Log in

 

updated 5:57 PM UTC, Feb 23, 2017
Headlines:

ग्यारहवीं शरीफ के अवसर पर जुलूस ए ग़ौसीया का हुआ आयोजन

बलरामपुर,  गत वर्षो की भाँति इस वर्ष भी जुलूस ए ग़ौसीया का आयोजन सय्यद अहमद रज़ा के संरक्षण एंव शाबान अली की अगुवाई में निकाला गया जिसकी अगुवाई मुफ़्ती ए शहर मौलाना मोहम्मद मसीह अहमद क़ादरी के साथ ही समस्त उलमा नें की।इस अवसर पर उलमा नें देश के अम्न व शांती के लिए जहाँ दुआ की वहीं लोगों को भाई चारे और एकता का भी सन्देश दिया।

 

जुलूस के संरक्षक एंव ख्वाजा ग़रीब नवाज़ वेलफेयर सुसाईटी के संस्थापक क़ारी सय्यद अहमद रज़ा और समाजसेवी  शाबान की अगुवाई में सुबह नौ बजे के क़रीब मोहल्ला नौशहरा बड़ी ईदगाह से मुफ़्ती ए शहर मौलाना मसीह अहमद क़ादरी,मौलाना मुज़म्मिल, क़ारी इक़रार अहमद, मौलाना शमीम अहमद क़ादरी आदि उलमा की अगुवाई तथा शाबान अली की निगरानी में निकाला गया जो वीर विनय चौराहे से होकर सराएँगेट पहुँचा जहाँ अंजुमन गुलामाने मुस्तफ़ा नौजवान कमेटी मेन मार्किट के तत्वाधान में उलमा का माल्यार्पण किया गया इसी तरह शाबान अली के सौजन्य से आयोजित सम्मान समारोह में भी उलमा का माल्यार्पण कर शाल एंव साफा भेंट करनें के साथ ही उनका भव्य स्वागत किया गया।

 

यही नहीं शाबान अली के परिवारजन की ओर से पुष्प वर्षा भी की गई।सय्यद अहमद रज़ा नें यह भी बताया कि जुलूस चौक बाजार से हो कर बड़ेपुल बाबा शहीद मर्द की मजार पर दुआ के बाद टेढ़ी मोहल्ला से होकर देवी दयाल तिराहे से होता हुआ मोहल्ला बलुहा कालिया मस्जिद आदि विभिन्न रास्तों से होता हुआ मोहल्ला गदुरहवा बाबा हुरमत शाह के आस्ताने पर पहुँचा जहाँ सलात व सलाम के बाद उलमा नें दुआ की और एक बार फिर जुलूस पानी टँकी,डॉक्टर मजीद मोड़ से निकल कर जामा मस्जिद ईदगाह बीबी बाँदी साहिबा के मैदान में पहुँचा जहाँ जुलूस धार्मिक जनसभा में तब्दील हो गया।


इस अवसर पर उलमा नें जहाँ ग़ौस ए पाक की जीवनी पर प्रकाश डाला वहीं एकता और भाई चारे का भी सन्देश दिया।जुलूस में शामिल लोगों पर तोप के ज़रिए पुष्प वर्षा आकर्षण का केंद्र बना रहा। जुलूस के दौरान पुलिस प्रशासन मुस्तैद रहा।

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px