Log in

 

updated 12:34 PM UTC, Jun 23, 2017
Headlines:

आयुर्वेद की पहचान आज पूरी दुनिया में ग्लोबल आयुर्वेद सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

आयुर्वेद की पहचान आज पूरी दुनिया में ग्लोबल आयुर्वेद सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नमामि भारत

कोझिकोड (केरल) : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैश्विक आयुर्वेद महोत्सव (जीएएफ) में ‘विजन कान्क्लेव' का उद्घाटन किया । लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अयुर्वेद दुनिया कि सबसे कारगर और पुरानी चिकित्सा पद्धतियों में से एक है और अभी इसमें काफी संभावनाएं और रिसर्च की जरुरत है। यह सम्मेलन दो साल आयुर्वेद के क्षेत्र का सबसे बड़ा आयोजन माना जाता है। वैश्विक आयुर्वेद महोत्सव केरल सरकार, और केन्द्र सरकार के आयुष विभाग के साथ मिलकर ‘सेंटर फॉर इनोवेशन इन साइंस एंड सोशल एक्शन' कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां आयुर्वेद कार्यक्रम में कहा कि आयुर्वेद की संभावनाओं का अबतक पूरा उपयोग नहीं हो पाया है। जबकि स्वास्थ्य को लेकर आयुर्वेद की पहचान आज पूरी दुनिया में बढ रही है। उन्होंने कहा कि आयुर्वेद से बहुत सारे स्वास्थ्यगत समस्याओं का समाधान संभव है वैश्विक आयुर्वेद महोत्सव में  ‘विजन कान्क्लेव' में  जनता को आयुर्वेद के बारे में सभी तरह की जानकारी भी दी जा रही है।
ग्लोबल आयुर्वेद सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आने पर युवा कांग्रेस के करीब 200 कार्यकर्ताओं ने राजग सरकार के कथित लोक-विरोधी नीतियों के खिलाफ कारीपुर हवाई अड्डे के नजदीक प्रदर्शन किया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों हवाई अड्डा पहुंचने के पहले ही रोक दिया। प्रदर्शनकारी हैदराबाद विश्वविद्यालय के दलित शोधार्थी रोहित वेमुला की तस्वीर लगे हुये बैनर हाथों में लिये हुये थे। प्रदर्शनकारियों के हटाये जाने के बाद प्रधानमंत्री का काफिला बैठक के आयोजन स्थल की ओर रवाना हो गया।

प्रधानमंत्री की इस केरल यात्रा को आगामी विधानसभा चुनाव से जोड़कर भी देखा जा रहा है। गौरतलब है कि केरल में 2016 में चुनाव होने हैं जिसकी तैयारियों का जायजा लेने के लिए चुनाव आयोग तीन से पांच फरवरी के बीच यहां का दौरा करेगा और वहां राज्य प्रशासन के अधिकारियों एवं राजनीतिक दलों सहित दूसरे हितधारकों के साथ बातचीत करेगा. तीनों चुनाव आयुक्त चुनाव आयोग के दूसरे वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अगले हफ्ते तीन दिनों के लिए तमिलनाडु और पुडुच्चेरी का भी दौरा कर सकते हैं।

अप्रैल-मई में पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और पुडुच्चेरी में विधानसभा चुनाव होने की संभावना है। चुनाव आयोग पहले ही चुनाव की तैयारियों का जायजा लेने के लिए पश्चिम बंगाल और असम का दौरा कर चुका है।जहां तमिलनाडु एवं पश्चिम बंगाल की विधानसभाओं का कार्यकाल मई में खत्म होने वाला है वहीं केरल, पुडुच्चेरी और असम की विधानसभाओं का कार्यकाल जून में खत्म होगा। मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी और साथी आयुक्त ए के ज्योति और ओ पी रावत बुधवार को केरल पहुंचेंगे और पांच फरवरी को दिल्ली लौटेंगे। चुनाव आयोग मार्च में पांचों राज्यों के चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करेगा।

Last modified onTuesday, 02 February 2016 09:32

1632 comments

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px