Log in

 

updated 12:34 PM UTC, Jun 23, 2017
Headlines:

सुभारती विवि में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया राष्ट्रीय युवा दिवस

राष्ट्रीय युवा दिवस नमामि भारत राष्ट्रीय युवा दिवस

मेरठ। स्वामी विवेकानन्द जी की 154 वीं जयंती और राष्ट्रीय युवा दिवस के उपलक्ष्य में बुधवार को स्वामी विवेकानंद सुभारती विश्वविद्यालय के मांगल्य प्रेक्षागृह में भव्य समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान श्री रामकृष्ण सेवा समिति’, लखनऊ के उपाध्यक्ष हीरा सिंह  ने स्वामी विवेकानंद के जीवन से जुड़े विभिन्न पहलुओं और युवाओं को दिए गए संदेश से छात्रों को अवगत कराया।

 

कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य वक्ता द्वारा दीप प्रज्ज्वलन कर किया गया। मां सरस्वती की वंदना के बाद विवि के कुलपति डॉ.एन.के.आहूजा ने मुख्य वक्ता का स्वागत किया। उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि सुभारती विश्वविद्यालय स्वामी जी के आदर्शों पर चल रहा है। विवि का मूल ध्येय शिक्षा, सेवा और संस्कार है।

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता हीरा सिंह ने कहा कि स्वामी जी एक महान संन्यासी, योगी, धर्म प्रचारक, समाज सुधारक, राष्ट्रभक्त, युगनायक और बहुआयामी महापुरुष थे। स्वामी जी का विश्वास युवा पीढ़ी में रहा है। वह युवाओं को दिशा देने के प्रणेता हैं, स्वामी जी ने युवाओं के बारे में कहा था कि आज का युवा चौराहे पर है और उनका झुकाव वैश्विकता की ओर है। राष्ट्र निर्माण में उन्होंने युवा शक्ति को अहम बताया जिसका नियोजन अति आवश्यक है। मुख्य वक्ता ने लाइफ विदआउट लिम्ब्सऔर हरि- द लॉयन दो वृत्तचित्रों के माध्यम से युवा शक्ति को जागृत करने का प्रयास किया।इस अवसर पर संस्कृति विभाग के सहायक सचिव कुलदीप नारायण के निर्देशन में छात्र-छात्राओं ने स्वामी विवेकानंद के प्रिय बांग्ला गीतों को सुरों से सजाया। पत्रकारिता संकाय की छात्राओं ने डॉ. नीरज कर्ण सिहं के निर्देशन में समूह गान ‘’जय जगत’’ की प्रस्तुति दी। बाल कलाकार दिव्य ने स्वामी विवेकानंद जी के शिकागो की धर्म संसद में दिए गए उद्बोधन को मंच पर जीवंत किया। कार्यक्रम के दौरान विश्वविद्यालय में पूर्व में आयोजित क्रीड़ा प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम का धन्यवाद ज्ञापन सुभारती विश्वविद्यालय की अध्यक्ष डॉ. शैल्या राज ने किया।   

इस मौके पर प्रति कुलपति डॉ. वी.के. भटनागर,  सभी संकायों के प्राचार्य, निदेशक, विभागाध्यक्ष, प्रवक्ता एवं विभिन्न संकायों के सैकड़ों छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे। कार्यक्रम का समापन डॉ. भावना ग्रोवर के निर्देशन में राष्ट्रगीत प्रस्तुत कर किया गया। मंच संचालन डॉ. नीरज करण सिंह और डॉ. विवेक संस्कृति ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में सुभारती विवि की स्वामी विवेकानंद जयंती समारोह समिति के विभिन्न सदस्यों ने अहम भूमिका अदा की।  

 

 जिनकी रगों में दौड़ा देशप्रेम बन ज्वालामुखी, जिनकी अंगुलियों ने राष्ट्र की सही परिभाषा लिखी।

जिनके आशीष से सभी मंद-मंद मुस्काते हैं, वो आदरणीय विवेकानंद कहलाते हैं।

134 comments

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px