Log in

 

updated 9:21 AM UTC, Oct 17, 2017
Headlines:

फेल हुआ योगी का एंटी रोमियो स्क्वायड, मनचलों से तंग लडकी ने आत्महत्या की दी धमकी

बहराइच में एंटी रोमियो स्क्वायड आंकड़ो में भले ही रोड रोमियो के भूत उतारने का दावा करता हो लेकिन धरातल पर परिस्थितियां इससे परे है। यहां की एक बेटी ने कॉलेज जाना सिर्फ इसलिए छोड़ दिया कि रास्ते में खड़े मनचलों ने फब्तियां व छेड़खानी कर उस्का घर से निकलना दुश्वार कर दिया है। गुरुवार को किशोरी ने एएसपी सिटी के समक्ष विलखते हुए आपबीती सुनाई है। चेतावनी देते हुए उंसने कहा कि यदि सुरक्षित माहौल नहीं मिला तो वह खुदकुशी कर लेगी। एएसपी ने सबंधित थाना अध्यक्ष को 24 घन्टे के भीतर सभी आरोपितों को गिरफ्तार करने का समय दिया है।

 

वी ओ: दरगाह थाना क्षेत्र अंतर्गत एक मोहल्ला निवासी किशोरी (16) तारा महिला इंटर कॉलेज में कक्षा 11 की छात्रा है। उसके पिता की दुकान गुल्लाबीर मंदिर के पास है। छात्रा का आरोप है कि जब वह पिता को खाना देने दुकान जाती है तो रास्ते में बैठे रमेश माली, राजेश यादव, लल्ला यादव, बृजेश यादव, मनोज समेत कई मनचले अभद्रता व छेड़खानी करते हैं।

 

कॉलेज जाने पर भी रास्ते में रोककर अश्लीलता की जाती है। गुरुवार को छात्रा अपनक मां के साथ पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंची। वहां एएसपी कमलेश दीक्षित के समक्ष व्यथा सुनाते-सुनाते छात्रा व उसकी मां फफक पड़ी। छात्रा का आरोप है कि मनचलों ने घर से निकलना दुश्वार कर दिया है। कॉलेज जाना छूट गया है। पढ़ाई बाधित हो रही है। घर से बाहर निकलने पर अपहरण की धमकी दी जाती है। यदि आरोपितों पर सख़्त कार्रवाई नहीं हुई तो छात्रा ने आत्महत्या की चेतावनी दी है।

सोनभद्र में जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित

गणेश दूबे/सोनभद्र। जिले में जिला पंचायत अध्यक्ष के अविश्वास के लिए प्रेक्षक के रूप में जिला जज के प्रतिनिधि सिविल जज सीनियर डिवीजन विनय कुमार सिंह की देख रेख में अविश्वास प्रक्रिया संपन्न हुआ। जिसमें स्वयं अध्यक्ष सहित 26 सदस्य उपस्थित हुए और अविश्वास के पक्ष में 25 जिला पंचायत सदस्यों ने समर्थन किया। इस प्रकार 33 जिला पंचायत सदस्यों में से 25 ने अपना अविश्वास के लिए मत रखा। वही अधिकारी का कहना है की शासनस्तर से चुनाव की तिथि नियत की जायेगी, तब तक जिलाधिकारी जिसे नामित करेंगे वह जिला पंचायत का कार्य देखेगा।  

 

समाजवादी पार्टी के शासनकाल में जिला पँचायत की कुर्सी उसके पास थी लेकिन सूबे में सत्ता परिवर्तन के बाद ही यह कयास लगाया जा रहा था कि सोनभद्र में भी अविश्वास लाया जा जिसको लेकर भाजपा ने कमर कस लिया था। 22 सितम्बर को जिलाधिकारी के समक्ष 19 जिला पंचायत सदस्यो ने शपथ पत्र दिया था जिस पर चर्चा के 12 अक्टूबर को बैठक की तिथि नियत की गई थी । आज जिला पंचायत के सभागार में सिविल जज सीनियर डिवीजन के समक्ष अध्यक्ष सहित कुल 26 जिला पंचायत सदस्य उपस्थित हुए। जो अविश्वास के पक्ष 25  मत किया जिस पर पीठासीन अधिकारी ने 25 - 1 से अविशवास पारित कर दिया। इस दौरान जिला प्रशासन ने सुरक्षा कड़े प्रबन्ध किया था।  

 

जिला पंचायत अध्यक्ष का अविश्वास पारित होने पर सदस्यो के कहना था कि पिछले दो सालों से सही तरीके से विकास कार्य नही कराया जा रहा था जिस पर आज  अविश्वास जो पास हो गया। जिला पंचायत का अविश्वास पारित होने के बाद भाजपा में जिला पंचायत अध्यक्ष बनने के प्रमुख दावेदार पार्टी के नगवां के जिला पंचायत सदस्य अमरेश पटेल का कहना है कि सबका साथ सबका विकास के नारे के साथ पार्टी जिसको नामित करेगी वही अध्यक्ष के लिए चुना जायेगा। अपर मुख्य अधिकारी ने बताया कि जिलापंचायय अध्यक्ष के विपक्ष में 33 में से 25 मत पड़े,एक मत पक्ष में पड़ा।जिला पंचायत अध्यक्ष का अविश्वास हो गया है।अब शासन द्वारा चुनाव नही होता तब तक राज्य सरकार के निर्देश पर जिलाधिकारी द्वारा किसी को नामित किया जायेगा।




शिक्षा प्रेरकों ने बेसिक शिक्षा मंत्री कार्यालय का किया घेराव

बहराइच। साक्षर भारत मिशन के तहत संविदा पर तैनात शिक्षा प्रेरकों में बौद्ध परिपथ पर जाम लगाकर जोरदार प्रदर्शन किया। शिक्षा प्रेरकों ने बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री के कार्यालय का घेराव कर घण्टों प्रदर्शन किया। इससे मार्ग पर आवागमन ठप्प हो गया। नारेबाजी करते हुए प्रेरकों ने बकाया मानदेय के भुगतान व नवीनीकरण की मांग उठाई।

 

आदर्श लोक शिक्षा प्रेरक वेलफेयर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष पंकज कुमार गिरि की अगुवाई में प्रेरक गुरुवार की दोपहर बौद्ध परिपथ स्थित गुरुनानक चैक पहुंच गए। यहां मार्ग को जाम करते हुए जमकर नारे लगाए। अध्यक्ष ने इस मौके पर कहा कि निरक्षर लोगों को साक्षर बनाने के साथ चुनावी, विधिक, वित्तीय साक्षरता, चुनाव ड्यूटी, बीएलओ, जनधन खाता खुलवाने आदि कामों में हम सभी का कार्य किसी सरकारी कर्मचारी से कम नहीं रहा।

 

बावजूद इसके 30 सितंबर के बाद नवीनीकरण नहीं किया गया। हमें 20 माह का अवशेष मानदेय चाहिए और जल्द नवीनीकरण किया जाए। मार्ग पर आवागमन ठप्प होने की सूचना से मौके पर देहात व नगर कोतवाल दल-बल के साथ पहुंच गए। आक्रोशित लोगों को समझाने का प्रयास किया। लेकिन लोग मार्ग पर डटे रहे। नगर मैजिस्ट्रेट प्रमिल कुमार को शिक्षा प्रेरकों ने ज्ञापन सौंपा है। जल्द कार्रवाई किये जाने की मांग की गयी है।

योगी ने यूपी पुलिस को दिया सख्त निर्देश, काम करो वर्ना रास्ता नापो

लखनऊ, योगी अादित्यनाथ ने प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर पुलीसिंग पर जोर देते हुए कई निर्देश दिए। मुख्यमंत्री आज शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में त्योहारों के मौसम को लेकर कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक कर जोनल अपर पुलिस महानिदेशक एवं पुलिस महानिरीक्षकों को आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि खराब परफाॅर्मेंस वाले पुलिस वालों को बाहर किया जाएगा।

 

उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसी भी जनपद में लूटपाट, चैन स्नेचिंग एवं हत्याओं की घटनाओं को रोकने हेतु प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करायी जाये। उन्होंने कहा कि थाना एवं तहसील स्तरीय समस्याओं का निस्तारण पारदर्शिता के साथ स्थानीय स्तर पर कराया जाना सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि जनपदों में तैनात वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जिलाधिकारियों से परामर्श कर मैरिट के आधार पर थानाध्यक्षों की तैनाती सुनिश्चित कराकर स्थानीय स्तर पर बेहतर शांति व्यवस्था बनाना सुनिश्चित करायें।

 

मुकयमंत्री ने कहा कि  अकर्मण्य, लापरवाह एवं संवेदनहीन थाना प्रभारियों को चिन्हित कर बाहर का रास्ता दिखाया जाये। उन्होंने कहा कि पीएसी की 273 कंपनियों में से जनशक्ति के अभाव में विघटित 73 कंपनियों को समयबद्ध ढंग से शीघ्रातिशीघ्र पुनर्गठित किया जाये।

‘सूचना के अधिकार’ के क्षेत्र में योगदान हेतु सी.एम. एस. छात्रा सम्मानित

लखनऊ, 11 अक्टूबर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, राजाजीपुरम (प्रथम कैम्पस) की कक्षा-11 की छात्रा ऐश्वर्या पाराशर को सूचना के अधिकार कानून के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान एवं इस कानून के सदुपयोग  से जन-जागरण की मिसाल कायम करने हेतु सम्मानित किया गया है। अभी हाल ही में गाँधी पीस फाउण्डेशन के तत्वावधान में इन्स्टीट्यूट आॅफ इण्डिया ने नई दिल्ली में आयोजित एक भव्य समारोह में आर.टी.आई. गर्ल के नाम से विख्यात ऐश्वर्या को सम्मानित किया। इस प्रकार सी.एम.एस. की इस मेधावी छात्रा ने सामाजिक जागरूकता की मिसाल प्रस्तुत करविद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है। उक्त जानकारी सी.एम. एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी हरि ओम शर्मा ने दी है।

 

शर्मा ने बताया कि ऐश्वर्या महज 8 वर्ष की उम्र से ही ‘सूचना का अधिकार’ कानून का सदुपयोग कर समाज में जागरूकता लाने का कार्य कर रही है। इन्ही प्रयासों के तहत ऐश्वर्या ने बहुत उम्र में ही अपने विद्यालय के सामने से कूड़ाघर को हटवाकर पब्लिक लाईब्रेरी बनवाने में सराहनीय

भूमिका निभाई और इसके उपरान्त ऐश्वर्या ने आर.टी. आई. के उपयोग से अनेकों ऐसी जानकारियाँ जनमानस में साझा की जिनके बारे में अमूमन लोग अनभिज्ञ थे।

 

श्री शर्मा ने बताया कि श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम. एस. अपने छात्रों को विभिन्न सामाजिक गतिविधियों एवं रचनात्मक कार्यों के लिए विशेष रूप से प्रेरित करता है। यही कारण है कि सामाजिक जागरूकता के कार्यो में सी.एम. एस. छात्र बढ़चढ़कर हिस्स लेते हैं एवं अपने सद्प्रयासों से विद्यालय का गौरव बढ़ा रहे हैं। स्वास्थ्य, पर्यावरण जैसे जनहित से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर सी.एम. एस. छात्र समय समय पर विशेष कार्यशालाओं, रैलियों आदि का आयोजन कर जन-जागरूकता जगाते हैं, साथ ही साथ सामाजिक सद्भाव, सहयोग, शान्ति व एकता का संदेश देते हैं। इन्हीं सद्प्रयासों की बदौलत सी.एम. एस. छात्रों ने पढ़ाई में सर्वोच्च कीर्तिमान बनाने के साथ ही साथ सामाजिक जागरूकता की भी अनूठी मिसाल प्रस्तुत की है।

कृषि विभाग में सेवारत कर्मचारियों के लिये एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

गोरखपुर। आज दिनांक 11/10/2017 दिन बुधवार को चौकमाफी स्थित महायोगी गोरखनाथ कृषि विज्ञान केन्द्र पर कृषि विभाग में सेवारत कर्मचारियों के लिये एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।कार्यक्रम में रबी दलहनी फसलों में सूक्ष्म पोषक तत्वों की महत्ता विषय पर आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में श्री संदीप उपाध्याय ने सूक्ष्म पोषक तत्वों के कार्य एवं उनकी कमी के लक्षणों पर विस्तृत चर्चा की ।

 

इसके साथ ही साथ डा राहुल कुमार सिंह ने मृदा सम्बंधित सरकारी योजनाओं के विषय पर जानकारी दी। कार्यक्रम में विभाग के कार्यों की एवं रूपरेखा पर प्रशिक्षणों से भी जानकारी हासिल की तथा समय के साथ उनकी आवश्यकताओं पर किसानपयोगी विषय पर चर्चा की। कार्यक्रम में कृषि विज्ञान केन्द्र के डॉ विवेक प्रताप सिंह, डॉ अजीत श्रीवास्तव एवं केन्द्र के अध्यक्ष डॉ आर पी सिंह भी मौजूद रहे।

 

डॉ विवेक प्रताप सिंह ने बीज शोधन पर विस्तृत चर्चा की ।डॉ अजीत कुमार श्रीवास्तव ने सूक्ष्म पोषक तत्वों के प्रयोग के विषय पर जानकारी दी। संदीप प्रकाश उपाध्याय ने सूछ्म पोषक तत्वों के प्रयोग में बरती जाने वाली सावधानियों पर चर्चा की।

ग्राम प्रधान की करतूत से पीपीगंज की टीचर कालोनी बनी सुवरबाड़ा

पीपीगंज के ग्राम साहबगंज अंतर्गत टीचर कालोनी की वर्तमान हाल इतनी दयनीय हो गयी है कि उसे कालोनी का दर्जा देने में भी शर्म आ जाए।कालोनी में सड़क व नाली नामक कोई चीज़ नही है।

 

पीपीगंज के टीचर कालोनी निवासियो का कहना है कि उनके पूर्व व वर्तमान प्रधान एक ही है।प्रधान ने लगभग 6 साल पहले खड़ंजे और नाली का काम कराया था लेकिन नाली की कोई निकासी नही दी ऐसे में ज्यो त्यों में सरकारी भूमि में पानी की निकासी ग्रामीणों ने कर दी।बाद में उसी नाली में अनियमित्ताए होने के कारण नाली 1 साल भी नही टीक सकी और जगह जगह टूट गयी।

इसके अपरांत लोगो ने लगभग 80 हजार रुपए खर्च कर नाली का निर्माण करा दिया।वही कई ओर खड़ंजे ने भी अपना दम तोड़ दिया।लोगो का कहना है कि बारिश के मौसम के दौरान नालिया बजबजा जाती है और पानी सड़क से लोगो के घरो में आ जाता है जिससे भयंकर संक्रामक रोग फैलने की संभावनाए अधिक हो जाती है।

 

कालोनी के लोगो ने इस बद्तर हालात का जिम्मेदार ग्राम प्रधान को ठहराया है क्योकि उन्होंने खड़ंजे और नाली की शिकायत कई बार की है पर प्रधान ने कभी वोट ना देने का हवाला और कभी बात को नजरअंदाज कर दिया था।

 

अब कालोनी में सड़क व नाली ना रहने से सुवरो का जमावड़ा लग जाता है,पास के ही हरिजन बस्ती के लोग पाले हुए सुवरो को आवारा छोड़ देते है जिससे सुबह होते ही कालोनी सुवरबाड़ा में तब्दील हो जाता है।

निकिता हत्याकांड की सीबीआई जांच की मांग को लेकर विभिन्न संगठनों ने सौंपा जिलाधिकारी को ज्ञापन

कन्हैया लाल /बलरामपुर   शारदा पब्लिक स्कूल के परिसर में संदिग्ध परिस्थितियों में कक्षा 6 की छात्रा को जिंदा जलाकर हुए मौत के विरोध में विभिन्न सामाजिक संगठनों अधिवक्ताओं ने प्रदर्शन कर जिला अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर सीबीआई से जांच कराने की मांग की है। विगत 2 अक्टूबर को शहर आति सुरक्षित क्षेत्र तुलसी पार्क में शारदा पब्लिक स्कूल के परिसर में कक्षा 6 की छात्रा निकिता श्रीवास्तव़ मिट्टी का तेल डालकर जिंदा जलाए जाने के बाद 7 अक्टूबर को लखनऊ ट्रामा सेंटर में इलाज के दौरान हुई मौत मे अभी तक हत्याओं के ना पकड़े जाने पर अखिल भारतीय प्रधान संगठन तथा अखिल भारतीय ब्राह्मण जन कल्याण संघ तथा अधिवक्ताओं ने बुधवार को प्रदर्शन कर जिला अधिकारी राकेश मिश्रा को ज्ञापन सौंपकर  हत्याकांड की सीबीआई जांच कराने तथा  मृतक के परिजनों को 10 लाख आर्थिक सहायता देने की मांग की है अधिवक्ता अपने मांग पत्र में कहा है कि 3 दिन के अंदर सीबीआई जांच में कितना होने पर क्रमिक अनशन और आंदोलन किया जाएगा।

.

.

आखिरकार निकिता जिंदगी की जंग हार गई आज उसने ट्रामा सेंटर में आखिरी सांस ले शायद आरोपियों का मंसूबा भी यही था जो पूरा हो गया 6 दिन बीत जाने के बावजूद पुलिस के हाथ अभी तक खाली ही हैं अभी पुलिस को कोई ऐसा ठोस सबूत नहीं मिल पाया है जिसके आधार पर मुख्य आरोपी तक पहुंच पाए हालांकि पुलिस से दावा कर रही है कि उसके पास काफी कुछ सबूत मौजूद है निकिता ने मरने से पूर्व मजिस्ट्रेट को जो अपना बयान दर्ज कराया था वह भी अभी पुलिस के हाथ नहीं लगा है पुलिस अधीक्षक की माने तो मजिस्ट्रेट के सामने दिए गए बयान की कॉपी मिलने के बाद शीघ्र ही पुलिस पूरे केस का खुलासा भी कर देगी।

               

दरअसल 8वीं की छात्रा निकिता पर डीजल छिड़ककर आग लगाने की गुत्थी  सुलझने का नाम नहीं ले रही है । फॉरेंसिक टीम एवं नगर कोतवाली की पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लेने के बावजूद भी उनके हाथ कोई ऐसा पुख्ता सबूत हासिल नहीं हुआ है। वारदात को अंजाम देने वाले लोगों ने इतनी सावधानी से घटना को अंजाम दिया है की पुलिस मामले में उलझती नजर आ रही है।

nikita murder case Balrampur-1.jpg

    

कोतवाली नगर के तुलसीपार्क मोहल्ले में स्थित शारदा पब्लिक स्कूल के परिसर में करीब 10 वर्षों से रह रहे बलुआ बलुई निवासिनी सुनीता श्रीवास्तव पत्नी स्वर्गीय राजेंद्र प्रकाश श्रीवास्तव की 14 वर्षीय पुत्री निकिता श्रीवास्तव को 2 अक्टूबर को रात्रि करीब 10 बजे अज्ञात व्यक्तियों ने आग के हवाले कर दिया था । निकिता की माँ द्वारा दिए गए तहरीर के अनुसार निकिता शौच के लिए टॉयलेट गई हुई थी और टॉयलेट से निकलने पर टॉयलेट के पास खड़े दो अज्ञात व्यक्तियों ने उसको पकड़ लिया और पास में जनरेटर के पास रखे हुए डीजल के डिब्बे को उठाकर उस पर डीजल डालकर आग के हवाले कर दिया । निकिता बरामदे में आकर चीखने चिल्लाने लगी

 

चीख सुनकर उसकी मां और विद्यालय के मालिक के भाई रंजन कुमार बोस के परिजन बाहर निकल कर देखें तो निकिता आग की लपटों मैं जल रही थी । उन लोगों ने मिलकर निकता की आग बुझाई और उसे लेकर मेमोरियल चिकित्सालय इलाज के लिए लेकर चले गए । नाजुक स्थिति होने के कारण मेमोरियल चिकित्सालय  के डॉक्टरों ने उसे लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया जहां इलाज के दौरान 7 अक्टूबर को  मौत के आगे जिंदगी हार गई

 

मृतक की मां सुनीता श्रीवास्तव  तुलसी पार्क स्थित शारदा पब्लिक स्कूल के परिसर में ही रहा करती थी । विद्यालय के मालिक के घर का खाना और साफ सफाई का काम करती थी । निकिता तुलसीपुर रोड स्थित शारदा पब्लिक स्कूल में पढ़ती थी । दशहरा की छुट्टी मे रंजन कुमार बोस के परिवार  के साथ  गोरखपुर गई हुई थी और 2 अक्टूबर को शाम करीब 6 बजे वापस आई  रात्रि करीब 10 बजे उसके साथ वारदात घटित हो गया यह एक यक्ष प्रश्न  बना हुआ  ।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px