Log in

 

updated 9:21 AM UTC, Oct 17, 2017
Headlines:

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्री जेपी नड्डा ने प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्‍व अभियान यानि पीएमएसएमए का शुभारंभ किया। इस मौके पर जेपी नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्‍द्र मोदी के विजन को आगे बढ़ाते हुए लांच किए गए।

 

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्‍व अभियान का उद्देश्‍य सुरक्षित गर्भावस्था और सुरक्षित प्रसव के जरिए मातृ एवं नवजात शिशु मृत्यु दरों को कम करना है। इस राष्‍ट्रीय कार्यक्रम के जरिए देश भर में लगभग 3 करोड़ गर्भवती महिलाओं को विशेष मुफ्त प्रसव पूर्व देखभाल मुहैया कराई जाएगी, ताकि उच्‍च जोखिम वाले गर्भधारण का पता लगाने के साथ-साथ इसकी रोकथाम की जा सके। नड्डा ने कहा कि इस राष्‍ट्रव्‍यापी कार्यक्रम के तहत हर महीने 9 तारीख को गर्भवती महिलाओं को सुनिश्‍चित, व्‍यापक एवं उच्‍च गुणवत्‍तापूर्ण प्रसव पूर्व देखभाल मुहैया कराई जाएगी।

 

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा कि गर्भवती महिलाएं अब सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों पर अपनी दूसरी या तीसरी तिमाही में स्त्री रोग विशेषज्ञों, चिकित्सकों द्वारा मुहैया कराए जाने वाले विशेष प्रसव पूर्व चेक-अप का लाभ उठा सकती हैं। यह सुविधा निजी क्षेत्र के डॉक्‍टरों के सहयोग से मुहैया कराई जाएगी, जो सरकारी क्षेत्र के प्रयासों के पूरक के तौर पर उपलब्‍ध होगा।

 

ग्रामीण एवं शहरी दोनों ही क्षेत्रों में चिन्‍हित स्‍वास्‍थ्‍य सेवा केंद्रों पर सामान्‍य प्रसव पूर्व चेक-अप के अलावा अल्ट्रासाउंड, रक्त और मूत्र परीक्षण सहित इन सेवाओं को उपलब्‍ध कराया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि इसका एक उद्देश्‍य उच्‍च जोखिम वाले गर्भधारण का पता लगाना और इस दिशा में समुचित कदम उठाना है, ताकि एमएमआर और आईएमआर में कमी संभव हो सके।

 
Last modified onFriday, 04 November 2016 16:45

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px