अमेठी : संपूर्ण समाधान दिवस में पहुंचे DM, 20 कर्मचारियों पर गिरी गाज

कृष्ण कुमार

उच्चाधिकारियों द्वारा निर्देशित किए जाने के बावजूद सरकारी नुमाइंदों की लेटलतीफी उस समय महंगी पड़ गई जब जिलाधिकारी अमेठी अरुण कुमार संपूर्ण समाधान दिवस में शरीक होने के लिए सुबह लगभग 10:05 पर ही पहुंच गए । उस समय अमेठी तहसील के कई अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे थे । जिस पर नाराजगी जाहिर करते हुए जिलाधिकारी महोदय ने तत्काल उपस्थिति रजिस्टर मंगाकर तहसील में कार्यरत सभी अधिकारियों की उपस्थिति का अवलोकन किया । जिसके पश्चात यह पता चला कि लगभग 20 कर्मचारी पहुंचे ही नहीं हैं।

जिस पर कड़ी नाराजगी जताते हुए जिलाधिकारी महोदय ने सभी कर्मचारियों का 1 दिन का वेतन रोकते हुए उनको स्पष्टीकरण देने के लिए निर्देशित किया । इसके उपरांत संपूर्ण समाधान दिवस की कार्यवाही शुरू की गई जिसमें फरियादियों के द्वारा पहुंचकर सभी जिला स्तरीय अधिकारियों के सम्मुख अपनी समस्याओं को अवगत कराया गया । जिस पर जिला स्तरीय अधिकारियों ने संबंधित अधिकारियों को त्वरित कार्यवाही के निर्देश दिए ।

इस मामले में जिला अधिकारी अमेठी अरुण कुमार ने बताया कि आज के संपूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर लगभग 80 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए हैं । जिसमें लगभग 10 टीमें बना दी गई है जो मौके पर जा रही हैं । उन टीमों को आज ही समस्याओं का समाधान करने का निर्देश दिया गया है । इसके साथ ही उप जिला अधिकारी अमेठी को निर्देशित किया गया है कि जो भी शिकायतें हैं उनका गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करें । जिससे शिकायतकर्ता संतुष्ट हो सके ।

आज के इस संपूर्ण समाधान दिवस में भूमि विवाद संबंधी शिकायतें ज्यादा प्राप्त हुई हैं । इसी के साथ मतदाता सूची को लेकर तमाम शिकायतें प्राप्त हुई हैं । जिस में अनावश्यक रूप से नाम जोड़ा गया है अथवा घटा दिया गया है । उसमें अलग से निर्देशित किया गया है भूमि विवाद में पुलिस तथा राजस्व की संयुक्त टीम बनाकर निस्तारण किया जाए ।

मतदाता सूची में शिकायत के निस्तारण हेतु सभी बीएलओ को इस बात के लिए निर्देशित किया गया है कि वह अगले 10 दिन तक अपने अपने क्षेत्र में रुके । जिस का निरीक्षण एसडीएम के द्वारा भी किया जाए । जो शिकायतें संपूर्ण समाधान दिवस अथवा अन्य माध्यमों से प्राप्त होती हैं उनका निस्तारण वही किया जाए और उसमें पुलिस बल का भी सहयोग लिया जाए । कई बार ऐसी शिकायतें मिलती हैं कि किसी के दबाव में आकर बीएलओ सही काम नहीं कर पा रहा है । इसके लिए पुलिस को भी निर्देशित किया गया है कि वह टीम बनाकर वहां भी जाए और ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनके ऊपर कार्यवाही करें।

Leave a Reply