरूकता अभियान से किया लोगो को जागरूक  
सामान्यतय: दौड़ सुबह 5 बजे शुरू की जाती थी और 7 या 7 :30 दौड़ को समाप्त किया जाता था। प्रत्येक सदस्य अलग-अलग गांव की यात्रा को तय करता था और इसी प्रकार पाँचो सदस्य हर रोज 21 km की दौड़ तय करते थे। कभी जख्मी होने के कारण टीम के सदस्य सुबह की बजाये शाम को भी दौड़ा करते थे, इसी प्रकार 51 दिन तक नदी बचाओ जागरूक अभियान को जारी रख कर लोगो को जागरूक तो किया ही साथ ही इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में नाम भी कायम किया।

Leave a Reply