Log in

 

updated 6:22 PM UTC, Mar 26, 2017
Headlines:

मोदी का मिशन पूर्वांचल गोरखपुर रैली में PM के भाषण की 21 बड़ी बातें

पीएम मोदी ने शुक्रवार को पूर्वी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में रैली को संबोधित किया. रैली में मोदी की नजर में पूर्वांचल के किसान रहे. रैली से पहले मोदी ने गोरखपुर में AIIMS और फर्टिलाइजर प्लांट की आधारशि‍ला रखी.

मोदी के भाषण की बड़ी बातें:-

1. भाषण की शुरुआत भोजपुरी की चंद लाइनों से की. कहा, जनता से किए वादे पूरे करने आया हूं.

2. यूपी की जनता ने मुझे चुनकर दिल्ली भेजा. जागरुक सांसदों को चुना.

3. जनता के मजबूत सांसद दिन रात काम कर रहे हैं.

4. पूर्वी और पश्चिमी भारत विकास के दो पहिए हैं. पश्चिमी के साथ पूर्वी छोर भी मजबूत होगा.

5. पूर्वी यूपी में तीसरी हरित क्रांति होगी. मौजूदा केंद्र सरकार को किसानों की भलाई की चिंता है.

6. पूर्वी भारत के किसानों के साथ अन्याय हुआ. देश के कारखाने बंद थे, बाहर से खाद मंगाई जाती थी.

7. यूरिया किसानों को नहीं मिलता था. केंद्र सरकार से कोई जवाब नहीं मिलता था. सब्सिडी केमिकल फैक्ट्री वालों को मिलती थी.

8. हमने यूरिया की कालाबाजारी रोकी. बंद पड़े कारखाने फिर शुरू होंगे.

9. कुछ लोग सरकार की आलोचना के लिए तैयार रहते हैं, लेकिन उन्हें किसानों की चिंता नहीं होती.

10. गन्ना किसानों का हजारों करोड़ का बकाया था. अब सिर्फ 170 करोड़ रुपये बकाया है. गन्ना किसानों का 93 फीसदी भुगतान हुआ.

 

11. यूपी की अर्थव्यवस्था गैस आधारित होगी. गैस से यूरिया बनाने का खर्चा कम होगा.

12. गोरखपुर के हर घर में पाइपलाइन से गैस पहुंचेगी. 

13. यूपी में औद्योगिक क्रांति की शुरुआत हो गई है. गरीबी को हराने की विजय यात्रा शुरू हो गई है.

14. गोरखपुर में एम्स का शि‍लान्यास किया. यहां 1000 करोड़ रुपये की लागत से 700 बिस्तरों वाला अस्पताल बनेगा.

15. यहां इलाज के अभाव में बच्चों की मौत हो जाती है. हम पूर्वांचल के बच्चों को मरने नहीं देंगे.

16. यूपी को बजट में 7 हजार करोड़ रुपये दिए. पैसे देने के बावजूद काम अटका हुआ है.

17. यूपी में टूरिज्म की अपार संभावनाएं हैं. अच्छी सड़कें बनने से टूरिस्ट आते हैं. टूरिज्म से छोटे व्यापारियों को भी फायदा होता है.

18. केंद्र सरकार ने सोनौली से गोरखपुर नेशनल हाइवे के लिए 570 करोड़, गोरखपुर-वाराणसी 650 करोड़ रुपये दिए हैं.

19. यूपी के 1529 गांवों में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य है. अब सिर्फ 175 गांवों में बिजली पहुंचाना बाकी.

20. आपने दिल्ली में ऐसी सरकार बनाई जो दौड़ रही है, लखनऊ में भी ऐसी सरकार बनाइए जो आपके लिए दौड़े. मैं सीढियां भी तेज चढ़ता हूं.

21. सिर्फ विकासवाद से यूपी का भला संभव है. परिवारवाद, जातिवाद के जहर से यूपी का भला नहीं होगा.

Tagged under

अमेरिका में सम्मानित हो चुके डा.अभिजीत चन्द्रा को, मिलेगा विज्ञान रत्न सम्मान

लखनऊ। किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के सर्जिकल गैस्ट्रोइंट्रोलाजी के विभागाध्यक्ष डा.अभिजीत चन्द्रा को वर्ष 2013-14 का विज्ञान रत्न समान दिया जायेगा। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद द्वारा विज्ञान के क्षेत्र में वर्ष 2000 से इस तरह के पुरस्कारों को प्रदान किये जाने का शुभारभ किया गया था। डा. चन्द्रा ने वर्ष 1991 बैच से किंगजार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय से एमबीबीएस की पढ़ाई के बाद जीबीएस पन्त मेडिकल कालेज दिल्ली से सर्जिकल गैस्ट्रोइंट्रोलाजी में पीजी करने के बाद टेक्साल यूनिवर्सिटी से भी प्रशिक्षण लिया। डा.अभिजीत के अब तक 50 से अधिक अन्तर्राष्ट्रीय और 100 से अधिक राष्ट्रीय शोध-पत्र प्रकाशित हो चुके हैं। 

खतरनाक जानलेवा बीमारी से ग्रसित मरीजों के मलद्वार के आपरेशन करने पर पेट में दूसरी जगह पर मलद्वार बनाया जाता रहा है, इसके लिए नयी तकनीक से मलद्वार बनाये जाने की खोज करने के लिए डा.अभिजीत चन्द्रा को अमेरिकन सोसाइटी आफ कोलोनोस्कोपी के द्वारा वर्ष 2014 में समानित भी किया जा चुका है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश में अंग-प्रत्यारोपण की बेहद महत्वपूर्ण ऐतिहासिक शुरूआत के लिए अपना अमूल्य योगदान दिया है, जिसके तहत अब तक कैडेबर से 20 लीवर और 40 किडनी के सफल प्रत्यारोपण किये जा चुके हैं।

ज्यूलरी की दुकान में चोरी करती महिलाएं हुई कैद-देखें वीडियो

उत्तर प्रदेश के सीतापुर में महिलाओ की चोरी एक तस्वीर सीसीटीवी में कैद हुई है. यहाँ महिलाओ के साथ एक लड़का भी चोरी करने में उनका पूरा साथ दे रहा है. तस्वीरों में साफ़ दिखाई दे रहा है की महिलाओ ने किस तरह से सोने के कंगन चुराए. महिलाओं ने सोने के कंगन इतनी सफाई से गायब किये की सेल्स गर्ल भी नहीं समझ पायी की कब उन महिलाओ ने कीमती कंगन गायब कर दिया. और बड़ी ही आसानी से दुकान से बहार चली गयी. चोरी की इस वारदात का खुलासा तब हुआ जब शाम के समय दुकान बंद करने से पहले स्टाक की गिनती में कीमती कंगन कम पाए गए. तब दुकानदार ने दुकान में लगे सीसीटीवी को खंगालना शुरू किया और चौकाने वाली तस्वीरें दिखाई दी. दुकानदार के मुताबिक़ महिलाऐं काफी देर से कीमती कंगनों की डिमांड कर रही थी. उनकी डिमांड पर एक महिला सेल्स गर्ल को उनको कंगन दिखाने में लगा दिया गया.  उन्होंने कई अच्छे अच्छे कंगन देखने शुरू कर दिए और उनकी कीमत भी पूछने लगी. इसी बीच जब महिला सेल्स गर्ल कंगन के रेट अपने पास रक्खे केलकुलेटर में चेक कर रही थी तभी मौका पाते ही दोनों में से एक महिला ने कीमती सोने के कंगन की एक जोड़ी अपनी साडी में इतनी सफाई से गायब की कि सामने खड़ी लड़की को पता तक नहीं चला. कंगन गायब करने के बाद महिला अपने घूँघट को सँभालने लगी और थोड़ी देर बाद दोनों महिलाओ सहित उनका साथी लड़का वहां से चला गया. दूकानदार के मुताबिक़ सीसीटीवी की ये तस्वीरें पुलिस को देकर केस दर्ज करा दिया गया है.

Tagged under

अवैध कब्जेधारियों के खिलाफ चलेगा अभियान

मैनपुरी में आयोजित पूर्व राजस्व मंत्री बाबूराम यादव की 16 वीं पुण्य तिथि के उपलक्ष्य में आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुए सपा प्रभारी व वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि वर्तमान सपा सरकार ने ऐतिहासिक कदम उठाते हुए राजस्व संहिता में संशोधन कर न्याय को गरीबों एवं किसानों के द्वार तक पहुंचाया है। कैबिनेट मंत्री ने दूसरों की जमीन और घर को अवैध रूप से कब्जा करने वालों के खिलाफ अभियान चलाने तथा सीधी कार्यवाही का निर्देश देते हुए कहा कि जो लोग गलत काम करते हैं, वे समाजवादी नहीं हो सकते। बुजुर्गों और महान लोगो को याद करने से प्रेरणा मिलती है। बाबू राम जी को याद करते हुए शिवपाल ने कहा कि बाबूराम जी पक्के लोहियावादी व सच्चे समाजवादी थे। उनसे बहुत कुछ सीखने को मिला। सपा सरकार ने विगत चार वर्षों में इतने काम किये हैं जितनी अन्य सरकारे चालीस वर्षों में भी न कर सकीं। सपा सरकार ने रोजगार के काफी अवसर उपलब्ध कराए। विपक्षियों के पास जब कोई मुद्दा नही बचा तो वे सामप्रदायिकता का जहर फैलाने में लग गये है। सामप्रदायिकता को आजाद हिन्द का सबसे बड़ा नासूर बताते हुए शिवपाल ने कहा कि दिलों में अलगाव पैदा करनी वाली सोच को खत्म किये बिना हम अपने राष्ट्रनायकों के सपनों का भारत नहीं बना सकते।

 

मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी की दोबारा सरकार इससे भी प्रचण्ड बहुमत से बनेगी। शिवपाल ने जोर देकर कहा कि समाजवादियों को ऐसा कोई काम नहीं करना चाहिए जिससे जनता में समाजवादी पार्टी की छवि धूमिल हो। प्रदेश में आज चहुंओर विकास की धरातल पर दिखाई दे रहा है। सड़क, स्वास्थ्य, शिक्षा के क्षेत्र में काफी कार्य हुए हैं। ग्रामों को फोरलेन से जोड़कर गांव का सर्वागीण विकास भी वर्तमान सरकार ने किया है। किसानों को उनकी उपज का वाजिब मूल्य दिलाने, उनकी समस्याओं का प्राथमिकता पर निदान कराने एवं उन्हें विचैलियों से बचाकर खाद, बीज, कृषि उपकरणों पर दी जाने वाली अनुदान की राशि सीधे लाभार्थी के खाते में भेजने का कार्य भी किया। सड़कों, सिंचाई, टयूबवेल के क्षेत्र में काफी  पिछडा था, प्रदेश सरकार ने जनपद के सर्वागीण विकास के लिए सरकारी खजाने का मुँह खोला और हर क्षेत्र का काफी कार्य किये।

 

 

माया“देवी” के चक्कर में बीएसपी कार्यकर्ता  भूले मर्यादा, कहा पेश करो बहन-बेटी

लखनऊ, बसपा सुप्रीमो मायावती के खिलाफ दयाशंकर की आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद सड़क पर उतरे बीएसपी नेता और कार्यकर्ता दो कदम आगे निकले हैं। नारी सम्मान के लिए प्रदर्शन कर रहे बीएसपी वाले नारी के लिए ही अपशबद प्रयोग कर रहे हैं। लखनऊ स्थित अंबेडकर प्रतिमा के पास प्रदर्शन कर रहे हजारों बीएसपी कार्यकर्ताओं ने सबसे पहले दयाशंकर का पुतला फूंका और बाद में अभद्र नारे लगाए। बीएसपी वालों ने लगाया नारा दयाशंकर अपनी बेटी को पेश करो, अपनी बहन पेश करो और अपनी पत्नी पेश करो।

हज़रतगंज में दयाशंकर को लेकर जो भद्दी-भद्दी गालियां मंच से दी जा रही हैं। मायावती उस पर क्या कहेंगी या फिर बसपा संसद में भी यही गालियां दोहराएगी? उन्होंने कहा कि दयाशंकर से अपनी बहन पेश करने की मांग सार्वजानिक मंच से की जा रही है। उनकी बहन का क्या कुसूर है। कृपया सबको इस पर भी मुखर होना चाहिए। वरना मीडिया भी अपनी जिम्मेदारी से नहीं बच सकेगी। उस पर भी ऊंगली उठेगी।

Tagged under

वन्यजीव तस्करी तेंदुए की खाल के साथ एक गिरफ्तार

बहराइच। बहराइच वन प्रभाग और कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग की संयुक्त टीम ने  नौतला गांव में छापेमारी करते हुए एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। इसके कब्जे से तेंदुए की एक खाल और उसकी हड्डियां बरामद हुई हैं। बरामद तेंदुए की खाल की अंतरराष्ट्रीय कीमत लगभग २० लाख रुपये है। वन विभाग की टीम ने गिरफ्तार वन्यजीव तस्कर से पूछताछ शुरू कर दी है। 

१४३ सेंटीमीटर लंबी है खाल, अंतरराष्ट्रीय कीमत लगभग २० लीाख रुपये

बहराइच वन प्रभाग की टीम को कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग के अधिकारियों ने मुखबिर की सूचना पर जानकारी दी कि एक व्यक्ति तेंदुए की खाल की तस्करी कर उसे बाहर ले जाने की फिराक में है। सूचना मिलने पर बहराइच वन प्रभाग के क्षेत्रीय वनाधिकारी रुस्तम परवेज और मोतीपुर वन रेंज के क्षेत्राधिकारी वनाधिकारी खुर्शीद आलम की अगुवाई में गठित टीम ने रामगांव थाना क्षेत्र के नौतला गांव में छापेमारी की। गांव निवासी रामभरोसे पुत्र घसीटे को गिरफ्तार किया गया। उसके कब्जे से तेंदुए की खाल और कुछ हड्डियां बरामद हुई हैं। क्षेत्रीय वनाधिकारी रुस्तम परवेज का कहना है कि तेंदुए की खाल की लंबाई लगभग १४३ सेंटीमीटर है। यह खाल व हड्डियां लगभग दो साल पुरानी हैं। पकड़ी गई खाल की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में २० लाख के करीब हैं। तेंदुए का शिकार किये जाने और खाल की तस्करी के बारे में पकड़े गए वन्यजीव तस्कर रामभरोसे पूछताछ की जा रही है।

सार्वजनिक उपक्रम आई टी आई मनकापुर हो गया घोटालेबाजों का अडडा

मनकापुर/गोण्डा, प्रबंधन और कर्मचारियों के मनमानेपन की वजह से गोण्डा में स्थित एक सरकारी उपक्रम बंदी की कगार पर पहुँच गया है। उत्तर प्रदेश के गोंडा जनपद की मनकापुर तहसील में तत्कालीन कांग्रेस सरकार की प्रधानमंत्री इंदिरागांधी ने संचार क्षेत्र की अन्तर्राष्ट्रीय मानक वाली इंडियन टेलीफोन इंडस्ट्री मनकापुर गोंडा में स्थापित कर ब्लॅाक स्तरीय जगह को एशिया के मानचित्र पर डिजिटल सिटी के नाम से स्थापित कर दिया था। सार्वजनिक क्षेत्र के इस उपक्रम में आधुनिक संचार प्रणाली को विकसित करने के लिए बी टी एस यानि टेलीफोन इक्सचेंज में काम आने वाले रैक बनने लगे जिस भारत के साथ साथ अन्य देशों में भी निर्यात किया जाने लगा इस कम्पनी के चलते आस पास के क्षेत्र का आर्थिक शैक्षणिक एवं सामाजिक विकास हुआ ।स्थानीय लोगों को बहुत अधिक संख्या में रोजगार प्रत्यक्ष न मिल कर अप्रत्यक्ष रुप से मिल गया। कुछ सालों पहले तक सब कुछ ठीक चल रहा था लेकिन माना जा रहा है कि प्रबंधन के लोग अपने व्यक्तिगत विकास की ओर ज्यादा रूचि लेने लगे और समय के साथ अपनी तकनीक नहीं बदली जिससे धीरे धीरे कंपनी घाटे में जाती रही।

कंपनी जो जितना नुकसान सरकारी नीतियों से नही हुआ उससे ज्यादा खुद कंपनी के प्रबंधन ने किया। और अब एक और खुलासा सामने आया है। बताया जाता है कि कम्पनी के सैकड़ों कर्मचारियों ने नियम कानून को ताक पर रखकर सेवा के साथ बिना प्रबंधन की अनुमति के रेगुलर पढाई करके तीन वर्षीय कानून की व्यवसायिक पढाई (LLB) कर लिया। और यह सब हुआ प्रोन्नति पाने के लिए। छ साल में होनेवाले प्रोन्नति को दो साल में पा लिया और यह सब हुआ प्रबंधन की मदद से । कई कर्मचारियों ने लाखों की फर्जी मेडिकल बिल लगाकर फर्जी भुगतान कराया गया, कईयों ने फर्जी रुप से यात्रा भत्ता के रुप में हजारों डकार लिए। कई अधिकारी कर्मचारी कम्पनी का काम छोडकर अपने खुद के अलग अलग व्यवसाय में लग गये। सरकारी धन का खूब खिलवाड़ किया गया। जिसका प्रभाव उत्पादनपर पडकर घाटा बढते बढते आय से ज्यादा खर्च होने लगा और गुणवत्ता की कमी के चलते कार्यादेश मिलना बंद हो गया।

अब कम्पनी के पास कोई काम नहीं बचा तो हजारों करोड के सरकारी आवासों को किराये पर उठाने का नया धंधा शुरू किया गया जिसमें कहने को आवास आवंटन की नीति बनी है पर सब कुछ कुछ अधिकारियों और उनके राजनैतिक आकाओं की मनमरजी चलती है आवास और परिसर की व्यवसायिक दुकानों के आवंटन में घोर पक्ष पात किया जा रहा है यहाँ तक की आई टी आई लि मनकापुर के अधिकारी खुलेआम कानून का मजाक बना कर आम नागरिकों के शोषण में लगी है। बताया जाता है कि जिनके बच्चे परिसर में चल रहे विद्यालय में पढ रहे है उन्हें आवास आवंटित किया जायेगा। और प्रति आवंटन 50000 जमानत धनराशि जमा होगी इसके बाद कोई आई टी आई लि का कर्मचारी उनकी गारंटी लेगा फिर कंपनी का मकान आपका । 

यह भी हो गया आगे इनके द्वारा पूरे भारत में लागू कानून को किस तरह मनमाफिक बना डाला आवंटी से 100रूपये का स्टाम्प खरिदवा कर उससे शपथपत्र लिया जाता है कि हम आपका आदेश निर्देश मानेंगे आपको बताते चले देश में शपथपत्र न्यायालय में न्यायिक प्रक्रियाओं में उपयोग होने का नियम है जो जनपद न्यायाधीश द्वारा नियुक्त शपथ आयुक्त प्रमाणित करता है जो मात्र 10/ के स्टाम्प पर बनाये जाने का प्राविधान है न्यायालय से अतिरिक्त प्रशासनिक कार्यालयों में शपथ नोटरी के रूप में प्राविधानित है पर आई टी आई लि के अधिकारी खाऊ कमाऊ नीति के तहत कानून को खुलेआम तमाशा बना रहे है । यही नहीं अब जमानत धनराशि का रख रखाव व किराया के धन में भी घपले की बात सामने आ रही है आज जब कोई काम नहीं है तब भी कम्पनी के लोग देश भर में जी सी एम प्रोजेक्ट के नाम पर होटलो में रहकर चूना लगा रहे है । इस सम्बन्धमें ए जी एम प्रशासन के मोबाइल न 9415533731पर सम्पर्क कर जानकारी चाही गई तो मोबाइल व्यस्त कर दिया गया कुछ दिन पहले लोक सभा में स्थानीय सांसद गोंडा द्वारा आई टी आई लि मनकापुर के पुनरुद्धार के प्रश्न पर केंद्रीय संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा था कि प्रबंधन व पिछली सरकार के समय से तकनीक न बदलने का परिणाम है जो सही है परकम्पनी में घोटालों व अनियमितताओं से इन्कार नहीं कर सकते।

- रिपोर्ट श्याम लाल शुक्ल

बाढ नियंत्रण और राहत कार्य में कोताही नही होगी बर्दाश्त-शिवपाल

लखनऊ,उत्तर प्रदेश के सिंचाई मंत्री श्री शिवपाल सिंह यादव ने अधिकारियों को निर्देेश देते हुए कहा कि  बाढ़ प्रभावित जिलों में बाढ़ नियंत्रण, बचाव व राहत कार्य प्रभावी ढंग से चलाकर जनजीवन को सुरक्षित करना हमारी सर्वाेच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी, मुख्य अभियन्ता, सिंचाई के साथ बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का भ्रमण कर स्थिति का जायजा लें और मौके पर रूक कर राहत और बचाव कार्य संचालित करायें। श्री यादव ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि बाढ़ प्रभावित जनपदों में सी0एस0सी0, पी0एस0सी0 पर अन्य स्थानों से चिकित्सक तैनात करें। उसी तरह पशु चिकित्सालयों मंे गला घोंटो व खुरपका बीमारियों के बचाव की कारगर उपाय सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि व्यापक टीकाकरण एवं दवा की उपलब्धता आवश्यकतानुसार बनाये रखें। 
 श्री यादव ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि विधुत विभाग के कोल स्थाई बनवाये जायें तथा ऐसी व्यवस्था की जाये कोई भी तार टूट कर न लटके जिससे की बाढ़ के दौरान करन्ट फैलने की सम्भावना न रहे। उन्होेंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि संवेदनशील व अतिसंवेदनशील बांधो का नियमित रूप से निरीक्षण कराया जाये तथा बाढ़ चैकियों की भी लगातार निगरानी की जाये। श्री यादव ने कहा कि इटावा और मैनपुरी में सेंगर, सिरसा आदि नदियों को गहरा करके बाढ़ की समस्या से छुटकारा मिला है। इसी तरह अन्य नदियों की सिल्ट निकालकर उन्हें गहरा करने की आवश्यकता है। ड्रेन व नहरों के सक्रैप साफ कराकर अतिरिक्त पानी का करेें डायवर्जन। बाढ़ और सूखा नियंत्रण की कार्ययोजना मार्च-अप्रैल में बनाकर समय से क्रियान्वयन कराकर इन समस्याओं से बचा जा सकता है। नदियों की सफाई कराकर उन्हें गहरी बनाना बाढ़ और सूखा समस्या का स्थाई समाधान है । वर्षा के समय अतिरिक्त पानी संचित करने से जहाॅं एक तरफ बाढ़ की विभीशिका से बचाव होगा वहीं संचित पानी जरूरत के समय सिंचाई के काम आयेगा। सिंचाई मंत्री ने निर्देश दिये कि नहरों व सिंचाई विभाग की जमीन पर हो रहें अतिक्रमण को भी जिलाधिकारी विभागीय अधिकारियों के सहयोग से अतिक्रमण मुक्त कराने का चलायें अभियान। उन्होंने कहा कि उ0प्र0 सरकार ने अपने दम पर पिछले चार सालों में बाढ़ राहत और बचाव का कार्य किया है। केन्द्र सरकार ने प्रदेश सरकार का 122 करोड़ रूपये बकाया नही दिया। 
       मुख्य सचिव श्री दीपक सिंघल ने कहा कि बाढ़ प्रभावित जनपदों के जिला अधिकारी के मार्गदर्शन में हरदम अलर्ट रहें। उन्होंने कहा कि बाढ़ नियंत्रण राहत एवं बचात कार्य में लापरवाही बरतनें वाले अधिकारियों के विरूद्व कठोरतम कार्यवाही की जायेगी। श्री सिंघल ने कहा कि किसी भी कीमत पर जनहानि/पशुहानि नहीं होनी चाहिए। उन्होने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस लाइन के अलावा अन्य सुरक्षित स्थानों पर हेलीपेड तैयार करायें जाये जिससे की हवाई आपरेशन के दौरान उनका प्रयोग किया जा सके। बस्ती, बाराबंकी के जिलाधिकारियों से सबक लेकर अन्य अधिकारी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का करें सघन निरीक्षण करें तथा बाढ़ चैकियों पर काॅल सेण्टर भी स्थापित किये जायें। श्री सिंघल ने कहा कि मीडिया से निरन्तर सम्पर्क हेतु जिलाधिकारी नोडल अफसर की तैनाती करें जो सूचना विभाग के सहयोग से प्रिंट एवं इलेक्ट्राॅनिक, डिजीटल और सोशल मीडिया से नियमित सम्पर्क करते रहें। 
समीक्षा के दौरान डी0जी0पी0, प्रमुख सचिव गृह, प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य, प्रमुख सचिव, पशुपालन, सचिव राजस्व/ राहत आयुक्त श्री अनिल कुमार तृतीय आदि ने अपने विचार व्यक्त किये। जिलाधिकारी बाराबंकी, बस्ती, गोण्डा, बहराईच, बिजनौर, रामपुर, बलरामपुर आदि ने अपने अनुभव शेयर किये । प्रमुख सचिव, सिंचाई ने समीक्षा बैठक का संचालन किया । 
Tagged under
Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px