शासनादेश के विरोध में बेरोजगार बीटीसी प्रशिक्षुओ ने खोला मोर्चा
132

कन्हैया लाल यादव/..बलरामपुर उत्तर प्रदेश शासन के शासनादेश के विरोध में प्रदर्शन कर  बेरोजगार बीटीसी प्रशिक्षुओं ने मानव संसाधन मंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन जिला अधिकारी को सौंपा।बीएड् डिग्रीधारकों को सहायक अध्यापक बनाये जाने के शासनादेश का विरोध शुरू हो गया हैं। बीटीसी बेरोजगारों और प्रशिक्षुओं ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर सरकार के इस शासनादेश के खिलाफ जमकर विरोध जताया है बीटीसी बेरोजगारों का कहना है कि पूरे प्रदेश में पहले से ही करीब तीन लाख बीटीसी डिग्रीधारक बेरोजगार बैठे है उन्हें नौकरी नहीं मिल रही है सरकार के इस शासनादेश से करीब 15 लाख बीएड् डिग्रीधारक भी इसी कतार में शामिल हो जाएंगे फिर उन्हे नौकरी नहीं मिलेगी।

बीटीसी डिग्रीधारक कक्षा एक से पांच तक कक्षाओं को पढ़ा सकते है जबकि बीएड् डिग्री धारक इंटर तक की कक्षाओं को पढ़ा सकते है। बीटीसी बेरोजगारों का आरोप है कि 2019 के चुनाव को देखते हुए सरकार ने ये शासनादेश लाकर बीटीसी बेरोजगारों के साथ अन्याय किया है। यदि सरकार अपना शासनादेश वापस नहीं लेती है तो आन्दोलन करने के साथ साथ बीटीसी प्रशिक्षु चुनाव में शासनादेश जारी करने वाली सरकार का  विरोध करेंगे। बीटीसी बेरोजगारों और प्रशिक्षुओं ने मानव संसाधन विकास मंत्री के नाम सम्बोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौपा कर शासन आदेश को वापस लेने की मांग की है

 

News Reporter

Leave a Reply