Log in

 

updated 12:34 PM UTC, Jun 23, 2017
Headlines:

मेरे पास प्रधानमंत्री मोदी के रिश्वत लेने के सबूत-केजरीवाल

लखनऊ,दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज लखनऊ में नोटबंदी के खिलाफ रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर गंभीर आरोप लगाया है। लखनऊ के रिफाह-ए-आम क्लब के मैदान में आज आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल के साथ उनकी सरकार के मंत्रियों तथा विधायकों ने भी जनसभा को संबोधित किया। सभा में केजरीवाल के मंत्रियों ने संसदीय मर्यादा को भी लांघ दिया। जनसभा ने अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर देश के साथ ही बाहर के पूंजीपतियों से रिश्वत लेने का आरोप लगाया।

 

केजरीवाल ने कहा कि उनके पास मोदी के रिश्वत लेने के सुबूत हैं। उन्होंने कहा कि मेरे पास बड़ी मात्रा में आयकर विभाग के दस्तावेज हैं, जिनसे साबित हो जाएगा कि पीएम मोदी ने पूंजीपतियों से रिश्वत ली है। लखनऊ के मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र के गोलागंज के रिफाह-ए-आम क्लब के मैदान में केजरीवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर मामले में अपना फैसला थोपने का काम करते हैं। वह न तो किसी गरीब के बारे में सोच रहे हैं और न ही किसान की बदहाली का उनको अनुमान है। मोदी तो देश के शीर्ष बिजनेसमैन के पक्ष में हर काम को अंजाम दे रहे हैं।अरविंद केजरीवाल ने मेरठ व वाराणसी में अरविंद केजरीवाल नोटबंदी के खिलाफ जनसभा की थी। केजरीवाल की यूपी में यह तीसरी रैली थी। लखनऊ में कल रात आप के नेता और कार्यकर्ताओं ने बाइक रैली निकाली थी।

 

इससे पहले अरविंद केजरीवाल आज करीब 11:40 पर लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटनेशनल एयरपोर्ट पर उतरे। उन्होंने एयरपोर्ट से सीधा लखनऊ के वीवीआइपी गेस्ट का रुख किया। जहां आराम करने के बाद करीब तीन बजे जनसभा स्थल पर पहुंचे। उनके साथ उत्तर प्रदेश के प्रभारी संजय सिंह भी थे।

अल्पसंख्यक अधिकार दिवस पर आयोजित हुई संगोष्ठी

तम्बौर सीतापुर।अल्पसंख्यक अधिकार दिवस पर आयोजित एक संगोष्ठी मे मुख्य अतिथि उच्च शिक्षा आयोग के पूर्व चेयरमैन जनाब फ़िदा हुसैन अंसारी ने कहा कि अल्पसंख्य्क सिर्फ मुसलमानो को समझा जाता है जब्कि ऐसा नहीं है। सरकार ने अल्पसंख्यको की उन्नति के लिए बहुत सी स्कीमें दी है। इस टेक्नोलाॅजी के दौर सब कार्य आसान हो गए है और घर बेठे सारी मालूमात हासिल की जा सकती है। उन्होंने कहा कि अल्पसंयको को सिर्फ दो चीजो से जोड़ दिया गया एक उर्दू ज़ुबान और दूसरी मदारिस जबकि यही दोनों चीजों ने मुल्क को स्वतन्त्र करने में अहम भूमिका निभायी है।

 

इंकलाब ज़िंदाबाद का नारा उर्दू ज़ुबान ने दिया और मदारिस के बुद्धजीवियों ने मुल्क को स्वतंत्रता दिलाने के लिए अपनी जान न्योछावर कर दी। फिर भी हमी को बदनाम किया जा रहा है। बज़्मे ख्वातीन लखनऊ की सरपरस्त शहनाज़ शिदरत, शिक्षक मस्त हफ़ीज़ रहमानी , डीसीबी चेयरमैन नीरज वर्मा झल्लर , अधिवक्ता अयाज़ अय्यूबी, एन एन भारती, हफ़ीज़ इमरान अली, मौलाना ज़ुबेर, मौलाना शाहिद ,बिलाल अशरफ,  विशाल रस्तोगी आदि ने संबोधित किया।

 

कार्यक्रम का संचालन खुशतर रहमानी ने किया। इस अवसर पर मो0 नसीम , मुन्ना मुज़म्मिल, हसीन अंसारी, मौलाना वसीम, मौलाना शकील ,मौलाना अब्दुल रशीद, राधेश्याम रस्तोगी,  फहीम खान ,अज़ीज़ गौरी  , डा0 महताब, तुफैल खान, मो0 नईम, मो0 रियाजुल हक़, आदि लोग उपस्थित रहे। इस मौके पर मुफ़्ती मो0 खबीर नदवी द्वारा लिखित पुस्तक नबीवी नकुश स0 का अतिथियों द्वारा बिमोचन भी किया गया।

कैश न मिलने पर गुस्साए ग्राहकों ने फूँक दी मैनेजर की बाईक

बलरामपुर। नोट बन्दी से उपजे हालात सामान्य होने का नाम नहीं ले रहे हैं। शनिवार को भी ग्रामीण क्षेत्र के ज्यादातर बैंक “कैशलेस” ही रहे। जिला मुख्यालय पर भी ज्यादातर एटीएम बन्द रहे। बैंको से लोगों को निर्धारित धनराशि नही मिल पा रही है। जिससे लोगोें में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। जिले के पचपेड़वा क्षेत्र के इलाहाबाद बैंक शाखा मल्दा गणेशपुर मेें कैश न मिलने से गुस्साये ग्राहकों ने शाख प्रबंधक की मोटरसाइकिल जलाकर जमकर प्रर्दशन किया।

 

नोटबन्दी को लेकर दिनप्रतिदिन हालात बिगडते जा रहे हैं। भोर से ही बैंको के सामने पैसा निकालने के लिए लम्बी लाइन लग जा रही है। घंटो लाइन में खड़ा रहने के बाद भी न तो बैंक की शाखाओं से पैसा मिल पा रहा है और न एटीएम से। डाकघरों में भी पैसा खत्म हो चुका है। आये दिन पैसा निकालने को लेकर बवाल होता है। शनिवार को थाना पचपेड़वा क्षेत्र के मल्दा गनेशपुर इलाहाबाद बैंक शाखा पर तड़के सुबह से ग्राहकों की लम्बी लाइन लगी थी। कड़ाके की ठंड में खड़े लोग बैंक खुलने का इंतजार कर रहे थे। सुबह 10 बजे बैंक खुलने के बाद ग्राहकों को पैसा नहीं मिल सका। क्योकि बैंक की इस शाखा में कैश था ही नही। बैंक कर्मियों ने जब इसकी सूचना ग्राहकों को दी गई तो ग्राहकों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। गुसाये ग्राहकों ने बैंक कर्मियो को निशाना बनाना चाहा तो बैंक कर्मी शाखा के अन्दर जाकर अन्दर से ताला लगा लिया। गुस्साये ग्राहक इस पर भी नहीं माने। बैंक के बाहर खड़ी शाखा प्रबंधक की बाइक को ग्राहकों ने पहले तोड़ा फिर आग के हवाले कर दिया। देखते ही देखते बाइक जलकर राख हो गई।

 

घटना की सूचना पाकर थानाध्यक्ष पचपेड़वा राजकुमार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गये। पुलिस ने लाठियां फटकारकर ग्राहकों को तितर बितर किया।  जिले के अन्य क्षेत्रों में भी हालात सामान्य नहीं दिखें। कई जगहों पर पैसे को लेकर ग्राहकों व बैंक कर्मियों के बीच तीखी नोंक झोंक हुई। थानाध्यक्ष पचपेड़वा ने बताया कि शाखा प्रबंधक की बाइक को जलाने वालो के विरू़द्ध कार्रवाई की जायेगी।

शहरी क्षेत्र मे 15 मिनट और ग्रामीण मे 20 मिनट में पहुँचेगी पुलिस

मिर्जापुर,स्वास्थ्य विभाग की तर्ज पर पुलिस विभाग में डायल 100 सेवा की आज से शुरूआत की। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने हमीरपुर से इस महत्वाकांक्षी योजना डायल 100 के दुसरे चरण का शुरूआत की तो मिर्जापुर में भी बेेसिक शिक्षा व बाल पुष्टाहार राज्यमंत्री कैलाश चौरसिया ने हरी झंडी देखाकर रवाना किया। पुलिस लाइन परेड मैदान में सभी 100 डायल गाडियो को दुलहन की तरह सजाया गया था। जिले के सभी आला अधिकारी मौजूद थे। सभी गाड़ियो को रवाना कर दिया गया है आज 8 बजे रात से यह सुबिधा जनता को मिलने लगेगी।

 

शहरी क्षेत्र मे 15 मिनट और ग्रामीण मे 20 मिनट मे यह सेवा मिलेगा।।इस नई सेवा के लिए शासन से मुहैया 35 वाहनों में आठ इनोवा और 27 बोलेरो है। 100 डायल का हर वाहन तीन जीपीएस, दो वायरलेस सेट और एक मोबाइल से लैस है। इसके अलावा एक माॅनिटर लगा है। सभी सिस्टम इंटरनेट से जुड़े है। जीपाएस गाड़ी को लोकेशन बताएगा। मोबाइल और वायरलेस सेट से सीधे लखनऊ कंट्रोल से बात होगी।

 

नीले रंग के वाहन पर पीले रंग से 100 और लालरंग से पुलिस लिखा गया है। वाहनों का रजिस्ट्रेशन लखनऊ में हो चुका है। इस पर लगे हूटर तीन प्रकार की आवाज निकलेगी।

 

इस अवसर पर रतन कुमार श्रीवास्तव पुलिस उप महानिरीक्षक विध्यांचल परिक्षेत्र,मिर्जापुर जिलाधिकारी श्रीमती कंचन वर्मा , पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ,मुख्य विकास अधिकारी अमित कुमार,एस.डी.एम.सदर गुलाब चंद,अरविंद कुमार मिश्र अपर पुलिस अधीक्षक आपरेशन, आशुतोष शुक्ला अपर पुलिस अधीक्षक नगर, विधायक जगतंबा पटेल, विधायक भाई लाल कोल, जिलाध्यक्ष आशीष यादव, पूर्व जिलाध्यक्ष शिव शंकर यादव, सहित काफी लोग उपस्थित रहे।

 

यूपी में लोहिया आवास पाने के लिए देने पडती हैं 20 हजार की घूस

गोरखपुर।एक तरफ जहाँ पीएम मोदी भ्रष्टाचार और कालाधन ख़त्म करने की कवायद में जुटे हुए हैं।वहीं दूसरी तरफ गरीबों को सरकार की योजनाओं का लाभ लेने के लिए अधिकारियों तथा जनप्रतिनिधियों को घूस देना पड रहा है। केन्द्र सरकार और राज्य सरकार की योजनाएं भ्रष्टाचार की भेट चढ रही हैं।

 

ताजा मामला गोरखपुर के भटहट ब्लाक के परसौना गांव का है जहाँ पर लोहिया आवास पाने के लिए हजारों रुपये का घूस देना पड रहा है। उन्हीं पात्र लाभार्थियों को लोहिया आवास योजना का लाभ मिल रहा है जो घूस दे पा रहे हैं। ग्राम प्रधान जाहिद अली को 20-20 हजार रूपये का चढ़ावा चढ़ाया है।लोहिया आवास निर्माण के लिए मिलने वाली रकम में से ग्राम प्रधान 20 हजार रूपये का चढ़ावा चढ़वा कर ही लाभार्थियों को लोहिया आवास योजना का लाभ दिलवा रहे हैं।

 

ग्रामीणों ने बताया कि जिन्होंने ग्राम प्रधान को ख़ुशी से 20 हजार रूपये देने का वादा किया था उनके आवास के लिए सरकार से पैसा मंजूर हो गया।उनके जैसे छोटे जन प्रतिनिधि सुविधा शुल्क लिए बिना जनता को शासकीय योजनाओं का लाभ नही दे रहे हैं। ग्राम प्रधान ने इसी शर्त पर उनका आवास निर्माण मंजूर कराया था कि आवास निर्माण के लिए पैसा मिलने के बाद उन्हें ख़ुशी से 20 हजार रूपये देने होंगे। गौरतलब है कि लोहिया आवास योजना के अन्तर्गत पात्र लोगों को 2 लाख 75 हजार रुपये घर बनाने के लिए सरकार देती है जिसमे उन्ही लोगों को योजना का लाभ मिलता है जो प्रधानों की मुठ्ठी गरम कर दें अन्यथा पात्र लोगों को भी लाभ नही मिल पाता।

वृक्षारोपण कर संजय गांधी को याद किया गया

 मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ। लोक भारती संस्था द्वारा स्व0 संजय गांधी के जन्मदिन पर डॉ0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी इण्टर कालेज में वृक्षारोपण किया गया। वृक्षारोपण के बाद बच्चों को संबोधित करते हुए विद्यालय के प्रबन्धक और लोक भारती संस्था के अध्यक्ष राजेन्द्र नाथ तिवारी ने कहा कि दृढ़ इच्छा शक्ति के धनी संजय गांधी दूरद्रष्टा थे। भारत की जनता की मनोदशा और भारतीय मूल्यों को अक्षुण रखने के लिए उनके सात सूत्रीय कार्यक्रम देश के अनेक समस्याओं के समाधान का मंत्र था।

आज हरी-भरी दिल्ली में जो भी हरियाली है उसमें सर्वाधिक योगदान संजय गाँधी का है यदि जनसंख्या नियन्त्रण पर देश को भ्रमित न किया जाता और उसका 1977 में आने वाली जनता पार्टी ने भी बिना भेद भाव के क्रियान्वयन किया होता तो जनसंख्या विस्फोट से त्राहि-त्राहि कर रहे भारत को ये दिन नही देखना पडता। इस अवसर पर लखनऊ से आये पत्रकार मनोज समना ने कहा कि साक्षरता, अतिक्रम, वृक्षारोपण, जनसंख्या नियंत्रण और जातिवाद समाप्त करने के संजय गांधी की नीतियों को सुसंगठित कर लागू करने के पक्षधर थे। यदि भारत का विकास संजय गांधी की योजनाओं के अनुसार हुआ होता तो आज हम चीन से बडी अर्थ वाला और अमेरिका के बराबर ताकतवर राष्ट्र होते।

राजनैतिक दगाबाजी ओर योजनाओं में घोटालों के विरोधी संजय पारदर्शी तरीके से काम करने के समर्थक थे। इस अवसर पर संजय गांधी के चित्र पर माल्यार्पण करते हुए प्रधानाचार्य कृष्ण देव चतुर्वेदी ने कहा कि आज दुनिया तेजी से प्रदूषित होती जा रही है। संजय गांधी इस बात को चार दशक पहले जान गये थे। भविष्य में जहां वृक्ष होगा वहीं स्वस्थ्य जीवन संभव होगा। कार्यक्रम में वरिष्ठ समाजसेवी मनोज यादव, ओम प्रकाश शास्त्री, नितेश शर्मा, हरीराम यादव, राम लगन यादव, डॉ. दशरथ प्रसाद यादव, जय प्रकाश पाण्डेय, देव प्रभाकर शुक्ला, महेन्द्र सिंह, प्रमोद गुप्ता भी ने अपने विचार व्यक्त किये।

लुट रहे गन्ना किसान,अधिकारी लगा रहे ठुमके

श्याम लाल शुक्ल/गोंडा उत्तर प्रदेश में गन्ना मिलों की घटतौली से किसान पस्त है वहीं गोंडा जिले में प्रशासन से मिलों के खिलाफ शिकायत के बाद भी घटतौली के खिलाफ कोई ठोस कार्यवाई नही हो रही है। उल्टा पूरा का पूरा प्रशासन गोंडा महोत्सव में मस्त हो रहा है। गन्ना किसानों की तैयार फसल मिल गेट पर विक्रय केंद्र पर मनमाने ढंग से घटतौली करके खुलेआम लूट मची है जिला गन्ना अधिकारी गोंडा न शिकायत सुनते हैं न ही फोन उठाते हैं और केन कमिश्नर सब जानकर भी चुप है।

 

हालात ये हैं कि गोंडा जनपद में महोत्सव के वक्त शिक्षा स्वास्थ्य सुरक्षा का स्तर भी गिर रहा है। कागजों में सब जगह रामराज्य है जनता अपनी लाचारी पर रो रही है।हर जगह लूट खसोट चल रही है जिले भर के आला अधिकारी इन सब की काली कमाई से गोंडा महोत्सव में नर्तकियों के साथ ठुमके लगा रहे हैं। कोई अधिकारी किसानों की सुनने को तैयार नही। किसानों के नाम पर चल रही योजनाओं का अता पता नहीं गन्ना की कैश क्राॅप उगाकर किसान के पास कैश नही आ पा रहा उल्टे लुट रहा है।

 

 

गन्ना अधिकारी व चीनी मिल अधिकारी आँख मूंदकर बैठ गए हैं अब महोत्सव खत्म होने तक सब राम भरोसे हैं।

महिला स्वयं सहायता समूहों को सरकार देगी एक-एक लाख

लखनऊ, उत्तर प्रदेश भूमि सुधार निगम द्वारा सोडिक तृतीय परियोजना के अन्तर्गत गठित महिला स्वयं सहायता समूहों को व्यवसाय स्थापित करने के लिए अब एक लाख रूपये दिये जायेगें। उ0प्र0 भूमि सुधार निगम की प्रबन्ध निदेशक श्रीमती पुष्पा सिंह ने विश्व बैंक मिशन के टास्क टीम लीडर श्री बयारसेहान तुमरदवा और कृषि विशेषज्ञ डॉ0 पॉल सिद्दू के समक्ष महिला स्वयं सहायता समूहों के आर्थिक उन्नयन में आ रही धन की कमी का मुद्दा उठाया। विश्व बैंक प्रतिनिधियों ने परियोजना के अन्तर्गत गठित महिला स्वयं सहायता समूहों को एक लाख रूपये की सहायता दिये जाने पर सहमति व्यक्त की। परियोजना के अन्तर्गत गठित

महिला स्वयं सहायता समूहों को अभी तक आर्थिक गतिविधि के लिए मात्र 45000 रू0 की सहायता दी जा रही थी।

20150724_111314

विदित हो उ0प्र0 भूमि सुधार निगम द्वारा सोडिक तृतीय परियोजना के अन्तर्गत प्रदेश के 32 जिलों में अब तक 2410 ग्रामों का चयन किया गया था। इन सभी ग्रामों में 5494 महिला स्वयं सहायता समूहों का गठन किया गया है। गठित महिला स्वयं सहायता समूहों के आर्थिक व सामाजिक विकास के लिए उन्हे उद्योग, व्यवसाय और सेवा क्षेत्र में प्रशिक्षण देकर आजीविका सहयोग हेतु आर्थिक सहायता दी जा रही है। गठित समूह बकरी पालन, दुधारू पशुपालन, मधुमक्खी पालन, सब्जी की खेती, फूलों की खेती, खाद प्रसंस्करण उद्योग जैसे-दलिया, बेसन, बड़ी, पापड़, पिसे मसाले इत्यादि बनाने का कार्य तथा सिलाई, कढ़ाई, मिठाई के डिब्बे, दोना-पत्तल, अगरबत्ती, मोमबत्ती, परचून दुकान, रेडीमेट कपड़े, डलिया, खिलौने बनाने का कार्य कर रहे हैं। इनको अभी तक 45000 रूपये की सहायता दी जा रही थी। 15 सदस्यों वाले महिला स्वयं सहायता समूहों के लिए यह धनराशि काफी कम थी। एक लाख रूपये की सहायता मिलने से गठित समूह अपनी आर्थिक गतिविधि को और अच्छी तरह से करके अधिक आमदनी प्राप्त कर सकेगें।

महिला समूहों की आमदनी बढ़ने से उनका आर्थिक एवं सामाजिक विकास होगा और प्रदेश में महिला सशक्तिकरण को एक नई दिशा मिलेगी।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px