Log in

 

updated 1:03 PM UTC, Aug 18, 2017
Headlines:

17 मोटरसाइकिलों के साथ पकडे गये शातिर चोर

गणेश दूबे/सोनभद्र। सोनभद्र जिले में पुलिस कप्तान के निर्देश पर अपराधियों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान के तहत बुधवार को शाहगंज थाना पुलिस ने 17 बाईकों के साथ 4 लोगों को गिरफ्तार कर चालान कर दिया। प्रेस वार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक राम प्रताप सिंह ने बताया कि शाहगंज पुलिस ने हनुमान मंदिर तिराहा शाहगंज पर निरीक्षक राजकुमार सिंह प्रभारी स्वाट टीम व अरविंद कुमार यादव थानाध्यक्ष थाना शाहगंज द्वारा अपने हमराही कर्मचारीगण के साथ सक्रिय अपराधियों के संबंध में वार्ता की जा रही थी कि जरिए मुखबिर सूचना मिली कि विकास फिलिंग स्टेशन शाहगंज पर चार शातिर चोर, चोरी की मोटरसाइकिल के साथ हैं और अपनी अपनी गाड़ियों में पेट्रोल भरा रहे हैं, जो कुछ दिनों पूर्व ही चुराई गई थी।

 

उक्त सूचना पर विश्वास कर निरीक्षक राजकुमार सिंह प्रभारी स्वाट टीम व अरविंद कुमार यादव थाना अध्यक्ष थाना शाहगंज मुखबिर को साथ लेकर विकास फिलिंग स्टेशन पर पहुंचे। पुलिस को अचानक अपनी तरफ आते हुए देखकर चार मोटर साइकिलो पर सवार चार व्यक्तियों ने भागने की कोशिश की लेकिन पुलिस टीम ने इन्हे घेरकर पकड लिया।

 

पकड़े गए चार व्यक्तियों में संतोष कुमार उर्फ पिंटू पुत्र अयोध्या प्रसाद निवासी भवना थाना घोरावल, मनोज कुमार पुत्र रामदेव मौर्य निवासी भावना थाना घोरावल, राजन मौर्य पुत्र ओंकार मौर्य निवासी बंदरदेवा थाना करमा, राजेश कुमार पटेल पुत्र राम जनम सिंह निवासी खुड़िया थाना करमा सोनभद्र हैं। पकड़े गए चार व्यक्तियों के पास से चोरी की चार मोटर साइकिल कं0सं0 पैसन प्रो, पैसन प्रो ,HF Deluxe, CD डॉन बरामद हुई। पूछताछ के दौरान चारो व्यक्तियों ने बताया कि उनके पास चोरी की गई मोटरसाइकिल है जो छिपाकर विभिन्न स्थानों पर रखे हैं।

 

अभियुक्तगणों की निशानदेही पर अभियुक्तगण मनोज कुमार के घर के आँगन से 7 अदद मोटरसाइकिल तथा अभियुक्त राजेश कुमार के घर से 6 अदद मोटरसाइकिल सहित कुल 17 मोटरसाइकिल बरामद हुई, मोटरसाइकिल ने बताया कि अपने साथी शैलेश मौर्य पुत्र राजेन्द्र मौर्य निवासी शिवपुर अरुआँव थाना शाहगंज सोनभद्र के साथ मिलकर हम लोग जनपद वाराणसी, जनपद मिर्जापुर , जनपद चंदौली व जनपद सोनभद्र के विभिन्न स्थानों से उक्त मोटरसाइकिल को चुराया हैं। इन गाड़ियों को ये लोग उनका नंबर, इंजन नंबर चेन नंबर बदलकर व फर्जी रजिस्ट्रेशन पेपर, फर्जी कागजात तैयार कराकर बेच देते थे।

वाराणसी में बढती जा रही चोटी कटने की घटनाएं

कष्णा गिरि/वाराणसी। वाराणसी में चोटी कटने की घटनाओं पर विराम नहीं लग पा रहा है और यह रहस्य दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है| ऐसी घटनाओं के आगे सब बेबस नजर आ रहे हैं |हमारा विज्ञान भी यह पता करने में असमर्थ नजर आ रहा है कि महिलाओं की चोटी कटने के पीछे क्या रहस्य है ?ऐसी ही एक घटना वाराणसी के अवसान पुर गांव में बिल्लू बिंद की पुत्री सुनीता के साथ 16 अगस्त की भोर में 3:00 बजे उस समय घटित हुई जब वह अपने कमरे में सो रही थी|

 

जब उसे महसूस हुआ कि उसका बाल कट रहा है तो वह जोर से चिल्लाई और बेहोश हो गई |उसे नजदीक के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है |यह घटना अफवाह नहीं हकीकत है और पुलिस घर वालों पर ही आरोप लगा कर अपना पल्ला झाड़ लेती है |यह सोचने की बात है कि कैसे कोई मां-बाप अपनी ही पुत्री का बाल काट कर के प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती करा सकता है?

Tagged under

लोहिया आवास के पैसे खा गया प्रधान, पैसा माँगने पर मिलती है धमकी

मनकापुर। तहसील दिवस मे बिंद्रा (अनुसूचित जाति) निवासी कुडासन ने शिकायत किया है कि वह छप्पर मे रहता है पिछले साल उसे लोहिया आवास स्वीकृत किया गया था उसकी पहली किस्त का पैसा निकलने पर प्रधान कुडासन बजरंगी यादव ने मुझसे दस हजार रुपए सेक्रेटरी और बडे बाबू के खर्च के नाम पर ले लिया।

 

दूसरी किस्त मिलने पर मैने दीवार उठाया और मजदूरी बाद मे देने की बात कही थी उसे भी मनरेगा खाते से प्रधान और सेक्रेटरी ने निकाल लिया मुझे नहीं मिला इसी तरह इस ने सरकारी योजनाओं के बदले तमाम लोगों से पैसा लिया है मांगने पर गाली गलौज करते हैं तथा धमकी देते हैं।

 mankapur tehsil diwas.jpg

 

प्रभारी तहसील दिवस उपजिलाधिकारी मनकापुर जो खंड विकास अधिकारी मनकापुर का प्रभार लिए है उनहोंने आईएसबी मनकापुर को जांच मे दोषी प्रधान व कर्मचारियों पर अपराध पंजीकृत कराने का निर्देश दिया है। सरकार की योजनाओं की बंदरबांट गांव के प्रधान और विकास से जुड़े अधिकारियों तक रहती है जांच के नाम पर लीपापोती से भ्रष्टाचार को और बल मिलता है।

 

 

सरकारी पैसों के लूट का मामला गोंडा के लिए नया नही है मगर लाभार्थी को पैसे माँगने पर जानलेवा हमला भी हो जाता है। और पैसे मिलना तो दूर जान के लाले भी पड जाते हैं। कोतवाली मनकापुर का है जहाँ दतौली पुलिस चौकी के बगल दुकान से सटे मकान पर दिन मे विकास सिंह अनिल कुमार सिंह पर हमला बोल दिया ये लोग जब तक कुछ समझ पाते तब तक लाठी डंडे से प्रहार शुरू कर दिया गया। पीडित विकास सिंह ने बताया कि गांव के सन्तोष कुमार सिंह उद्देश्य सिंह बजरंगी यादव व सत्यराम यादव उन्हें घर मे घुस कर मारने पीटने लगे। हम लोगों ने भाग कर अपनी जान बचाई। हमलावरों ने दुकान पर तोडफ़ोड़ करके नुकसान किया मोबाइल तोड़ दिया घटना के बाद हम लोग कोतवाली मनकापुर पहुंचे तो हमला वर पहले से थाने में बैठे रहे। और पूलिस खानापूर्ति करती रही।

पीलीभीत के बाघों से निपटने के योगी ने बनाया ये प्लान

पीलीभीत 16 अगस्त। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ सीएम बनने के बाद पहली बार पीलीभीत दौरे पर यहां पहुंचे | यह उनका औचक भ्रमण कार्यक्रम था। जिसमे ख़ास तौर पर उन्हें बाघ हमलों में मारे गए किसानों के परिजनों से मुलाक़ात करनी थी | मुख्यमंत्री निर्धारित समय से लगभग आधा घंटे विलंब से राजकीय हेलीकाप्टर से साढ़े 11 बजे पुलिस लाइन हेलीपैड पर उतरे | जहाँ से कलेक्ट्रेट  स्थित सभागार में अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की | बैठक में विशेष तौर पर बाघ हमलों की चर्चा की गई |

 

मुख्यमंत्री ने बाघ हमलों के शिकार हुए 4 मृतकों के परिजनों से भेंटकर पांच-पांच लाख का मुआबजा सौंपा | पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि  टाइगर रिज़र्व प्रोजेक्ट से 272 गाँव प्रभावित हैं | बाघों की संख्या भी काफी बढ़ गई है | इस समस्या से निपटने के लिए | सरकार विशेष व्यवस्था करने जा रही है | इन सभी गाँव में ओ.डी.एफ. योजना के तहत शौचालय बनवाये जायेंगे | ग्रामीणों की जंगल से ईंधन के लिए निर्भरता ख़त्म हो, इस पर भी काम किया जायेगा | भारत सरकार व् राज्य सरकार मिलकर उज्वला योजना के तहत गाँव में गैस सिलेंडर बांटने का काम करेंगी | टाइगर रिज़र्व को चारो तरफ से सोलर तार फेंसिंग कराकर घेरा जायेगा | सरकारी अमला इन प्रभावित गाँव में अभियान चलाकर बाघ हमलों के लिए जागरूकता कार्यक्रम तैयार करेगा |

 

योगी के साथ वन मंत्री दारा सिंह चौहान, जिले के प्रभारी मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा व केन्द्रीय कैबिनेट मंत्री व स्थानीय सांसद मेनका गाँधी मौजूद रहीं | मीडिया कर्मियों पर प्रशासन का पहरा था। इस बीच डी.एम. शीतल वर्मा के पत्रकारों को समीक्षा सभागार में न घुसने देने के चलते खासा बवाल हुआ | बाद में मुख्यमंत्री योगी ने बाहर निकलकर स्वयं ही पत्रकारों से बात की | पत्रकारों ने अपने साथ डी एम की ओर से की गई बदसुलू की शिकायतें की | जिस पर योगी ने करवाई करने की बात कही है |मुख्यमंत्री योगी ने अपना पूरा कार्यक्रम मात्र आधे घंटे में ही निपटा दिया था।

योगी ने किया शिक्षा मित्रों को निराश,फरियाद सुनना तो दूर मिले भी नही

पीलीभीत 16 अगस्त। मुख्य मंत्री योगी से मिलने की हसरत पूरी नही हुई तो जिले भर के सैकड़ों शिक्षा मित्रों ने टनकपुर स्टेट हाई वे जाम कर दिया। पुलिस से तीखी नोक झोंक भी हुई। उनकी गिरफ्त में आये नगर विधायक संजय गंगवार   को उनके आक्रोश का शिकार होना पड़ा। एक घंटे की जद्दोजहद के बाद विधायक के आश्वासन पर शिक्षा मित्रों ने जाम समाप्त कर दिया।

 

शिक्षा मित्र सुप्रीम कोर्ट के आदेश को लेकर पिछले समय से विरोध करते आ रहे हैं। बुधवार को मौका अच्छा था,योगी के यहां आने की सूचना पर वे उनसे मिलकर अपनी बात कहने आये थे। वे यहां सैकड़ों की संख्या में पंहुँचे थे। पुलिस ने उन्हें सिविललाइंस चौकी के पास रस्सा डालकर आगे बढ़ने से रोक दिया। वे सभी नाराज होकर बहीं धरने पर बैठ गए। उन्होंने टनकपुर स्टेट हाइवे अवरुद्ध कर दिया। इसको लेकर पुलिस से उनकी काफी नोकझोक भी हुई। शिक्षा मित्रों ने शासन प्रशासन विरोधी नारे भी लगाए। आसमान में हेलीकाप्टर देखकर उन्होंने नीचे से ही हांथ फैलाकर अपनी फरियाद बताने का असफल प्रयास भी किया।

 

सीएम के कार्यक्रम से वापस लौट रहे नगर विधायक संजय गंगवार की गाड़ी को प्रदर्शनकारियों ने घेरे में ले लिया। उनकी फजीहत कर दी। उनके काफी समझाने और उनकी समस्या योगी तक पहुंचाने के आश्वासन के बाद वहां से जाम हट सका । इस दो घंटे तक समस्या बनी रही थी,और दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइन लग गई।

बाढ़ राहत में लापरवाही पर नपेंगे संबंधित अधिकारी योगी ने दिया निर्देश

लखनऊ।उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज प्रातः जनपद महराजगंज, बलरामपुर, कुशीनगर, गोरखपुर व सिद्धार्थनगर के जिलाधिकारियों से दूरभाष पर बाढ़ की अद्यतन स्थिति की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने आगाह किया है कि बाढ़ राहत में किसी भी प्रकार की लापरवाही पर सम्बन्धित कार्मिकों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

 

यह जानकारी देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि मुख्यमंत्री जी ने जिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि उनके (जिलाधिकारियों के) स्तर से बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का सघन स्थलीय निरीक्षण कर राहत एवं बचाव कार्य तेज कराया जाए। योगी ने बाढ़ चैकियों पर 24 घण्टे स्टाफ की तैनाती सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा है कि राहत सामग्री समय से उपलब्ध करायी जाए। साथ ही, आवश्यकतानुसार राहत शिविरों एवं बाढ़ प्रभावित बसावटों में पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था भी सुनिश्चित करायी जाए।

 

ज्ञातव्य है कि जनपद सिद्धार्थनगर में एक पी0ए0सी0 यूनिट पहले ही बचाव एवं राहत कार्य में लगी थी। इसके अतिरिक्त एक-एक पी0ए0सी0 व एन0डी0आर0एफ0 की यूनिट अतिरिक्त तैनात की जा रही है। साथ ही, राहत एवं बचाव कार्य के लिए 12 मोटर बोट एवं 25 नाव तैनात की गई हैं। जबकि जनपद कुशीनगर में दो तहसीलें बाढ़ से प्रभावित हैं। यहां 29 बाढ़ चैकियों के माध्यम से राहत एवं बचाव कार्य के साथ-साथ राहत सामग्री बाटने का काम किया जा रहा है।

 

इसी प्रकार जनपद महराजगंज में 36 बाढ़ चैकियों की स्थापना की गई है। एन0डी0आर0एफ0 की टीम राहत एवं बचाव कार्य में जिला प्रशासन की मदद कर रही है। पड़ोसी देश नेपाल में अत्यधिक वर्षा के कारण इस जनपद के 178 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं। जहां राहत सामग्री बाटने के साथ-साथ आवश्यकतानुसार राहत एवं बचाव का कार्य किया जा रहा है। इस जनपद में जो बन्धे टूटे थे, उनकी मरम्मत का कार्य तेजी से चल रहा है। दो दिन पूर्व ही यहां एयर फोर्स की मदद से 39 लोगों को एयर लिफ्ट कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। जबकि बलरामपुर जनपद में अब तक की सर्वाधिक भीषण बाढ़ के बाद जल स्तर घटना शुरु हो गया है। यहां मोटर बोट उपलब्ध कराई गई हैं व 32 बाढ़ चैकियों के माध्यम से राहत एवं बचाव कार्य चलाए जा रहे हैं।  

 

जनपद गोरखपुर में रोहिणी नदी खतरे से तीन मीटर ऊपर बह रही है। बाढ़ से सर्वाधिक प्रभावित कैम्पियरगंज तहसील के मखाना गांव में राहत एवं बचाव कार्य चलाया जा रहा है। जनपद में 86 बाढ़ चैकियां स्थापित की गई हैं। नगर के डोमेनगढ़ क्षेत्र के रेगुलेटर नम्बर 10 में रिसाव आने के कारण मोहल्ले में पानी आ गया है। इससे करीब 08 हजार परिवार प्रभावित हुए हैं, जिन्हें सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया गया है। इस रेगुलेटर को सुधार कर जल-जमाव को समाप्त करने के उपाय किए जा रहे हैं। गोरखपुर जनपद में राप्ती नदी के जल स्तर पर लगातार निगाह रखी जा रही है।

सिंचाई विभाग की लापरवाही से टूटा बाँध गाँव जलमग्न अधिकारी सस्पेंड

पवन पाण्डेय/गोरखपुर/पीपीगंज। कैम्पियरगंज तहसील क्षेत्र में मखनहा के पास नेपाल से आने वाली रोहिणी नदी में मखनहा गाँव के पास बने रिंग बांध से  सायं 5 बजे के आस पास शुरू हुए  रिसाव को ग्रामीणों ग्रामीणों द्वारा पांच घण्टे के प्रयास के बाद भी नही रुका और अंततः  बांध रात करीब एक बजे टूट गया। बांध टूटने की सूचना पर  सिचाई विभाग के जिम्मेदारों के हाथ पैर फूल गए और संबंधित अभियन्ता भाग खड़े हुए। सीएम के निर्देश पर गाँव के दौरे पर पंहुचे डीएम राजीव रौतेला ने जिम्मेदार सिचाई विभाग के अवर अभियंता अवधेश प्रसाद को पहले निलम्बित करने का फरमान सुनाया फिर जांच की बात कही।

 

क्षेत्र में बिजली की आपूर्ति खराब होने के मामले में जहाँ अवर अभियंता को कड़ी फटकार लगाई जबकि बिना बताए गायब रहने वाले एस डी ओ  को निलंबित करने के एलान कर दिया जिससे  हड़कम्प मच गया।  बंधा टूटने से मखनहा गाँव के करीब 78 मकान पानी से घिर गए। जिससे लोग अपना जरूरी सामान निकालकर बन्धे पर आ चुके हैं और बंधे पर रहने के लिए मजबूर हैं। बंधा टूटने की जानकारी होने पर और  मुख्यमंत्री के निर्देश पर मंगलवार को एक बजे दोपहर जिलाधिकारी राजीव रौतेला और एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज एवं एडीएम एफ आर अखिलेश तिवारी और एसडीएम पूजा मिश्रा के साथ मखनहा गाँव में जा कर मौके पर हाल जाना।

 

ग्रामीणों द्वारा बंधे के कटान के लिए तैनात जूनियर इंजीनियर को जिम्मेदार ठहराते हुए उनके विरुद्ध  कार्यवाही की मांग की। जिस पर जिलाधिकारी ने ड्रेनेज खण्ड के जेई  को एवं विद्युत विभाग के एसडीओ को निलंबित करने की घोषणा की।स्थानीय पत्रकारों  से बातचीत में केवल एसडीओ विद्युत विभाग के निलंबन की बात कही गयी है। विद्युत विभाग अवर अभियंता के  देर से पंहुचने पर जमकर लताड़  लगाया गया। सपा के पूर्व जिला पंचायत सदस्य अखिलेश उर्फ भोला यादव ने बंधे को पिच कराने, ग्राम प्रधान दीपक सिंह ने बन्धो पर जाने वाले ढालो को ठीक कराने की मांग पर डीएम ने अधीनस्थों को निर्देशित किया।

 flood Gorakhpur.jpg

इस दौरान सीएमओ रविंद्र कुमार, मुख्य अभियन्ता सिचाई विभाग, ड्रेनेज खण्ड के अधिशाषी अभियंता यस यम वर्मा, एई सन्त सुरेमन, तहसीलदार प्रकाश चन्द प्रियदर्शी, एनडीआरएफ की टीम समेत बिजली, स्वास्थ्य समेत कई अन्य विभागों के लोग भी मौजूद रहे।  जिलाधिकारी राजीव रौतेला  ने ग्रामीणों के लिए भोजन की जिम्मेदारी व्यवस्था आपूर्ति विभाग के अधिकारियों को सौंपा और बिजली व्यवस्था ठीक करने के लिए बिजली विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया। जबकि कैपियरगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डा गोपाल प्रसाद ने पूरी टीम के साथ गाँव में कैम्प लगाकर दवाओं का वितरण शुरू कर दिया है। जिला पशु चिकित्साधिकारी डा. केपी सिंह, पीपीगंज के पशु चिकित्साधिकारी डा सुनील सिंह ने भी डेरा डाल दिया है।

 

तहसील प्रशासन द्वारा तीन नावों की व्यवस्था भी कराई गयी है।नेपाल से पानी छोड़ने के कारण स्थिति भयावह होती जा रही है यदि प्रशासन अब भी नही चेता तो स्थिति और भयावह हो सकती है बाढ़ के कारण सैकड़ों एकड़ फसल जलमग्न हो चुकी और और बांध के समीप के गांवों में दहशत का माहौल है लोग बाँधो पर पूरी रात जाग कर निगरानी कर रहे हैं अभी विगत वर्षों में बाढ़ के दौरान डोमरा गाँव के पास नाव पलटने से कई लोगों की मौत हो गई थी।

रेलकर्मियों ने साथी की मौत पर रेलवे का चक्का किया जाम,कई ट्रेने बाधित

उन्नाव। उन्नाव रेलवे  स्टेशन पर रेल कर्मचारियों ने चक्का जाम  किया। मामला उन्नाव जनपद के  गिरिजा बाग़ के पास  रेलवे  लाइन का है जहाँ रेलवे का कर्मचारी  रेलवे लाइन पर काम कर रहा रहा था तभी  वह ट्रेन की चपेट में आकर कट गया और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। सुबह 9 बजे की घटना के बाद गुस्साए लोगों ने रेलवे ट्रैक को बाधित कर दिया।

 

इससे गुस्साए अन्य रेल कर्मचारियों ने कानपुर प्रतापगढ़ इंटरसिटी को और लखनऊ की और जाने वाली गाड़ी  को आगे बढ़ने न दिया एवं  चालको के साथ रेलवे कर्मचारियो की जमकर हुई नोक झोख हुई वहीं रेलवे कर्मचारियो  ने आरोप लगाया  की ट्रेन से कटे हुए रेल कर्मचारी की लाश को जबरन गायब किया गया ।ताकि काम कर रहे अन्य रेलकर्मी जान न सके और मामले को रफा दफा किया जा सके।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px