Log in

 

updated 4:36 PM UTC, Apr 30, 2017
Headlines:

सांसद जगदंबिका पाल सहित इन नेताओं ने लंदन में मोर्डन सेलवरी प्रोजेक्ट पर किया भारत का प्रतिनिधित्व

लंदन: आज दिनांक 27 अप्रैल 2017 को लन्दन में एक सेमिनार में भारत का प्रतिनिधित्व करते माननीय सांसद श्री जगदंबिका पाल 25 अप्रैल से 28 अप्रैल 2017 तक एक संसदीय शिष्ठ मंडल दल संसद की तरफ से लन्दन भेजा गया है।

 

WhatsApp Image 2017-04-27 at 6.10.44 PM.jpeg

 

जिसमे कुल मिलाकर आठ सांसद श्री जगदंबिका पाल शिष्ठ मंडल दल नेता श्री बी के हरिप्रसाद सांसद, श्री सतीशचंद मिश्रा सांसद, श्री रामेन डेका सांसद, श्री ए टी नाना पाटिल सांसद, श्री भूपेन्द्र यादव सांसद, श्रीमती पी के श्रीमती टीचर सांसद, श्रीमती अंजुबाला सांसद एवं शिष्ठ मंडल दल के साथ दो संसदीय सचिव।

 

WhatsApp Image 2017-04-27 at 6.10.39 PM.jpeg


जिसमे में मोर्डन सेलवरी आफ लन्दन के बारे में विस्तार से चर्चा होगी।

यूपी के गेहूं क्रय केंद्र पर किसानों से जमकर लूट

कविश अग्रवाल/सिकन्द्राबाद: योगी सरकार के कड़े आदेशों के बाद भी यूपी में गेहूं क्रय केंद्र पर किसानों से जमकर लूट की जा रही है, किसानों ने जनपद के सिकन्द्राबाद स्थित गेहूं क्रय केंद्र पर घटतौली का आरोप लगाया है तो वही दूसरी और औरंगाबाद स्थित गेहूं क्रय केंद्र पर कर्मचारियों की संख्या कम होने पर किसान कम दामों पर व्यापारियों को अपना गेहूं मजबूरन बेच रहे है। किसान लुट रहा है लेकिन इसकी रोक थाम न कर, अधिकारी जाँच के बाद कार्रवाही की बात कह रहे है।

 Wheat procurement center-siquandrabad.jpg

सिकन्द्राबाद क्षेत्र का गेंहू क्रय केंद्र जहां गेंहू की खरीद के दौरान किसानों से जमकर लूट की जा रही है। किसानों का कहना है की एक कुंतल पर लगभग 20-30 किलो तक कम करके किसानो के गेहूं को तौला जा रहा है। किसानो के साथ लूट पूरे जनपद भर में हो रही है, जनपद के औरंगाबाद की नवीन अनाज मंडी में मंगलवार की दोपहर खाद एवं विपणन विभाग के डिप्टी आरएम ने गेंहू क्रय केन्द्र का निरीक्षण किया, तो निरीक्षण के दौरान मंडी में ही व्यापारी सरकारी रेट से 85 रूपये कम रेट पर गेहू खरीदते हुए मिले।

 FCI-Wheat procurement center.jpg

हालांकि व्यापारियों को कम रेट पर गेंहू खरीद करने पर कड़ी कार्रवाही की चेतावनी दी है। साथ ही घटतौली करने वाले क्रय केंद्र के प्रभारी और कर्मचारियों के विरूद्ध कार्रवाही की बात कही जा रही है लेकिन किसानो को राहत नहीं है।

योगी से मिलने के बाद पुलिस ने तीन तलाक पर मुकदमा किया दर्ज

गोंडा: गोंडा शहर में एक ऐसा तीन तलाक का मामला आया है, जिसमे मुख्यमंत्री योगी के आदेश पर दहेज़ उत्पीड़न समेत अन्य धाराओं में आरोपी पति समेत 3  लोगो के खिलाफ नगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज हुआ है। हालांकि क्षेत्राधिकारी ने मुख्यमंत्री वाली बात न करते हुए पीड़िता को लखनऊ जाने की और वहा एप्लिकेशन देने की बात कही है। नसीमा का दावा है कि वह 5 अप्रैल को योगी जी से मिली थी जिनके आदेश पर यह मुकदमा दर्ज हुआ है।

 

नगर क्षेत्र की रहने वाली नसीमा का निकाह नगरीय इलाके के रहने वाले लाल बाबू से 2015  में हुआ था जो अपनी पत्नी नसीमा को घर वालो से छिपाकर अलग रखता था। फिर धीरे धीरे समय बीतने के बाद उसने आना कम कर दिया और फिर कुछ दिन बाद कोई सम्बन्ध नहीं रखा। तब नसीमा लाल बाबू के घर पहुँच गयी जहा उसके साथ मारपीट की गयी। एसपी के हस्ताक्षेप के बाद मामला परिवार परामर्श केंद्र में भेजा गया। जहा कुछ डेट के बाद लाल बाबू ने तीन तलाक लिखकर दे दिया और नसीमा को तलाक दे दिया। बेहाल परेशान नसीमा 5 अप्रैल को योगी जी शरण में लखनऊ पहुंची। जिनके आदेश पर आज नसीमा का मुकदमा 323, 498 व अन्य संगीन धाराओं में नगर कोतवाली में दर्ज हुआ।

 

 

नसीमा ने बताया कि शादी लाल बाबू से 2015 में हुई थी और हमे नहीं पता था की यह घर वालो के चोरी से हमे रख रहे है। कुछ दिन बाद से मेरे शौहर हमसे दूरी बनाने लगे फिर मै इनके घर पे गयी तो वो वहां मौजूद थे, मुझे मारा पीटा और तलाक दे दिया। नसीमा ने आगे कहा कि हम परेशान रहे दर दर भटकते रहे, खाने का सहारा नहीं था। हम 5 तारिख को योगी जी पास गए थे, योगी जी ने मेरी मदद की उन्ही के उससे मुकदमा मेरा लिख गया है। योगी जी ने मेरे सर पर हाथ रख के कहा कि आपका निस्तारण होगा न्याय दिलाया जायेगा फिर उनके माध्यम से आज मेरा मुकदमा लिखा गया है

 

Tagged under

बेसिक शिक्षा परिसर में चले लात-घूसे, जमकर बरसीं गालियां

गोंडा, बेसिक शिक्षा परिसर मे मामूली विवाद पर दो कर्मचारियों में जमकर हाथापायी हुई, विवाद बस इतना सा था की महिला कर्मचारी का 4 साल का बच्चा महिला कर्मचारी के दफ्तर में जूता पहने हुए ही अंदर चला गया था कि इतने से ही वहां मौजूद एक कर्मचारी ने बच्चे को जूता पहने देख भड़क गया। जिसके बाद बचे की माँ ज्योत्सना सिंह ने संवैदा पर नौकरी कर रहा शिशिर श्रीवास्तव को बच्चे से की गयी बत्तमीजी पर सवाल जवाब किया तो वह भड़क उठा। इसी दौरान महिला का पति जो इसी विभाग से सम्बंधित है जिसकी नियुक्ति करनैलगंज में है वह भी वहां यकायक पहुँच गया, जिसके बाद विवाद बढ़ गया और देखते ही देखते महिला के पति और शिशिर के बीच मलयुद्ध शुरू हो गया, लोगों के काफी बीच बचाव के बाद भी दोनों तरफ के लोग एक दुसरे पर जमकर गलियां बरसाने से थामते नहीं दिखे।

 

 

बेसिक शिक्षा अधिकारी अजय कुमार सिंह ने CCTV  फुटेज के आधार पर और दोनों पक्षों की बातों को सुनने के बाद अनुशाशन हीनता का परिचय देने वाले शख्श को तत्काल प्रभाव से संवेदा पर काम कर रहे शिशिर श्रीवास्तव का चार्ज वापस ले लिया गया। यह सारा घटना क्रम तब हुआ जब मीडिया के लोग भी वहां मौजूद थे, जिनके कैमरे में यह सारा घटना क्रम रिकॉर्ड हो गया।

Tagged under

16 फर्जी शिक्षको का भंडाफोड़, बीएसए ने किया शिक्षको को निलंबित

गोंडा, गोण्डा के बीएसए अजय कुमार सिंह ने अपने जाँच के दौरान बेसिक शिक्षा विभाग में कार्यरत 16 हजार 448 शिक्षको में से 16 शिक्षक की नियुक्ति फर्जी पायी जो दूसरो का प्रमाणपत्र लगा कर नौकरी कर रहे थे, तत्कालीन अधिकारियो व कर्मचारियों के मिली भगत से फलफूल रहे इस गोरखधंधा का भंडाफोड़ कर सभी आरोपी शिक्षको को निलंबित कर दिया है। इस संबंध में जिला अधिकारी आशुतोष निरंजन ने बताया कि 3 सदस्यीय टीम गठित कर दिया गया जो 15 दिन के अंदर रिपोर्ट सौंपेगी इस जाँच के दौरान सभी आरोपी शिक्षको को निलंबित कर दिया गया और जाँच रिपोर्ट आने के बाद जैसी रिपोर्ट आएगी उस तरह कार्यवाही की जायेगी।   

 

इस विषय पर जब बैसिक शिक्षा अधिकारी से बात की गयी तो उन्होंने कहा कि इस मामले की शिकायत हमारे संज्ञान मे आने के बाद हमने जांच करवाई जिसमे प्रमाणपत्र तो सही पाये गये किंतु उस प्रमाण पत्र पर नौकरी करने वाले व्यक्ति फर्जी निकले। उन्होंने बताया कि इस नियुक्ति के विरुद्ध श्रीमती स्वाती.उत्तम द्वारा माननीय उच्च न्यायालय मे अनियमित नियुक्ति शिकायत की थी।    

Tagged under

प्रेमी युगल ने पहले मंदिर में की शादी ,फिर की आत्महत्या

गौरव शर्मा/सीतापुर।आपने लैला मजनू हीर राँझा का नाम जानते ही होंगे ये वह लोग है जिनके लिए उनका प्यार ही सब कुछ था और अपने प्यार के लिए अपनी जाने दे दी।  आज जनपद सीतापुर में भी इसी तरह प्यार करने वाले मोहन और वन्दना ने पहले तो मन्दिर में शादी की फिर मन्दिर में ही आत्महत्या कर ली और मन्दिर की दीवारो पर लिख दी 23 लाइने ।

 

जाने क्या था पूरा मामला

सीतापुर अन्तर्गत अटरिया थाना क्षेत्र में एक प्रेमी युगल ने मंदिर के अन्दर जहर खाकर ख़ुदकुशी कर ली . घटना के बाद क्षेत्र में सनसनी फ़ैल गयी. प्रेमी युगल ने हत्या से पहले मंदिर की दीवार पर लिखे अपने सुसाइड नोट में परिजनों द्वारा हत्या किये जाने के चलते आत्महत्या करने की बात कही है . मौके से पुलिस को जहर की शीशी और कई प्रेम पत्र मिले है , जिनकी तफ्तीश के बाद पुलिस कोई भी कार्यवाही करने की बात कह रही है . पुलिस ने दोनों के शवो को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

 

प्रेमी युगल द्वारा मंदिर के अन्दर ख़ुदकुशी की ये वारदात अटरिया थाना क्षेत्र के पश्चिमपुर गाँव की है, जहा पर बुधवार की सुबह मंदिर के दरवाजे अन्दर से बंद होने पर किसी अनहोनी की आहट स्थानीय लोगो को महसूस हुई. पुलिस को सूचना देने के बाद जब मौके पर पहुची पुलिस ने दरवाजे खोले तो गाँव के ही एक प्रेमी युगल मोहन और वंदना मौत की आगोश में लिपटे हुए मिले. दोनों प्रेमी युगल अलग अलग बिरादरी से ताल्लुक रखते थे और उनके परिजनों को उनका प्रेम सबंध नागवार थे।

 Lovers commit suicide in Sitapur UP2.jpg

साड़ी में लिपटी वंदना, गले में लटका मंगल सूत्र और माथे पर लगा सिन्दूर इस बार की तस्दीक कर रहा था की मरने से पहले दोनों ने मंदिर में ही प्रेम विवाह किया था. सबसे चौकाने वाली बात यह थी की दोनों प्रेमी युगल ने मरने से पहले मंदिर की दिवार पर एक सुईसाइड नोट लिखा था, जिसमे स्पष्ट शब्दों में लिखा था की वंदना की शादी उसके परिजनों ने कही तय कर दी थी . वंदना की शादी के बाद उसके परिजन मोहन को जान से मार देने वाले थे. इसलिए वंदना ने मोहन के साथ ही मरने का फैसला लिया और मंदिर में ही विवाह करने के बाद जहर खाकर जान दे दी. पुलिस को मौके पर कई प्रेम पत्र भी बरामद किये है. जिनकी पड़ताल के बाद पुलिस कार्यवाही किये जाने की बात कह रही है।

 

प्रेमी युगल द्वारा ख़ुदकुशी की इस वारदात के बाद जब वंदना और मोहन के घरवालो से इस घटना के बाबत बातचीत की गयी तो दोनों के परिजनों ने खुद को इस घटना से अनभिज्ञ बताते हुए किसी की भी हत्या और उनके प्रेम संबंधो की जानकारी से इनकार कर दिया।

 

आखिर किसी समाज के लिए मान सम्मान और जात बिरादरी की दीवार उनके किस काम का कि उनके अपने ही इस दुनिया से रुखसत हो जाये। ये सही है कि गलती अपनों से ही होती है लेकिन क्या सजा इतनी बड़ी होनी चाहिए कि गलती करने वाले खुद को दुनिया से अलविदा करने के लिए मजबूर हो जाये।

बुलंदशहर में डॉक्टर की नाबालिग बेटी का अपहरण, लोगों ने किया बाजार बंद

चेतन शर्मा/बुलंदशहर- बुलंदशहर के ककोड़ थाना क्षेत्र में डॉक्टर की नाबालिग पुत्री का अपहरण, गैर समुदाय के युवक पर अपहरण का आरोप, व्यापारियों ने किया बाजार बंद, धरना प्रदर्शन जारी।

 

WhatsApp Image 2017-04-26 at 2.24.47 PM (1).jpeg

बुलंदशहर में एसी घटनाये पहले भी हो चुकी हैं।

सीतापुर में दरोगा से हाथापाई, मृतक के परिजनों ने लगाया जाम

गौरव शर्मा/सीतापुर। उत्तर प्रदेश के सीतापुर में आज नाराज़ परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर जाम लगाया. परिजनों के साथ इलाके के सैकड़ों लोग मौजूद थे. इलाके के दरोगा के जाम हटाने का विरोध करने के बाद मौजूद लोगों ने दरोगा की पिटाई कर दी। आरोप है की हत्या के बाद नामज़द आरोपियों को पुलिस बचाने का काम कर रही है. इतना ही नहीं आरोप ये भी है की पुलिस हत्या का केस दर्ज करने के बाद भी हत्या को सड़क हादसे में बदलना चाहती है।

 

परिवार वालों का कहना है की कुतुबनगर चौकी के अंतर्गत दधनामऊ के निकट संदिग्ध परिस्थित में सोनू सिंह का शव मिला था. पिता ने दोस्तों पर हत्या का आरोप लगाते हुए तीन दोस्तों पर नामज़द केस दर्ज कराया था. परिवार वालों का कहना है की घटना तब हुई जब दो दिन पहले सोनू अपने दोस्तों के साथ घर से निकला लेकिन वापस नहीं आया. सोनू हरदोई के रहने वाले अपने दोस्त सूरज सिंह, दुर्गेश और रमेश के साथ घर से निकला था. कल दोपहर में उसका शव दधना मऊ गांव के पास मिला. इलाके के लोगों ने पुलिस को जानकारी दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव की पहचान की और सोनू के घर वालों को जानकारी दी. जानकारी मिलते ही परिवार के लोग मौके पर पहुंचे और उसकी पहचान सोनू सिंह के नाम की. जिसके बाद पुलिस ने शव को पोस्मार्टम के लिए भेज दिया.


पुलिस का कहना है की सोनू के साथ एक दूसरा शख्स सूरज सिंह भी मौजूद था, जो बुरी तरह ज़ख़्मी हुआ है. पुलिस का कहना है की सूरज के बयानों के बाद ये बात सामने आई है की सोनू की हत्या नहीं हुई बल्कि सड़क हादसा है. पुलिस का ये भी कहना है की सूरज और सोनू बाइक पर सवार थे और उनकी बाइक एक ट्रेक्टर ट्राली से टकरा गयी जिसके बाद ये घटना हुई. पुलिस ने ये भी बतया की कुतुबनगर चौकी प्रभारी संजीव कुमार कुशवा ने मौके से मोटरसाइकिल बरामद कर ली थी. लेकिन फिर भी तीन लोगों पर हत्या के आरोप में नामज़द मुकदमा दर्ज किया गया है. पोस्मार्टम रिपोर्ट आने के बाद कार्यवाही की जायेगी. लेकिन परिवार वालों ने आज शव को सड़क पर रक्ख कर जाम लगाया. परिवार वाले दोबारा शव को पोस्मार्टम के लिए मांग कर रहे थे।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px