Log in

 

updated 8:08 AM UTC, Apr 24, 2018
Headlines:

मक्का मस्जिद ब्लास्ट में स्वामी असीमानंद सहित सभी आरोपी बरी

रवि उपाध्याय/ साल 2007 में हुए मक्का मस्जिद विस्फोट की सुनवाई NIA की विशेष अदालत में चल रही थी जिसमें आज कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए असीमानंद सहित सभी आरोपियों को बरी कर दिया है।NIA कोर्ट इन सभी आरोपियों के खिलाफ कोई ठोस सबूत नहीं जुटा पाया है।

 

बताते चलें कि इस धमाके में 9 लोगों की जान चली गयी और 58 लोग घायल हो गये थे।इस धमाके का केस NIA मामलों की चतुर्था अतिरिक्त मेट्रोपोलिटन सत्र सह विशेष अदालत में चल रहा था। इस केस की सुनवाई इस अदालत ने पूरी करने के बाद इसका फैसला 16 अप्रैल तक टाल दिया था।

 

साल 2007 में 18 मई को जुमे की नमाज के दौरान यह विस्फोट हुआ था।पुलिस की शुरूआती छानबीन के बाद यह मामला सीबीआई को दे दिया गया था।लेकिन साल 2011 में CBI ने यह मामला NIA राष्ट्रीय जांच एजेंसी को दे दिया था।

 

इस विस्पोट मामले में स्वामी असीमानंद सहित देवेन्द्र गुप्ता, लोकेश शर्मा, लक्ष्मणदास महाराज, मोहनलाल रातेश्वर, राजेन्द्र चौधरी, भारत मोहनलाल रातेश्वर, रामचन्द्र कलसांगरा, संदीप डांगें, और सुनील जोशी पर आरोप लगे थे।

 

इन आरोपियों में रामचन्द्र कलडांगरा व संदीप डांगे फरार चल रहे है और सुनील जोशी की मृत्यु हो चुकी है।

 

NIA कोर्ट में चल रही इस केल की सुनवाई के दौरान 226 चश्मदीदों के बयान दर्ज किये गये थे जिसमें 64 गवाह कोर्ट के सामने मुकर गये थे।

 

NIA ने सबूत जुटाने के लिए काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा और न्यायालय ने पुख्ता सबूतों के अभाव में असीमानंद सहित आरोपियों को बरी करना पड़ा।

Last modified onMonday, 16 April 2018 10:19

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px