Log in

 

updated 4:51 PM UTC, Feb 19, 2018
Headlines:

बलरामपुर चीनी की मनकापुर यूनिट में गैस रिसाव ३० जानवरों की मौत

लखनऊ उ प्र बलरामपुर चीनी मिल मनकापुर इकाई में आज अचानक अमोनिया गैस के रिसाव से आस पास के क्षेत्रों में अफरा तफरी मच गई है बताया जाता है कि सैकड़ों की संख्या में जंगली जानवर व पशुपक्षियों ने इस खतरनाक गैस से मर गये हैं जिला प्रशासन ने चेतावनी जारी कर आसपास के क ई गांवों से जानवरों व गांव के लोगों को हटने का निर्देश दिया गया है मौके पर पुलिस व वचाव हेतु चिकित्सा टीम पहुँच गई है स्थिति नियंत्रण में है मनकापुर मे हुऐ गैस रिसाव में लगभग ३० जानवरों के मरने की पुष्टि हुई है और कई लापता हैं जानवरों की डेड बॉडी को १० फिट गहरे गढढे में दफ्न कर दिया गया है,।

सडक निर्माण में हुए धांधली पर प्रधानमंत्री कार्यालय ने मुख्यसचिव को दिया निर्देश

मनकापुर,गोण्डा, सडक निर्माण संघर्ष समिति मनकापुर गोंडा के संयोजक श्याम लाल शुक्ल के गुणवत्ता मानकों के अनदेखी की शिकायत पर प्रधानमंत्री कार्यालय ने सख्ती दिखाते हुए, उ प्र के मुख्य सचिव को कार्यवाही करने का निर्देश दिया है। समिति के संयोजक श्यामलाल शुक्ला ने ठेकेदार अधिकारियों और चाटुकार मीडिया के गठजोड़ पर अफसोस जताते हुए समाज का स्वयं को अग्रणी कहने वालों का समाजहित के कार्यों में सकारात्मक योगदान न होने से भ्रष्टाचार को बढावा देने में का आरोप लगाया। नाबार्ड के पैसे को सडक बनाने वाले ठेकेदार और नेता मिलकर लूट रहे हैं। 

 केन्द्र सरकार की वित्तीय संस्था नाबार्ड से वित्त पोषित दर्जीकुआं मनकापुर बभनान और मनकापुर मसकनवा बभनान सडक का निर्माण सडक निर्माण संघर्ष समिति मनकापुर गोंडा के बैनर तले अधिवक्ता श्याम लाल शुक्ल  राजकुमार मिश्र गोमती प्रसाद पाठक विजय कुमार मिश्र व हरीराम पान्डे के आन्दोलन पर केन्द्र के धन से बनाने का निर्णय लिया गया। राज्य सरकार ने टेंडर कर काम शुरु करा दिया गया जैसा आप जानते है उ प्र में सडक बनाने में ठेकेदार अधिकारी नेता और मीडिया के गठबंधन से सडक निर्माण का आधा धन खा जाते है। सडक के नाम पर खाना पूर्ति होकर अगले बरसात तक सडक अपनी पुरानी स्थित में आ जाती है। बहु प्रतीक्षित इस सडक पर भी यही खेल शुरु हुआ जिसकी शिकायत जिला प्रशासन में करने पर जांच जांच का खेल हुआ कमीशन का अनुपात बढ गया वही साहब जो शुरुआत में खराब काम बता रहे थे उनका सुर बदल गया। सडक बनवाने का ढिंढोरा पीटने वालों का अब पता नहीं कहां चले गये। बडे बडो की इमानदारी को संक्रामक बीमारी ने जकड़ लिया निराश और विना हताश हुए तब सडक की गुणवत्ता मानकों के खिलवाड़ की शिकायत प्रधानमंत्री नरेंद् मोदी को करने के बाद, प्रधानमंत्री कार्यालय ने उ प्र के मुख्य सचिव को मानकों की जांच का निर्देश दिया गया अब देखना है कि कि प्रदेश के ठेकेदार और सरकार मिलकर किस तरह प्रधानमंत्री कार्यालय को गुमराह करते हैं।

-श्यामलाल शुक्ला

Tagged under

बुन्देलखण्ड में 20 दिन में खुदेंगे 100 तालाब शिवपाल खुद करेंगे मॅानिटरिंग

उत्तर प्रदेश के सिंचाई मंत्री श्री शिवपाल सिंह यादव के निर्देष एवं देख-रेख में समाजवादी जल संरक्षण योजना के तहत बुंदेलखण्ड़ में यूपी सरकार द्वारा 100 से अधिक तालाब खोदने का काम शुरु कर दिया है,प्रमुख सचिव, सिंचाई एवं जल संसाधन श्री दीपक सिंघल ने यह जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेष सरकार द्वारा 20 दिन के भीतर 100 से अधिक तालाब खोदने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि 100 तालाबों में सिंचाई एवं अन्य उपयोग के लिए 600 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी को स्टोर किया जा सकेगा। श्री सिंघल ने बताया कि चयनित तालाबों की खोदायी का काम युद्ध स्तर पर प्रारम्भ करा दिया  गया है। उन्होंने बताया कि तालाबों की खुदायी कार्यों में 200 से अधिक मषीनें उतारी गयी हैं।
श्री सिंघल ने बताया कि यह मुख्यमंत्री जी का यह एक महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट है तथा इसकी मॉनीटरिंग सिंचाई मंत्री श्री शिवपाल सिंह यादव जी द्वारा स्वयं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सिंचाई मंत्री के निर्देष पर खोदायी कार्यों को और अधिक तेजी से कराया जा रहा है। तालाबों की खुदायी का काम समय से हर-हाल में पूरा किया जायेगा तथा इस पर आने वाला व्यय राज्य सरकार अपने कोश से करेगी।

 भगवा रंग में रंगा असम, गोण्डा में बीजेपी कार्यकर्ताओॆ नें मनाया जश्न 

गोण्डा,असम में भारतीय जनता पार्टी की पहली बार सरकार बन रही है।असम विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रदेश में रेनबो गठबंधन कर बड़े छाते का निर्माण किया था. इसमें बीजेपी, असम गण परिषद, बोडो पीपल फ्रंट के साथ-साथ कई स्थानीय जनजातीय समूहों के दल शामिल थे। असम में भाजपा की जीत पर देश भर के बीजेपी कार्यालयों में खुशी का महौल हैं। गोण्डा बीजेपी कार्यालय में भी जीत का जश्न मनाया गया, कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर बीजेपी की जीत पर बधाई दी। इस मौके पर बीजेपी जिला अध्यक्ष पीयुष मिश्रा और पूर्व सांसद सत्यदेव सिंह मौजूद रहें।

जिला अध्यक्ष पीयुष मिश्रा ने जीत का श्रेय केन्द्र सरकार , मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार सर्बानंद सोनोवाल और असम के बीजेपी कार्यकर्ताओं को दिया। उन्होनें कहा केन्द्र सरकार अच्छा काम कर रही है जिसके कारण पांचों राज्यों में बीजेपी का वोट प्रतिशत और सीटे बढ़ी।

पूर्व सांसद सत्यदेव सिंह ने जीत का श्रेय मोदी सरकार, और असम के बीजेपी कार्यकर्ताओं देते हुए कहा कि कार्यकर्ताओं के मेहनत का फल है कि जहां कभी भाजपा का कोई नामोनिशान नहीं था आज भारतीय जनता पार्टी वहां सरकार बना रहीं हैं।

नमामि भारत की खबर का असर पीसीएफ सीतापुर में मचा हड़कंप, राइस मिलर को बुलाकर तत्काल चावल उतरने के लिए कहा

 

पीसीएफ सीतापुर की धान खरीद में हुआ है बड़ा गड़बड़ झाला !

3000 मीट्रिक टन नहीं मिला एफसीआई को चावल

सिर्फ नमामि भारत ने प्रमुखता से दिखाया था इस खबर को

सीतापुर। नमामि भारत की खबर आज बड़ा असर देखने को मिला है।नमामि भारत द्वारा कल पीसीएफ सीतापुर में बड़ा धान घोटाला होने की  खबर को प्रमुखता से प्रकाशित करने के बाद पीसीएफ सीतापुर ऑफिस में हड़कंप मच गया है। यहाँ आज ही सारे राइस मिलर को अधिकारीयों ने बुलाकर जल्द से जल्द एफसीआई को चावल उतारने के निर्देश दिए है।

आपको बता दे की खाद्यान घोटालों में माहिर जिला सीतापुर में अब एक बार फिर धान घोटाला होने के संकेत मिल रहे है। गेंहूँ और धन खरीद की उत्तर प्रदेश की सबसे बड़ी एजेंसी पीसीएफ ने वित्तीय वर्ष 2015-2016 में धान की हुई  खरीद में अभी तक भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) को अभी तक करीब 3000 मीट्रिक तक चावल रिसीव नहीं कराया है। जबकि धान की खरीद को करीब 3 माह बीत चुके है और गेंहूँ की खरीद भी अपने अंतिम चरण पर है। इस खबर को कल नमामि भारत ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था।
       नमामि भारत द्वारा की गयी पड़ताल में उत्तर प्रदेश की  सरकारी खरीद की सबसे बड़ी एजेसी पीसीएफ सीतापुर ने वित्तीय वर्ष 2015 -2016 में जिले में अपने 28 सेंटर लगाकर खरीद की थी। जिसे एफसीआई सीतापुर को डिलीवर करना था। पीसीएफ सीतापुर ने किसानों से धान तो खरीदा लेकिन करीब 3000 से लेकर 3500 मीट्रिक टन यानी 30000 कुंटल चावल एफसीआई को नहीं पहुँचाया।जबकि धान की खरीद को करीब 3 माह बीत चुके है और वर्तमान में गेंहूँ की खरीद जारी है और वो भी अब अपने अंतिम चरण पर है। तो सवाल उठता है की कहाँ गया करीब 30 हज़ार कुंटल चावल।

   सूत्रों की माने तो अधिकारीयों और कर्मचारियों की सांठ गाँठ से इस खरीद में करोङो के खेल को खेला गया है। यदि इस पूरी धान खरीद की विधिवत जांच करायी जाये तो घोटाले के कई खेल उजागर हो सकते है। इस मामले में भारतीय खाद्य निगम के एरिया मेनेजर का कहना था की करीब 3000 मीट्रिक टन अभी तक पीसीएफ सीतापुर ने नहीं भेज है। वहीँ इस प्रकरण पर डिप्टी आर एम ओ आर के निगम ने कहा की सीएमआर उतारने की डेट बढ़ गयी है, जल्द उतर जायेगा।

राइस मिलो ने किया है धान रिसीव !

सूत्रों की माने तो इस बड़े खेल में राइस मिलें भी सीतापुर की शामिल  रही है। पीसीएफ से अनुबंधित राइस मिलों ने फरवरी माह में सेंटर के ट्रांसपोर्टिंग और हैंडलिंग ठेकेदारों से धान रिसीव कर लिया।  जिसके बाद पीसीएफ के अधिकारीयों ने अपने लक्ष्य को पूरा कर दिखाया। लेकिन  आज तक एफसीआई में धान न पहुंचना सभी को सवालों के घेरे में खड़ा कर रहा है।

घोटाले की आ रही बू !

सूत्रों की माने तो इस पूरे मामले में पीसीएफ के अधिकारीयों और राइस मिलरों की सांठ गाँठ से खाद्यान घोटाले होने की बू आ रही है। वहीँ धान खरीद को करीब 3 माह बीत जाने के बाद भी एफसीआई को  चावल आज तक न मिलना पीसीएफ की कार्यशैली को कटघरे में खड़ा कर रहा है।

पीसीएफ की धान खरीद की हो सकती है जांच !

नमामि भारत द्वारा इस मुद्दे को लगातार सोशल मीडिया पर उठाने के बाद सूत्रों की माने तो पीसीएफ द्वारा की गयी धान खरीद की जांच किसी स्वतंत्र एजेंसी के द्वारा जल्द हो सकती है। क्योंकी सूत्रों की माने तो यह पूरी खरीद कागजों पर की गयी है।
और खरीद की जमीनी हकीकत कुछ और ही है।

रिपोर्ट गौरव शर्मा

 

सावधान! उ.प्र.पुलिस के पास शिकायतकर्ता बन के गए तो हो सकती है पिटाई

लखनऊ , सावधान! यूपी पुलिस के पास फरियादी बन के गए तो आप पिट भी सकते हैं वो भी पुलिस स्टेशन में पुलिस के द्वारा ही, अपने अखिलेश भैया फिर उ.प्र में सरकार बनाने के लिए वोटरों की फिक्र छोड, नाराज नेताओं को मनाने में जमीन आसमान एक कर रहे है उनको लगता है कि जनता से वोट क्षेत्रीय छत्रप दिला कर उत्तर प्रदेश में 2022 तक यादवराज कायम कर देंगे। इसी का परिणाम है कि प्रदेश के दूर दराज वाले जिलों की बात दूर की लखनऊ में थानों में लोग अराजकतावादियो से सुरक्षित नहीं है। वाकया मडियांव कोतवाली का है अनुश्री बर्मा निवासी ई एस 1बी/47सेक्टर ए सीतापुररोड स्कीम अलीगंज लखनऊ को कुछ अराजक तत्वों ने घर में घुस कर मारापीटा पूरे परिवार को जानसे मारने की धमकी दिया लेकिन जब वो अपने साथ घटित घटना की रिपोर्ट लिखाने थाने आई थी तभी दूसरे पक्ष केअरविन्द कुमार पान्डे व अमित कुमार पान्डे (अधिवक्ता) ने मडियांव थाने के अन्दर ही कोतवाल की मौजूदगी में इन लोगो को पीटने लगे। समाजवाद की अपनी पुलिस अपने लय में मस्त रही चुटहिलोन ने तहरीर देकर कार्यवाही की मांग किया तो दरोगा ने रौब गालिव करते हुए 15 बर्षो से रह रहे मकान को खाली करने का फरमान सुना दिया। अब इस परिवार को काटो तो खून नहीं इन दिनों बडे शहरों में घर में एक वकील बनाना जरूरी हो गया। लोग  वकालत जैसे एक सम्मानित पेशे को भी कलंकित कर रहे हैं।

आज सैकड़ों की संख्यामें पंजीकरण के बाद लोग ठेकेदारी कब्जेदारी व रंगदारी करते है बार कौंसिल और न्याय विभाग की इन पर ऐसे कार्यों पर रोक का प्रयास विफल ही रहा है। पुलिस की क्या मजबूरी की उनके सामने लोग मारपीट करें और वह कानून का पालन न करे यह प्रश्न पूरे प्रदेश में उठता है कि शासन भैया अखिलेश नहीं बुआ ही करना जानती है कुछ भी हो बुआ के शासनकाल में अपराधी चाहे जिस बिरादरी के हों शुसुप्तावस्था में ही रहते है इस सम्बन्ध में कोतवाल मडियांव का सी यू जी नं 9454403864 बिजी रहा।

रिपोर्ट श्याम लाल शुक्ल व्यूरो नमामि भारत

युवाओं को कृषि व्यवसाय की ओर आकर्षित करने का प्रयास करेगा पीसीएफ-आदित्य यादव

सभापति पीसीएफ एवं डायरेक्टर इफको आदित्य यादव ग्लोबल बोर्ड द्वारा अपने चीन के भ्रमण के समय बीजिंग तथा चांगजिंग स्थानों का भ्रमण किया और पाया कि वहां पर किसानों द्वारा उच्च तकनीक को अपनाकर कृषि को व्यवसायिक रूप प्रदान किया जा रहा है। जिससे चीन के कृषकों को उच्च गुणवत्ता युक्त खेती के माध्यम से लाभ अर्जित हो रहा है।  आदित्य यादव द्वारा अपने भ्रमण के दौरान चीन के चांगजिंग में डिंकिंग कम्पनी द्वारा निर्मित छोटा कम्वाइन हारवेस्टर, वाटर पम्प, रिपर एवं  पावर टिलर की उच्च तकनीक की मशीनों को आने वाले समय में पीसीएफ के माध्यम से आयात कर उ0प्र0 के किसानों को बिक्री कर कृषि उपज को सरलीकृत एवं व्यवसायिक बनाने के उद्देश्य के सम्बन्ध में कम्पनी के अधिकारियों से विचार विर्मश किया। 

आदित्य यादव ने चांगजिंग में किसानों द्वारा उच्च गुणवत्ता के उत्पादों को कृषि में  प्रयोग करने एवं उससे लाभ के सम्बन्ध में वहां के अधिकारियों से उ0प्र0 के किसानों को अपनी कृषि में प्रयोग करने के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। जिससे कि आने वाले समय में उ0प्र0 के किसानों को पीसीएफ के माध्यम से उक्त तकनीक का कम लागत में ज्यादा लाभ  मिल सके। 

   .

नमामि भारत की खबर का हुआ असर अवैध बालू खनन पर लगी रोक

सीतापुर अवैध बालू खनन का कार्य पुरे सीतापुर जनपद में बगैर किसी रोक टोक के बड़े पैमाने में संचालित किया जा रहा था।इस मामले को नमामि भारत ने कई बार विशेष रूप से इस मामले को खबर में दिखाया था नमामि भारत में प्रमुखता से लगी अवैध खनन की खबर के बाद जहाँ खनन माफियाओं में हड़कम्प मच गया वही अवैध खनन पर प्रशासन की भी नजरे टेढ़ी होती दिख रही है।

प्रशासन आया हरकत में

सीतापुर नमामि भारत ने अवैध बालू  खनन पर जो प्रमुखता से खबर चलायी उसके बाद प्रशासन ने अवैध बालू खनन रोकने के प्रयास चालू कर दिए है। प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रशासन की तरफ से जगह जगह बालू की मंडी और खनन के अड्डो पर छापे मारी चालू कर दो गयी है और समय के साथ छापे मारी में तेजी लायी जायेगी।

ठेका मिला डंप का , लेकिन करा रह थे अवैध खनन।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछले दिनों  लहरपुर तहसील में समाजवादी पार्टी में रसूख़ रखने वाले लोगो को हुआ था डंप का ठेका ग्राम क्योटाना हरदोपट्टी में 5200 घन मीटर का हुआ था लेकिन अभी तक खनन माफिया ने तहसील के उक्त गाँव गड़ोसा , खालेपुरवा,  मूड़ीखेरा, पर्वतपुर, ईरापुर,  लखुवाबेहड़, लोहजरा में 11000 घन मीटर तक अवैध खनन कर दिया गया था। और वाही से बालू को पुरे जनपद में पहुचाया जाता था।

अवैध खनन के इस मलाईदार कारोबार में समाजवादी पार्टी में रसूक् रखने वाले जिले के बड़े नेताओ का हाथ होने की बात सामने आई है 

नमामि भारत की टीम ने जब इस मामले को जिले के खनन अधिकारी से बात करी तो उन्हीने बताया अवैध खनन का मामला मेरे सज्ञान में आया आया है अवैध खनन को रोकने के पूर्ण प्रयास किये जायेगे अभी छापे मारी का काम चालू कर  दिया गया है साथ ही बालू को लाने वाले वाहनों की रोक रोक कर बालू की रॉयल्टी चेक करने का कार्य किया जा रहा है और जो भी अवैध खनन करते या करवाते दोषी पाया जायेगा उसके विरुद्ध क़ानूनी कार्यवाही करी जायेगी।
अवैध बालू खनन को रोकने के लिए प्रसासन क्या कोई बड़ी कार्यवाही करता है
या प्रसासन के द्वारा खनन माफियाओ के विरुद्ध  कार्यवाही करने की बात खोखली साबित होती है ये तो आने वाला वक्त बताएगा लेकिन नमामि भारत की खबर और प्रसासन के हरकत में आने से अवैध खनन कारोबार  से जुड़े लोगो में हड़कम्प जरूर मचा दिया है।

Tagged under
Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px