Log in

 

updated 5:57 PM UTC, Feb 23, 2017
Headlines:

सपा के युवजन सभा के नेता की साइकिल रैली

गोँण्डा, आज समाजवादी पार्टी के युवजन सभा के जिला अध्यक्ष सरफराज हुसैन सोलू के नेतृत्व में साइकिल रैली निकाली गई। यह रेली जमुनियाबाग समाजवादी पार्टी के कैम्प कार्यालय से चिस्तीपुर तक निकाली गई। जिसमें हजारों सपा कार्यकर्ताओं मे भाग लिया।सरपराज हुसैन ने सपा सरकार की 4 साल की उपल्ब्धियां गिनाई और कहा कि 2017 विधानसभा में जनता सपा के कार्यो से खुश होकर दुबारा सपा सरकार को चुनेगीं।

 

सपा के युवा नेता सरफराज हुसैन ने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव प्रदेश में बहुत अच्छा काम कर रहें है। गरीब जनता के लिए कई महत्वपूर्ण योजना चला रहें है, जिससे प्रदेश की जनता काफी खुश है। समाजवादी पार्टी का सपना है कि उत्तर प्रदेश उत्तम प्रदेश बनें, जो कार्य प्रदेश सरकार युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में कर रही है , उससे जल्द ही उत्तर प्रदेश राज्य उत्तम प्रदेश हो

सीतापुर जिलाधिकारी ने ब्लॉक मिश्रिख का किया निरीक्षण ब्लॉक के अधिकारियो को दिए सख्त निर्देश

सीतापुर, जिलाधिकारी श्री अमृत त्रिपाठी ने आज मिश्रिख ब्लाॅक का दौरा करने के दौरान 14वें वित्त आयोग की सस्तुतियों के तहत ग्राम पंचायतों को ग्राम प्रधानों की ट्रेनिंग आवंटित है। पिसावां विकास खण्ड में चल रही ट्रेनिंग के दौरान जो ग्राम प्रधान अनुपस्थित पाये गये उनको पंचायत राज्य अधिनियम के अन्तर्गत नोटिस जारी करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने निलम्बित चल रहे ग्राम पंचायत अधिकारी की जांच रिपोर्ट खण्ड विकास अधिकारी द्वारा न सौंपे जाने के कारण कारण स्पष्टीकरण के निर्देश दिये है। उन्होंने कहा कि तीन दिन में अगर रिपोर्ट नहीं प्रस्तुत की जाती है तो मुख्य विकास अधिकारी को उनके खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होंने ए0डी0ओ0 पंचायत श्री हरि कुमार अग्रवाल को चार सफाई कर्मचारी जो निलम्बित चल रहे थे उनके स्तर से जांच लम्बित होने के कारण स्पष्टीकरण के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि तीन दिन में जांच का कार्य पूरा कर कार्यवाही करें। समय से न पहूंचने के कारण व सफाई न होने के कारण 22 सफाई कर्मियों का वेतन रोका गया। उन्होंने चन्द्रावलि और टिकनापुर में कोटे की खुली बैठक 7 व 9 मई 2016 को करने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी श्री अमृत त्रिपाठी द्वारा मिश्रिख तहसील का औचक निरीक्षण करने के दौरान तहसील में गंदगी पाये जाने के कारण उपजिलाधिकारी को सफाई कराने व वृक्षारोपण करने के निर्देश दिये। उन्होंने एस0ओ0 को भी निर्देश दिये कि जो भी पान/पुडि़या खाकर थूकते हुए गंदगी फैलाते हुए दिखायी पड़े तो उन्हें बन्द कर तत्काल जुर्माना वसूला जाये। वाटरकूलर की टोटी टूटी होने के कारण तहसीलदार को ठीक कराने के निर्देश दिये। 107/16 के अन्तर्गत फौजदार अहलमद चालानी नोटिस न होने के कारण प्राप्ति रजिस्टर के 19 प्रारूप निशानी पर दर्ज न होने के कारण उपजिलाधिकारी के स्पष्टीकरण के निर्देश दिये। 116/3 में ऐसे समस्त वादों के 6 महीनें में निस्तारण के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि अगर शान्ति भंग करने की आंशका न हो तो इस वादों  को 6 महीनें में इसका निस्तारण पूरा कर दिया जाये। उन्होंने कहा कि तीन दिन के समस्त प्रकरण को अद्यतन की स्थिति में रखा जाये अगर कहीं से कोई शान्ति भंग करता है तो फौजदारी अहलमद के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी। तहसील पर 36 नये लेखपालों की सर्विस बुक न बनने के कारण उपजिलाधिकारी को स्पष्टीकरण के निर्देश दिये। उन्होंने सभी उपजिलाधिकारियों को नव नियुक्ति लेखपालों की सर्विस बुक बनाने के सख्त निर्देश दिये। असंख्क्रमणी भूमिधर जिनकों संक्रमणी में परिवर्तित होना है उनकी सूची उपलब्ध न होने के कारण तहसीलदार को स्पष्टीकरण के निर्देश दिये। उन्होंने सभी उपजिलाधिकारी/तहसीलदार  को  निर्देश दिये कि जिले में कैम्प लगाकर अपात्र असंख्क्रमणी भूमिधर को पात्र संक्रमणी बनाने की कार्यवाही करें। उन्होंने यह भी कहा कि कैम्प लगाकर एक माह में 20 पुराने वादों को निस्तारण करने के निर्दश दियें।

-गौरव शर्मा

Tagged under

धड़ल्ले से हाे रहा अवैध मिट्टी खनन,प्रशासन माैन

गाेन्डा। इलाके के विभिन्न स्थानों पर धड़ल्ले से अवैध मिट्टी खनन का कारोबार पनपता जा रहा है और शासन-प्रशासन के जिम्मेदाराे के कार्य शैली काे लेकर लाेगाे में आकराेश बडता जा रहा है। मनकापुर तहसील के खाेडारे अन्तर्गत अमवाघाट, भालूकाेनी,अवसानी बुजुर्ग में पिछले हफ्तों से लगातार सेटिंग गेटिंग के द्वारा जाेरदार अवैध मिट्टी खनन कर इसके ठेकेदार प्रशासन काे चुनौती दे रहे हैं और बेचारे जिम्मेदार जानकारी के बावजूद भी कार्रवाई से या तो कतराते हैं या फिर मैनजमेंट के खेल खेलते हैं मामला कुछ भी हो पर जिम्मेदाराे के गैर जिम्मेदार रवैये से इसमें लिप्त मालामाल हो रहें। इस सम्बंध में रंजीत शुक्ल ने जिला अधिकारी गाेन्डा आशुतोष निरंजन से अवैध मिट्टी खनन की जानकारी माेबाइल से दी ताे उन्होंने कहा कि मामले की जांच करवाकर जिम्मेदाराे के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Tagged under

मजदूरों की श्रमशक्ति का समाजवादियों ने हमेशा सम्मान किया-अखिलेश

लखनऊ: 01 र्मइ  , 2016 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने आज मजदूर दिवस पर अपने सरकारी आवास पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान मजदूरों के लिए पेंशन योजना तथा 10 रुपए में मध्यान्ह भोजन योजना (पाइलेट प्रोजेक्ट, लखनऊ) का शुभारम्भ करते हुए कहा कि राज्य सरकार मजदूरों की विभिन्न समस्याओं के समाधान के प्रति अत्यन्त गम्भीर है। कामगारों को अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस की बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि विगत चार वर्षों के दौरान प्रदेश सरकार द्वारा उनके हित में अनेक योजनाएं लागू की गई है ।

मुख्यमंत्री ने मजदूरों की मदद के लिए लागू की गई साइकिल सहायता योजना का जिक्र करते हुए कहा कि कामगारों को अपने घर से कार्य स्थल तक आने-जाने की सुविधा उपलब्ध कराने की दृष्टि से ही उन्हें मुफ्त साइकिलें प्रदान की जा रही हैं। इस योजना का लाभ बड़ी संख्या में मजदूरों को मिला है और अब तक प्रदेश में 04 लाख से अधिक साइकिलों का वितरण किया जा चुका है।

श्री यादव ने इस अवसर पर 1,000 श्रमिकों में वितरित की गई साइकिलों के लाभार्थियों के एक दल को हरी झण्डी दिखाकर कार्यक्रम स्थल से रवाना भी किया।

कामगारों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी देश-प्रदेश की प्रगति में वहां के मजदूरें का बहुत बड़ा योगदान होता है,

क्योंकि विशाल अवस्थापना योजनाएं जैसे मेट्रो रेल योजना,आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे, सी0जी0 सिटी, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम अथवा अन्य योजनाएं श्रम शक्ति के बिना पूर्ण नहीं की जा सकती हैं।

इनमें शुरू से लेकर आखिर तक श्रमिकों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। उन्हेंने कहा कि मजदूरों की इसी श्रम शक्ति का समाजवादी हमेशा से सम्मान करते आए हैं। श्री यादव ने कहा कि मजदूरों की कठिनाइयें के ध्यान में रखते हुए प्रदेश की समाजवादी सरकार द्वारा श्रमिकों को पेंशन देने की योजना की शुरुआत की जा रही है। इसके तहत 60 वर्ष की आयु पूरी कर चुके लाभार्थी को 1,000 रुपए प्रति माह की पेंशन उपलब्ध कराई जाएगी। प्रतीक स्वरूप उन्होंने 100 लाभार्थि यों का इस योजना के तहत चेक भी वितरित किए। उन्होंने कहा कि राज्य के श्रमिकों के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है, क्योंकि इस योजना के लागू होने से 60 वर्ष से अधिक उम्र के निर्माण श्रमिकों को पेंशन उपलब्ध कराने वाले प्रमुख राज्यों में उत्तर प्रदेश का नाम भी शामिल हो गया है। समाजवादी सरकार गरीबों और मजदूरों की सरकार है। राज्य सरकार द्वारा श्रमिकों के कल्याण के लिए शिशु हितलाभ,मातृत्व हितलाभ, बालिका मदद, पुत्री विवाह अनुदान, मेधावी छात्रवृत्ति आदि येजनाएँ शामिल हैं, जिनका लाभ मजदूरों के परिवारों को मिल रहा है। उन्हा ेंने कहा कि मजदूरों के बच्चों को शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए पहले चरण में कन्नौज, कानपुर, इटावा, फिरेजाबाद,गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, म ेरठ, मुरादाबाद, ललितपुर, भदोही, आजमगढ़ तथा बहराइच जनपदों म ें आवासीय विद्यालय शुरू किए गए हैं।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रख्यात समाजवादी चिन्तक स्व0 मधु लिमये को याद करते हुए कहा कि आज उनका जन्म दिवस है। उन्होंने स्व0 लिमये को भावभीनी श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उन्होंने हमेशा समाजवादी विचारधारा को मजबूत बनाने का काम किया।

कार्यक्रम के दौरान कारागार मंत्री श्री बलवन्त सिंह रामूवालिया,राजनैतिक पेंशन मंत्री श्री राजेन्द्र चैधरी, होमगार्ड्स एवं प्रान्तीय रक्षक दल

मंत्री श्री अवधेश प्रसाद, भूतत्व एवं खनिकर्म मंत्री श्री गायत्री प्रसाद प्रजापति, जन्तु उद्यान चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री शिव प्रताप यादव,कृषि उत्पादन आयुक्त श्री प्रवीर कुमार, प्रमुख सचिव सूचना श्री नवनीतॉ सहगल, सचिव मुख्यमंत्री श्री पार्थ सारथी सेन शर्मा सहित बड़ी संख्या में कामगार तथा गणमान्य लोग मौजूद थे।

 

मोदी बोले, भृगु बाबा की धरती पर रउवा, सभन के प्रणाम

बलिया, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बलिया के लोगों को संबोधित करते हुऐ कहा कि बाबा की धरती पर रउवासभन के प्रणाम। ई धरती त साक्षात भृगु जी की भूमि रहल’ ब्रह्मा जी भी यही जमीन पर उतर रहल। रामजी यहीं से विश्वामित्र मुनी के साथे गइल। त सुन्दर धरती पर सभी के हाथ जोड़ के फिर से प्रणाम। मजदूर दिवस पर कहा कि पहली May हैएक मईपूरा विश्व आज श्रमिक दिवस के रूप में मनाया जाता है। मजदूर दिवस के रूप में मनाया जाता है। और आज देश का ये मजदूर नम्बर एक’ देश के सभी श्रमिकों को उनके पुरुषार्थ कोउनके परिश्रम कोराष्ट्र को आगे बढ़ाने में उनके अविरथ योगदान को कोटि-कोटि अभिनन्दन करता है। उस महान परम्परा को प्रणाम करता है। 

भाइयोंबहनों दुनिया में एक नारा चलता था। जिस नारे में राजनीति की बू स्वाभाविक थी। और वो नारा चल रहा था। दुनिया के मजदूर एक थादुनिया के मजदूर एक हो जाओऔर वर्ग संघर्ष के लिए मजदूरों को एक करने के आह्वान हुआ करते थे। भाइयोंबहनों जो लोग इस विचार को लेकर के चले थेआज दुनिया के राजनीतिक नक्शे पर धीरे-धीरे करके वो अपनी जगह खोते चले जा रहे हैं। 21वीं सदी में दुनिया के मजदूर एक हो जाओ इतनी बात से चलने वाला नहीं है। 21वीं सदी की आवश्यकताएं अलग हैं, 21वीं सदी की स्थितियां अलग है और इसलिये 21वीं सदी का मंत्र एक ही हो सकता है विश्व के मजदूरों विश्व के श्रमिकों आओ हम दुनिया को एक करें दुनिया को जोड़ दें’ ये नारा21वीं सदी का होना चाहिए।

 


वो एक वक्त था ‘Labourers of the World, Unite’, आज वक्त है ‘Labourers, Unite the World’ ये बदलाव इस मंत्र के साथ। आज दुनिया को जोड़ने की जरूरत है। और दुनिया को जोड़ने के लिए अगर सबसे बड़ा कोई chemical हैसबसे बड़ा ऊर्जावान कोई cementing force हैतो वो मजदूर का पसीना है। उस पसीने में एक ऐसी ताकत हैजो दुनिया को जोड़ सकता है। 

 

सिंचाई मंत्री की पहल पर यूपी के 16 जनपदों में 9200 फार्मर वाटर स्कूल का होगा संचालन

लखनऊ, सूखे की स्थिति से निपटने के लिए प्रदेश के सिंचाई मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने जहां हर खेत को पानी पहॅुंचाने की मुहिम शुरू की है, वहीं जल संचयन एवं भू-गर्भ प्रबन्धन हेतु 50 लाख रूपये की राशि प्रदान की है। यह जानकारी देते हुए सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के प्रमुख सचिव दीपक सिंघल ने बताया कि सिंचाई मंत्री की इस पहल से भू-गर्भ जल प्रबन्धन एवं भू-गर्भ जल आडिट हेतु के उच्च स्तरीय सर्वेक्षण कराया जायेगा। प्रथम चरण में यह कार्य लखनऊ में कराना प्रस्तावित है। सिंघल के अनुसार सिंचाई मंत्री की यह पहल भू-गर्भ जल प्रबन्धन एवं भू-गर्भ संचयन के क्षेत्र में वरदान सिद्ध होगी।

सिंघल ने बताया कि सिंचाई मंत्री की पहल पर विश्व बैंक सहायतित यू0पी0डब्ल्यू0एस0आर0पी0 परियोजना के 16 जनपदों  के किसानों को कम पानी से अधिक पैदावार प्राप्त करने के लिए माइनर व कुलाबा स्तर पर किसान सिंचाई स्कूल संचालित किए जायेंगे। इसके तहत विश्व कृषि और खाद्य संगठन के माध्यम से 1200 कृषक प्रशिक्षकों को प्रशिक्षित कर 2.76 लाख किसानों को नवीनतम सिंचाई विधियों के द्वारा उन्नत कृषि उत्पादन  की व्यवहारिक जानकारी दी जायेगी।

नाबार्ड का पैसा हजम कर रहा ठेकेदार,सडक निर्माण में कर रहा घपला

 

 

गोंडा ,जिले में हो रहें सड़क निर्माण में धाधली की बातें आये दिन सामने आ रही हैं। ठेकेदार सड़क निर्माण के मानकों के उलट सड़क बना रहें है । जिसकी शिकायत सडक निर्माण संघर्ष समिति के द्वारा कई बार अधिकारियों को गई लेकिन अधिकारी किसी भी तरह के कार्यवाई करने से बच रहे है।

 

 जनपद मुख्यालय से बभनान को जोडनेवाली महत्वपूर्ण सडक दर्जीकुआं मनकापुर बभनान और मनकापुर मसकनवा बभनान सडक का निर्माण नाबार्ड के द्वारा कराया जा रहा है।  ठेकेदार मानकों के बिपरीत काम करा कर मनमानी करने लगे है। सडक निर्माण संघर्ष समिति  डीएम आशुतोष निरंजन से शिकायत कर मानकों के जांच की बात उठाने पर एसडीएम बी के सिंह की अगुआई में विभागीय अभियन्ताओं की टीम बनाकर जांच कराई गई तो मानक कही नहीं दिखा जिला प्रशासन के अधिकारी कमी के बावजूद ठेकेदार कोई कार्रवाही नहीं कर रहे।

 संघर्ष समिति के संयोजक श्याम लाल शुक्ल ,राजकुमार मिश्र, विजय कुमार मिश्र, हरीराम पान्डे ने आज पुनः शिकायत किया कि मानकों की अनदेखी हो रही है तत्काल सड़क निर्माण रोका जाय। और सड़क निर्माण में हो रहीं धाधली की जांच कर आरोपियों को दण्डित किया जाए। समिति ने अधिकारियों, ठेकेदार और नेताओं की साठगांठ कर सरकारी धन हडपने की जांच के लिये पी एम ओ को पत्र लिखकर नाबार्ड के धन से बन रही सडक की जांच केन्द्रीय संस्था से कराने की मांग की ।  

विधानसभा और लोकसभा चुनाव के पहले से  सड़क खराब थी। सडक की मांग जनता करती रही, किसी नेता किसी सरकार ने एक न सुना तब कुछ अधिवक्ताओं ने सडक निर्माण संघर्ष समिति का गठन करके आन्दोलन शुरू किया गया परिणाम स्वरूप नाबार्ड संस्था ने सडक के लिए धन अवमुक्त किया।

डीएम आशुतोष निरंजन का गुस्सा देख बीएसए के हाथ पैर फूले

गोण्डा, तहसील दिवस के मौके पर जिले के नये डीएम के गुस्से का शिकार गोण्डा जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी फतेबहादुर सिंह को होना पडा, तहसील दिवस में भरी सभा के बीच आशुतोष निरंजन ने बेसिक शिक्षा अधिकारी को जमकर लताड लगाई। डीएम का गुस्सा उसवक्त भडक गया जब एक उन्होंने एक छापेमारी टीम के द्वारा बनाई गई कस्तूरबा गाँधी विद्यालय में फैली अराजकता को देखा।

उन्होंने फतेबहादुर से कहा की अगर आपसे नही संभलता तो जिला छोड दीजिए मेरे रहते ये सब नही चलने वाला है। डीएम ने कहा कि अगर वीडियो तुम देखोगे तो तुमको आत्मग्लानि होगी तुमसे मुझे घिन आती है। जाहिर है फतेबहादुर सिंह जिले के बदनाम अधिकारियों में से एक हैं, मगर जिले के नए और तेज तर्रार डीएम के आगे कामचोर अधिकारियों की रेल बन गई है । गौरतलब हो कि जब से आशुतोष निरंजन को अजय उपाध्याय की जगह पदस्थ किया गया है जिले में रोज व्यवस्था परिवर्तन के लिए छापेमारी अभियान शुरु हो गया है ।

इसी लपेटे में आ गऐ फतेहबहादुर सिंह डीएम उन्हें डाँटते रहे और उनकी घिघ्घी बँधी रही, बहरहाल नए डीएम के आने से गोण्डा में अधिकारियों का कामकाज सुधरेगा ऐसी लोगों की उम्मीद है।

-श्यामलाल शुक्ला

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px