चौरी-चौरा जनक्रान्ति की शताब्दी वर्ष मनाये जाने के संबंध में विस्तृत कार्ययोजना पर चर्चा

आज दिनांक 07.01.2021 को पर्यटन भवन, गोमतीनगर, लखनऊ में चौरी-चौरा जनक्रान्ति की शताब्दी वर्ष बनाये जाने की तैयारियों हेतु डॉ0 नीलकंठ तिवारी, राज्यमंत्री, संस्कृति पर्यटन, धर्मार्थ एवं प्रोटोकॉल विभाग, उ0प्र0 की अध्यक्षता में बैठक आहूत की गयी। बैठक में दिनांक 04 फरवरी, 2021 से दिनांक 04 फरवरी, 2022 तक सम्पूर्ण वर्ष में चौरी-चौरा जनक्रान्ति की शताब्दी वर्ष मनाये जाने के संबंध में विस्तृत कार्ययोजना पर चर्चा की गयी।

इसमें कमिश्नर, गोरखपुर एवं जिलाधिकारी, गोरखपुर द्वारा भी वर्चुअल माध्यम से प्रतिभाग किया गया। बैठक में प्रमुख सचिव, संस्कृति मुकेश कुमार मेश्राम ने अगले एक साल की कार्ययोजना प्रस्तुत की, जिसके अन्तर्गत चौरी-चौरा स्थल का पर्यटन एवं संस्कृति की दृष्टि से विकसित किये जाने, वहां पर म्यूजियम बनाये जाने एवं फाइन आर्ट विभाग के माध्यम से उक्त म्यूजियम में आर्ट गैलरी, भित्तिचित्र एवं राजकीय अभिलेखागार एवं राष्ट्रीय अभिलेखागार में संरक्षित चौरी-चौरा की घटना से संबंधित समान अभिलेखों को भी डिस्पले किये जाने की बात कही, जिससे जनमानस को स्मारक से जोड़ा जा सके।

इसके अलावा सालभर उ0प्र0 के ऐसे स्थलों को जोकि स्वतंत्रता संग्राम के आंदोलन से जुड़े हुये हैं, उनको चिन्हित कर उनके सौन्दर्यीकरण, सुदृढ़ीकरण किया जाएगा एवं वहां पर पर्यटन विभाग के सहयोग से लाइट एण्ड सॉउड शो भी कराये जायेंगे। इस अवसर पर स्वतंत्रता संग्राम स्थलों की गाथा की डॉक्यूमेंट्री तैयार कर सभी शैक्षिक संस्थानों में चलायी जाएगी ताकि हमारी भावी पीढ़ी को स्वतंत्रता संग्राम की गाथा से जोड़ा जा सके।

राज्य मंत्री, संस्कृति एवं पर्यटन द्वारा चौरी-चौरा शहीद स्मारक के सुदृढ़ीकरण कराते हुये मुख्य मार्ग से जोड़ने के निर्देश भी दिये गये। साथ ही यह भी निर्देश दिये गये कि वर्षभर आयोजन करते हुये शहीदों के परिवार के लोगों को इस आयोजन में आमंत्रित करते हुये उनको आयोजन से जोड़ा जाये एवं सम्मानित किया जाये। साथ ही स्कूल एवं कॉलेजों में छात्र-छात्राओं की क्विज प्रतियोगिता करायी जाये तथा विजय छात्र-छात्राओं को देश के प्रमुख स्वतंत्र संग्राम स्थलों का भ्रमण कराया जायेगा ।

Leave a Reply