Log in

 

updated 10:09 AM UTC, Jan 18, 2017
Headlines:

हरित प्रयासों को और गति प्रदान करने तथा प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान को लागू करने के लिए रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने रेल भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में पश्चिमी रेलवे के ग्रीन कॉरिडोर गुजरात स्थित "ओखा - कनालुस और पोरबंदर - वंसजलिया खंड का उद्घाटन किया और इन्हें देश को समर्पित किया। इस अवसर पर रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि भारतीय रेलवे देश का सबसे बड़ा वाणिज्यिक संगठन है जो लगातार पर्यावरण अनुकूल प्रक्रियाओं को अपना रहा है ताकि पर्यावरण के स्तर में गिरावट न आए।

उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे को अपने अस्तित्व के बाद से ही रेलवे लाइनों को मानव अपशिष्ट निर्वहन से मुक्त बनाने की समस्या से जूझना पड़ रहा है। लेकिन अब सभी नई और मौजूदा रेलों में बायो टॉयलट लगाए जाऐंगे और आने वाले समय में सभी रेलवे लाइनों को मानव अपशिष्ट निर्वहन से पूरी तरह से मुक्त बना दिया जाएगा। उन्होंने आम जनता से भी यह अपील की है कि वे इन बायो टॉयलट को ठीक उपयोग करें और पानी की बोतलें, माचिस की डिब्बियों जैसे ठोस अपशिष्टों को इन बायो टॉयलट में न फेंके अन्यथा ये काम करना बंद कर देंगे। 

प्रधानमंत्री द्वारा शुरू किए गए 'स्वच्छ भारत अभियान' मिशन में योगदान देने के लिए रेल मंत्रालय ने अपने सभी डिब्बों में मानव अपशिष्ट मुक्त बायो टॉयलट उपलब्ध कराने का विशाल कार्य शुरू किया है जिसे 2021-22 तक पूरा कर लिया जाएगा। सभी डिब्बों में बायो टॉयलट लगाने के प्रावधान से रेलों से मानव अपशिष्ट पूरी तरह से जमीन पर गिरना बंद हो जाएगा जिससे रेलवे ट्रेकों में स्वच्छता और साफ-सफाई की स्थिति में सुधार लाने में मदद मिलेगी।

रेल मंत्रालय ने पहले ही 14,000 यात्री डिब्बों में 48,000 बायो टॉयलट की व्यवस्था कर दी है। अभी तक 14,000 बायो टॉयलट को रेलों के डिब्बों में फिट किया जा चुका है और रेल डिब्बों में अतिरिक्त 16,000 बायो टॉयलट लगाने की योजना बनाई गई है। रेल यात्रियों को साफ-सुथरा वातावरण उपलब्ध कराने और स्टेशन परिसरों,पटरियों को साफ रखने के लिए अपनी प्रतिबद्धता के रूप में भारतीय रेल ने अपने यात्री डिब्बों में पर्यावरण अनुकूल बायो टॉयलट विकसित किए हैं। रेल यात्री डब्बों के लिए इस प्रौद्योगिकी का विकास भारतीय रेलवे ने रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के साथ संयुक्त रूप से किया है। बायो टॉयलट फिट डिब्बों में, मानव अपशिष्ट शौचालय के टैंक में एकत्र किया जाता है और इसे बैक्टीरियाओं की मदद से विघटित किया जाता है

Last modified onThursday, 20 October 2016 04:02

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px