Log in

 

updated 3:12 PM UTC, Dec 12, 2017
Headlines:

सोनभद्र जेल में सिपाही ने नशे में किया तांडव

सोनभद्र। चोपन थाना क्षेत्र के जिला कारागार में जेल सिपाही के तांडव अपने चरम सीमा पर पहुंच गया। बीती रात नशे में धुत एक जेल सिपाही ने जेल गेटकीपर सिपाही का जमकर पिटाई कर दी। वही पूर्व में नशे में धुत एक और जेल सिपाही ने सरकारी बंदूक से दो फायर कर लोगों को दहशत में ला दिया था। कारागार की छवि धूमिल होते देख जेल अधीक्षक ने कार्यवाही करने का दिया आश्वासन।

 

प्राप्त समाचार के अनुसार बुधवार की रात्रि 10:00 बजे जिला कारागार जेल में उस समय अफरा तफरी मच गई जब एक नशे में धुत जेल सिपाही ने जेल गेटकीपर की धुनाई करने लगा लोगों ने बीच-बचाव कर गेटकीपर की जान बचाई। सूत्रों की माने तो गेट कीपर जेल सिपाही अपने कार्य पर तैनात था उसी दौरान नशे में धुत जेल सिपाही गेटकीपर से ड्यूटी में लेने की बात कही जेल गेटकीपर ने कहा कि तुम वर्दी में नहीं हो और लेट आए हो हम ड्यूटी पर नहीं लेंगे, इस बाबत नशे में धुत सिपाही जेल गेट कीपर की मारने पीटने के साथ भद्दी – भद्दी गाली देने लगा लोगों द्वारा बीच बचाव कर मामले को शांत कराया गया।

 

फिर भी नशे में धुत सिपाही अपना तांडव जारी रखा मौके पर संबंधित अधिकारी पहुंचकर नशे में धुत सिपाही को पुलिस हवालात में 2 घंटे तक बंद रखा। इसी तरह 27 नवंबर को जिला जेल गेट पर संतरी सिपाही नशे में धुत 11:00 बजे रात्रि में सरकारी बंदूक से दो फायर कर दिया था जिससे पीएससी के जवान बाल – बाल बच गए। आए दिन जिला कारागार में शराबी सिपाहियों के उत्पाद से जहां जेल प्रशासन परेशान है वही गुरमा नगरवासी भी इस कार्य से काफी भयभीत और सशंकित हैं। इस बाबत जेल अधीक्षक से बात करने पर बताया कि कुछ शरारती तत्व के सिपाही जिला जेल की छवि को खराब करने पर तुले हैं इनके प्रति विभागीय कार्यवाही की जाएगी।

 

विश्व मृदा दिवस पर किसानो को मिला मृदा स्वास्थ्य कार्ड

माननीय प्रधनमन्त्री की सोशल हेल्थ कार्ड स्कीम के तहत कृषि विज्ञान केन्द्र के द्वारा कृषकों के खेतों से मृदा नमूना लेने के उपरांत मिनी सोशल टेस्टिंग किट के द्वार मृदा नमूनों से पोषक तत्वों एवं अन्य का परीक्षण किया गया। परीक्षण उपरांत इसको मृदा कार्ड में समाहित करने के साथ ही अन्य फसलों के लिये संस्तुति सहित इस सोशल हेल्थ कार्य को किसानों को दिया गया जो की तीन वर्षों के लिये मान्य होगा। अगले तीन वर्षों तक उस मृदा के परीक्षण की आवश्यकता नहीँ होगी। इस कार्ड के माध्यम से कृषकों को मुख्य पोषक तत्वों के साथ ही सूक्ष्म पोषक तत्वों की जानकारी होगी जिसके आधार पर वह भूमि में आवश्यकतानूसार मुख्य पोषक एवं सूक्ष्म पोषक तत्वों को मृदा में फसल अनुसार मिला कर भरपूर उपज लेंगे और साथ में वृद्धि करेंगे। इस प्रकार इस कार्ड के माध्यम से प्रधानमंत्री जी का कृषकों की आय दूना करने का संकल्प पूरा होगा। कृषि विज्ञान केन्द्र प्रधानमंत्री जी की इस पहल को पूर करने का शत प्रतिशत कार्य कर रहा है।

 

महयोगी कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा विश्व मृदा दिवस के अवसर पर मृदा स्वास्थ्य कार्ड का वितरण कृषकों को किया गया। कार्ड का वितरण चौकमाफी ग्राम के प्रधान श्री देवप्रयाग पाण्डेय के कर कमलों द्वारा कृषकों को कार्ड का वितरण किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में श्री अरुनेँद्र वर्मा, प्रोजेक्ट मैनेजर  ITC मिशन सुनहरा कल एवं उमंग सुनहरा कल एवं श्री संदीप प्रकाश उपाध्याय ,मृदा वैज्ञानिक डा विवेक कुमार सिंह , डा प्रतीक्षा सिंह,गृह वैज्ञानिक डा राहुल कुमार सिंह ,कृषि प्रसार वैज्ञानिक डा अजीत कुमार श्रीवास्तव ,ऊद्धान वैज्ञानिक एवं कृषि विज्ञान केन्द्र अध्यक्ष डा आर.पी. सिंह उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन कर रहे डा राहुल कुमार सिंह ने बताया की संयुक्त राष्ट्र खाद्य और कृषि संगठन ने वर्ष 2014 में प्रथम बार विश्व मृदा दिवस मनाया एवं वर्ष 2015 को संयुक्त राष्ट्र द्वार अंतर्रष्ट्रीय मृदा वर्ष के रूप में भी मनाया जा चुका है। उन्होने कहा कि इसको हमें एक सामजिक पर्व के रूप में मनाना चहिये।

 

मुख्य अतिथि ने भी इसको समय के साथ आवश्यक क़दम बताया। केन्द्र अध्यक्ष डा आर.पी. सिंह ने सभी का स्वागत एवं अभिनंदन करते हुए पोषक तत्वों के संतुलित उपयोग करने के बारे में बताया।डा अजीत कुमार श्रीवास्तव उद्यान वैज्ञानिक ने बताया कि जैसे हमको स्वस्थ रहने के लिये पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है उसी तरह हमारी माटी को भी पोषक तत्व चहिये तथा मृदा के स्वास्थ्य की जानकारी के लिये हमको मृदा का परीक्षण कराना आवश्यक है तथा प्रधानमंत्री के सोशल हेल्थ कार्ड स्कीम को अपनाने पर जोर दिया और "स्वस्थ धरा तो खेत हरा "जैसे स्लोगन का महत्व बताया।डा प्रतीक्षा सिंह गृह वैज्ञानिक ने भी महिला कृषकों से आवाहन की कि वह भी इस कार्य में अपना पूरा सहयोग प्रदान करे।श्री संदीप प्रकाश उपाध्याय, मृदा वैज्ञानिक ने कार्ड के महत्व को बताया ।श्री अवनीश कुमार सिंह ने कृषकों की आय दुगना करने के बारे में चर्चा की। अंत में सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया गया।धन्यवाद डा प्रतीक्षा सिंह द्वारा किया गया।

सेना के जवान को गोण्डा पुलिस ने लाठी डंडो से पीट पीटकर किया अधमरा,पूर्व सैनिकों में रोष

गोण्डा। एक तरफ जहाँ सेना के जवान अपनी जान पर खेलकर देश की सरहदों की रक्षा करते है, हमारी सलामती के लिए मौत से लड़ जाते है तो वही दूसरी ओर हमारे देश की पुलिस शायद ही अपना कर्तव्य निभाने में ईमानदारी रखती हो, लेकिन जवानों को अपमानित करने में कोई कसर नही छोड़ती। जी हां एक ऐसा ही सेना के जवान को अपमानित करने वाला वाक्या यूपी की गोण्डा पुलिस द्वारा किया गया। मामला जमीनी विवाद का है, विवादित जमीन पूजा करने से नाराज कुछ लोगों ने पुलिस को फोन कर सूचित किया और मौके पर पहुँचे एक नही बल्कि दोनों दारोगाओं ने बिना कुछ सुने व समझे ही जवान की लाठी - डंडों से जमकर पिटाई कर डाली जिससे जवान के शरीर पर चोट के गहरे निशान बन गए। पिटाई के दौरान फौजी दरोगा के सामने गिड़गिड़ाता रहा लेकिन दरोगाओं ने उसकी एक भी नही सुनी और जमकर जवान पर लाठी बरसाते रहा।

 

कश्मीर के श्रीनगर में तैनात सेना का जवान राम नारायण छुट्टी पर घर आया हुआ था, सुबह के समय जवान घर के पास की विवादित जमीन पर पूजा करने के लिए गया और वहाँ पूजा करने लगा और इतने में ही विपक्षियों ने गोण्डा के तरबगंज थाने पर पुलिस को फोन कर इसकी सूचना दी। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुँची, विवादित जमीन पर पूजा करने से नाराज दरोगा संतोष कुमार व राम चन्द्र गौतम ने जवान पर लाठियां बरसाने लगे लेकिन इस दौरान जवान जमीन पर गिर गया और तापडता रहा। इस पर भी दोनों दरोगाओं का जी नही भरा और वे फौजी को रगडगंज चौकी ले आये जहाँ फिर से उसकी लाठियों से पिटाई की। पिटाई से जवान के पूरे शरीर पर गहरे चोट के निशान पड़ गए। जवान की इतनी बुरी तरह से पिटाई की गई कि पूरा शरीर नीला पड़ गया।

 

पुलिस द्वारा जवान की पिटाई की खबर पूरे जिले में फैल गई, जिससे जिले वर्तमान व पूर्व सैनिकों में रोष लहर दौड़ गई, पूर्व सैनिक और वर्तमान अन्य सैनिकों ने दरोगा की शिकायत व दोनों दरोगाओं के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर एसपी कार्यालय में घेर डेरा डाल दिया। एसपी कार्यालय में  काफी देर तक इंतजार करने के बाद सेना के जवानों ने एसपी उमेश कुमार सिंह से मुलाकात कर लिखित में दोनों दरोगा के विरुद्ध शिकायत की।

 

एसपी उमेश सिंह ने खाकी पर कालिख पोतने वाले इस प्रकरण को संज्ञान में लेते हुए मीडिया को बताया कि फौजी के द्वारा चौकी इंचार्ज पर पिटाई का आरोप लगाया गया है जिसकी जांच एडिशनल एसपी को सौंप दी गई है और कल तक जांचकर मेरे सामने प्रस्तुत करने को मैने कहा है। यदि चौकी इंचार्ज की गलती पायी जाती है तो उनके खिलाफ विभागीय व दंडात्मक कार्यवाही की जायेगी।

अवैध तरीके से सोन नदी में अस्थाई पुल बना कर हो रहा खनन

गणेश दूबे /सोनभद्र। योगी सरकार द्वारा अवैध खनन पर रोक लगाने के तमाम प्रयास विफल होते नजर आए रहे है। सोनभद्र जिले में संचालित हो रही बालू साइटों पर मशीनों का प्रयोग अनवरत जारी है। कोन थाना के बरहमोरी में पीएनसी कम्पनी (मेयर नवीन जैन/ प्रदीप जैन) द्वारा सोन नदी में अवैध तरीके से अस्थायी पुल बनाया गया था जो ओबरा बांध द्वारा पानी छोड़ने से टूट गया और तीन पोकलेन और चार ट्रक व एक ट्रैक्टर - ट्राली फस गया है। इस घटना से जिला प्रशासन का यह दावा की बालू खनन में मशीनों का प्रयोग नही किया जा रहा है झूठा साबित हुआ।अस्थायी पुल टूटने से एक ट्रक डूबने से बच गयी जिससे एक बड़ी घटना होते होते टल गई।

 

सोनभद्र में बालू खनन में जिला प्रशासन खनन नीतियों का पालन कराने में असफल साबित हो रहा है जिसकी नजीर आज सोन नदी में कोन थाना इलाके के बरहमोरी में आगरा के नव निर्वाचित मेयर नवीन जैन की कम्पनी पीएनसी द्वारा संचालित साइट पर अवैध तरीके से  बनाये गए अस्थायी पुल टूटने व तीन पोकलेन मशीनों, चार ट्रक और एक ट्रैक्टर ट्राली फँस गयी। यह घटना उस वक्त घटी जब ओबरा बांध द्वारा एक गेट खोलकर पानी छोड़ा गया जिससे सोन नदी में बना अस्थायी पुल टूट गया और बीच नदी में बालू लोड कर रही तीन पोकलेन मशीन और चार ट्रक फँस गयी । जिसके चालकों को किसी प्रकार से  नाव द्वारा बाहर निकाला गया।

 

स्थानीय लोगो का कहना है की यह अवैध तरीके से सोन नदी में अस्थाई पुल बना कर खनन किया जा रहा है अचानक बढे पानी के दबाव से तीन पोकलेन, चार ट्रक, एक ट्रैक्टर, को बीच नदी में फस गयी जिसे निकलने का प्रयास किया जा रहा है ! यह बालू साइड नगवा के बरहमोरि में है , जबकि खनन चोपन ब्लाक के हर्रा ग्राम सभा में किया जा रहा है । जिसके लिए स्थाई पुल का निर्माण किया गया था । अवैध पुल से जलीय जीव जंतु काफी संख्या में मरे थे ।

यहाँ कर्मचारियों की मनमानी से बढ़ती जा रही भारतीय रेल की लेटलतीफी,यात्रियों ने किया बवाल

गोंडा। गोंडा उत्तर प्रदेश भारतीय रेलवे के कन्ट्रोल की मनमानी सवारी गाडि़यों की नाहक लेटलतीफी का  कारण बन रही है। भारतीय रेलवे जहाँ एकतरफ विकासशील देशों की तर्ज पर बुलेटट्रेन चलाने का स्वांग कर रही है वहीं पूरे देश मे नये रेलमंत्री पीयूष गोयल के आने के बाद से सवारी गाडियों की लेटलतीफी इस कदर बढी कि अब ट्रेनों के आवागमन का कोई निश्चितसमय नहीं रह गया है। हालत यह है कि जिस ट्रैक पर दिनभर में 2-3 ट्रेन ही गुजरती हैं वहाँ भी कर्मचारियों और अधिकारियों की लापरवाही से गाडियाँ 2-3 घंटे लेट हो रही हैं।

 

ताजा उदाहरण अयोध्या से मनकापुर रेलवे यात्रा का है जहाँ 5 दिसंबर को अयोध्या से मनकापुर जं की सवारी गाडी संख्या 54244 अयोध्या से 18:45 के बजाय 19:20 पर चलाई गई और फिर कटरा रेलवे स्टेशन पर खडी कर दी गई तथा एक मालगाड़ी मनकापुर से अयोध्या छोडी गई तथा दूसरी अयोध्या से मनकापुर छोड दी गई। जिससे परेशान यात्रियों जिनको टिकरी नवावगंज मनकापुर जाना था स्टेशन पर खूब बवाल काटा।

 

यात्रियों का मानना है कि सवारी गाडियों को रोककर आए दिन यही हरकत रेलवे प्रशासन कर रहा है। इसी ट्रेन मे यात्रा कर रहे अधिवक्ता श्यामलाल शुक्ल ने स्टेशन मास्टर कटरा से परिवाद पुस्तिका की मांग कर परिवाद दर्ज कर सवारी गाडी को रोककर एकल लाइनपर दो मालगाड़ियों को पास कराने वाले कंट्रोल पर मनमानी करके हजारोंयात्रियों को नाहक परेशान करने की जांच कराकर कार्यवाही की मांग की है।

शासन के आदेशों की पलीता लगते बहराइच एएसपी अजय,फरियादयों ने मिलना नही पसंद

सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने सत्ता की कुर्सी सम्हालते ही ब्यूरोक्रेट्स सहित तमाम अधिकारियों को सख्त निर्देश जारी किया था कि किसी भी हालत में अधिकारी अपना कार्यालय नही छोड़ेंगे और हर पीड़ित आगन्तुक की बात सुनते हुए उसकी समस्या का निदान करेंगे,यही नही पीड़ितों में भरोशा जगाने के लिए हर रोज एक मंत्री को भी जनसुनवाई के लिए लगा दिया ताकि जनता से मन से उठे भरोसे को कायम किया जा सके,,,,लेकिन मुख्यमंत्री की मंशा को ठेंगा दिखाकर पलीता लगाने पर बहराइच के नवागंतुक एडिशनल एसपी अजय प्रताप जूट गए हैं एडिशनल एसपी के पास पहुँच रहे फरियादी उनका चेहरा तक नही देख पा रहे,,हर आगन्तुक को साहब का बंद दरवाजा देख कर वापस जाना पड़ रहा है सबसे बड़ी बात तो ये है कि अंदर कुर्सी पर बैठे रहने के बाद भी साहब बाहर से फरियादियों को सिपाहियों से बैरंग लौटा देते हैं ऐसे में बड़ा सवाल ये खड़ा होता है कि जब उच्च पदों पर बैठे अधिकारियों का ये रवैया होगा तो जनता की पीड़ा कौन सुनेगा,,,,

 

मंगलवार को तहसील दिवस होने की वजह से एसपी जुगलकिशोर मोतीपुर तहसील दिवस के लिए निकले थे जिला मुख्यालय पर सुनवाई के लिए अडिशनल एसपी अजय प्रताप के पास जितने भी फरियादी पहुँचे उन्हें मायूस होकर बैरंग जाना पड़ा,,,,

 

अपनी फरियाद लेकर पहुँची साकिरा का कहना है कि घंटों खड़े रहने के वावजूद अब बड़े साहब से नही मिल पाए हैं साहब ने मिलने से मना करवा दिया है वहीं हरदी इलाके से न्याय की आस में पहुचीं वृद्धा आयशा का कहना है कि वो पैर से दिव्यांग है और डेढ़ घंटे से मिलने की आस में खड़ी है परन्तुं अब एक सिपाही आकर बताया कि वापस जाओ बड़े साहब नही हैं ये सुनते ही आयशा के ऊपर निराशा का पहाड़ टूट पड़ा उसकी आंखें बता रही हैं कि कितना तकलीफ लेकर बड़े साहब के पास आई थी लेकिन साहब ने बैरंग लौटकर पीड़ा को और बाढा दिया,,,,कुंती का भी कुछ ऐसा ही कहना है कि अपनी समस्या लेकर बड़े साहब के पास बड़ी आस लेकर आये थे लेकिन साहब ने मिलने से साफ मना करवा दिया,,,,

 

सरकार भले ही बदल गयी है लेकिन आज भी इन अधिकारियों की कार्यशैली ये बताती है कि सरकार बदलने का असर इनपर तनिक भी नही है या सरकार के आदेश को ये ठेंगे पर रखते हैं शायद यही वजह है तभी ये निर्भीक होकर सरकार के आदेशों के विपरीत कार्य मे जुटे हुए हैं

 

विद्यालय की पहचान उसके छात्रों की उपलब्धियों से होती है-टी लक्ष्मी राजम

पीपीगंज/गोरखपुर पवन पाण्डेय। किसी विद्यालय को शक्ति और दिशा उसके वर्तमान विद्यार्थियों से ही नही प्राप्त होती,बल्कि उसके पूर्ववर्ती छात्र-छात्राओं से भी मिलती है।विद्यालय की पहचान उसके छात्रों की उपलब्धियों और बुद्धिमत्तापूर्ण व्यक्तित्व से होती है।ये उद्गार जवाहर नवोदय विद्यालय जंगल अगही,पीपीगंज, गोरखपुर में आयोजित पूर्ववर्ती छात्र सम्मेलन में प्राचार्य टी लक्ष्मी राजम ने व्यक्त किये।

 

कार्यक्रम में विद्यालय के इकतीस पूर्व छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया।इस अवसर पर सभी पूर्व छात्र और छात्राओं ने अपने अनुभव शेयर किए।कार्यक्रम का शुभारंभ सरस्वती वंदना से की गई,तत्पश्चात स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया।कार्यक्रम के पश्चात खाना खाने के बाद एलुमनी और विद्यालय के छात्रों के बीच एक फ्रेंडली क्रिकेट मैच का आयोजन किया गया।

 

पूर्व छात्र-छात्राओं ने सदन,मेस और पूरे परिसर में भ्रमण किया और छात्र-छात्राओं से संवाद किया।कार्यक्रम का संचालन डॉ मनोज कुमार सिंह,पीजीटी हिन्दी और श्रीमती सुमन राय ने किया।इस अवसर पर विद्यालय के समस्त शिक्षक-शिक्षिकाएँ और छात्र-छात्रायें उपस्थित रहे।

 

गोण्डा में आपसी रंजिश में जमकर हुई बमबाजी, घटना सीसीटीवी में कैद

गोण्डा के एक गांव में आपसी रंजिश में हुई मारपीट घटना सीसीटीवी में कैद हो गईं। मारपीट के दौरान दोनों तरफ से जमकर हथगोले, गोलियां व पथराव हुए। आसपास का पूरा क्षेत्र जंग के मैदान में बदल गया। मौके पर पहुँची नगर थाना पुलिस ने बिगड़े हालात को काबू कर कार्यवाही करते हुए दोनों पक्ष पर मुकदमा दर्ज कर लिया और दोनों तरफ से हुई पत्थरबाजी में एक मासूम बच्ची को चोट लग गई थी जिसे पुलिस ने मेडिकल के लिए जिला अस्पताल भेज दिया।

 

गोण्डा के नगर कोतवाली क्षेत्र में पड़ने वाले बूढ़ादेवर गांव  कल रात दो लोगों के आपसी रंजिश के कारण जंग के मैदान में बदल गया। दोनो तरफ से देशी बम व गोलियां जमकर बरसाए गए। बताया जा रहा है गांव के पूर्व प्रधान दीपू यादव के यहाँ पर बच्ची के जन्मदिवस का कार्यक्रम चल रहा था, इस दौरान गांव के ही कालीप्रसाद मिश्रा ने पूर्व प्रधान दीपू यादव के घर के सामने आकर गालीगलौज करने लगा।इसके बाद दीपू यादव अपने साथ दस लोगों को लेकर कालीप्रसाद के घर पर धावा बोल दिया।

 

दोनों तरफ से खूब लाठी डंडे चले व पथराव हुए।मामला और भी गंभीर हो गया जब दीपू यादव ने अपने विपक्षी पर बम्ब और गोलियों की बौछार कर दी। इस दौरान पूरे गांव का सन्नाटा छा गया। दोनो पक्षों में काफी देर तक मारपीट होती रही और पूरी वारदात पास में लगे एक सीसीटीवी में कैद हो गया। सूचना पाकर मौके पर पहुँची पुलिस ने हालात को काबू किया और दोनों पक्षों पर माहौल बिगाड़ने का आपराधिक मामला धारा 307 हत्या के प्रयास के तहत दर्ज कर लिया।

 

जिले के एएसपी हिरदेश कुमार ने बताया कि  पुरानी आपसी रंजिश के कारण दो पक्षों के बीच मारपीट हुई,  जिसमे एक बच्ची घायल हो गई जिसका मेडिकल उपचार चल रहा है। दोनों पक्षों की तरफ से मुकदमा दर्ज कर लिया गया, मौके से सुतली बम्ब भी बरामद हुई जो एक गंभीर विषय है, जिसकी जांच की जायेगी और मौके से मिले सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जांच करते हुए दोनों पक्षों पर वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।

 

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px